न्यायालय परिसर में स्वच्छ भारत अभियान महात्मा गांधीजी के सपनों को प्रेरित करते हुए सामूहिक रूप से की गई साफ-सफाई | New India Times

रहीम शेरानी हिन्दुस्तानी/पंकज बडोला, झाबुआ (मप्र), NIT:

न्यायालय परिसर में स्वच्छ भारत अभियान महात्मा गांधीजी के सपनों को प्रेरित करते हुए सामूहिक रूप से की गई साफ-सफाई | New India Times

म.प्र. उच्च न्यायालय जबलपुर के निर्देशानुसार एवं प्रधान जिला न्यायाधीश, अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण झाबुआ श्रीमती विधि सक्सेना की अध्यक्षता में 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी जी की जयंती के अवसर पर स्वच्छता ही सेवा अभियान-2023 के अंतर्गत जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया।

सर्वप्रथम प्रधान जिला न्यायाधीश श्रीमती विधि सक्सेना एवं अन्य न्यायाधीशगण, कर्मचारीगण द्वारा महात्मा गांधीजी की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं पुष्प अर्पित किये गये। तत्पश्चात जिला न्यायालय परिसर में स्वच्छता ही सेवा अभियान-2023 के अंतर्गत स्वच्छ भारत अभियान महात्मा गांधीजी के सपनों को प्रेरित करते हुए सामूहिक रूप से साफ-सफाई की गई और स्वच्छता के प्रति जागरूक किया गया।

इस अवसर पर श्रीमती विधिक सक्सेना द्वारा सम्बोधित करते हुए कहा गया कि भारत के स्वंतत्रता संग्राम में गांधी जी की भूमिका अहम रही है उन्होंने अपने संघर्ष और प्रयास के बल पर भारत को स्वतंत्रता दिलाई और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि उन्होंने भारत को आजादी दिलाने के लिये किसी प्रकार की हिंसा का सहारा नहीं लिया बल्कि सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलने की प्रेरणा दी। साथ ही सत्य और अहिंसा को लेकर बापू के विचार हमेशा से न सिर्फ भारत, बल्कि पूरी दुनिया का मार्गदर्शन करते रहे है और आगे भी करते रहेगें।

संबोधन की अगली कड़ी में श्री एन.पी.सिंह प्रधान न्यायाधीश कुटुम्ब न्यायालय द्वारा कहा गया कि आज के दिन हम सभी को गांधी जी के विचारों को अपने जीवन में उतराने का संकल्प लेना चाहिए एवं स्वच्छता अभियान से जुड़ना चाहिए।श्री आर.के. शर्मा, प्रथम अपर जिला न्यायाधीश ने कहा कि गांधी जी ने अपना पूरा जीवन देश के नाम समर्पित कर दिया वे हमेशा लोगों को उनके अधिकार दिलाने की लड़ाई लड़ते रहे। उनके द्वारा चंपारण सत्याग्रह, असहयोग आंदोलन, दांडी सत्याग्रह, भारत छोडो आंदोलन के बारे में संक्षिप्त में बताया गया।
इसी कडी में जिला अभिभाषक संघ अध्यक्ष दीपक भंडारी एवं अशोक राठौर अधिवक्ता द्वारा कहा गया कि गांधीजी एक ऐसे समाज की कल्पना करते थे जिसमें सभी लोगों को बराबरी का दर्जा हासिल हो, उनमें कोई भेदभाव न हो एवं वे नारी सशक्तिकरण के लिये भी प्रयासरत रहेे।

कार्यक्रम के दौरान श्रीमती विधि सक्सेना एवं न्यायाधीशगणों द्वारा सफाई कर्मचारियों को गुलाब कली देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में सुभाष सुनहरे, द्वितीय जिला न्यायाधीश, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट गौतमसिंह मरकाम, श्रीमती पूनम सिंह एवं बलराम मीणा, न्यायिक मजिस्ट्रेट एवं अधिवक्तागण, न्यायालयीन कर्मचारीगण आदि उपस्थित रहे।
कार्यक्रम का संचालन विजय पालसिंह चैहान न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वारा एवं आभार सागर अग्रवाल जिला विधिक सहायता अधिकारी द्वारा व्यक्त किया गया।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading