कोरोना के कहर से बचने के लिए जागरूकता एवं सतर्कता की है जरूरत: भंगुसिंह तोमर

देश, राज्य, समाज, स्वास्थ्य

रहीम शेरानी हिदुस्तानी, अलीराजपुर (मप्र), NIT:

देश एवं प्रदेश के साथ ही अलीराजपुर जिले में भी कोरोना महामारी व्यापक रूप से फेल रही हैं. शहर ही नहीं अब ग्रामीण क्षेत्र में भी कोरोना का कहर है इसलिए जागरूकता एवं सतर्कता की जरूरत है।

आदिवासी कर्मचारी-अधिकारी संगठन (आकास) अलीराजपुर के जिला महासचिव एवं आदिवासी समाज कोर कमेटी के सदस्य भंगुसिंह तोमर ने कहा कि देश के सभी इलाकों से इलेक्ट्रॉनिक, प्रिंट एवं सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों तक यह खबर पहुंच रही हैं कि देश में कोरोना महामारी का कहर लगातार बढ़ रहा है।

इसके अतिरिक्त जितने भी लोगों से बातचीत हो रही हैं, उन सभी से यही खबर मिल रही है कि कोरोना महामारी ग्रामीण इलाके तक अपने पैर पसार चुकी है।
कई लोग अपने घरों में ही बंद हैं, तो कई लोग हॉस्पिटलाइज्ड हैं एवं कई साथियों को पता नहीं हैं कि उन्हें कोरोना है। ऐसी गंभीर स्थिति में समाज एवं देश हित में काम करने वाले जागरूक व समझदार कार्यकर्ताओं का कर्तव्य बनता हैं कि वह इस महामारी को लेकर लोगों में जन जागृति फैलाएं, विशेषकर ग्रामीण इलाके में लोग इसे अभी भी गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। इस पर ध्यान देने की आवश्यकता है।
कोरोना महामारी को लेकर शासन- प्रशासन द्वारा जारी दिशा निर्देशों का पालन करने एवं सतर्कता बरतने हेतु लोगों को समझाईये, स्वयं की भी सुरक्षा रखें और लोगों की सुरक्षा के लिए भी आगे आईये, कोरोना से डरे नहीं बल्कि सावधानी रखें, मास्क जरूर लगाएं, फिजिकली डिस्टेंस मेंटेन रखें। जब भी किसी से मिलना है या कोई काम हो तो दूर से ही बात करें।
किसी को यदि कोरोना के लक्षण जैसे सर्दी जुकाम, खांसी, गले में दर्द, हाथ पैर व सिर में दर्द, पेट दर्द आदि दिखाई देने लगे तो वह कोरोना टेस्ट जरूर करवायें एवं डॉक्टर की सलाह से मेडिसिन लेवें तथा घरेलू उपचार या आयुर्वेद दवाइयों का इस्तेमाल करें।

पूरी सावधानी रखें और मानसिक रूप से तैयार भी रहें यदि मुझ पर कोरोना वायरस का संक्रमण होता है तो मैं उससे निपटने के लिए तैयार हूं।

दोनों टाइम पर्याप्त एवं ताजा भोजन करें, अपने अपने घरों में रहें या अपने खेतों में ही काम करें। अनावश्यक तनाव से दूर रहिईये। अपने शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बनाए रखें ।
कोरोना टेस्ट से डरे नहीं बल्कि टेस्ट पश्चात यदि पॉजिटिव रिपोर्ट आती है तो उसका सही इलाज करवाईये।
यह बात भी गौर करने जैसी है कि कोरोना महामारी होने पर भी ज्यादातर लोग ठीक हो रहे हैं।
पुनः समाज व देश के जागरूक कार्यकर्ताओं से निवेदन हैं कि वह अपने अपने मोहल्ले, गांव व इलाके की जवाबदारी संभाले और इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी निभाईये। शासन प्रशासन द्वारा जो कुछ किया जाएगा वह तो बहुत अच्छी बात है।लेकिन हम इस समाज व देश के जिम्मेदार व्यक्ति होने के नाते हमारा क्या कर्तव्य बनता है,उसे ईमानदारी से निभाईये। हम इस महामारी से लडकर जरूर जीतेंगे।
कोरोना से डरेंगे नहीं, बल्कि डटकर मुकाबला करेंगे और इस पर विजय हासिल करेंगे।सतर्कता ही सुरक्षा है, मास्क लगाईये सोशियल डिस्टेंटिंग का पालन करिए।

Leave a Reply