प्राचीन पद्धति से योग घर के किचन में रखी प्राकृतिक खानें में उपयोग में आने वाली चीज़ से करें उपचार: स्वामी परमार्थ देव | New India Times

रहीम शेरानी हिन्दुस्तानी, ब्यूरो चीफ, झाबुआ (मप्र), NIT:

प्राचीन पद्धति से योग घर के किचन में रखी प्राकृतिक खानें में उपयोग में आने वाली चीज़ से करें उपचार: स्वामी परमार्थ देव | New India Times

पतंजलि योगपीठ हरिद्वार के मुख्य केंद्रीय प्रभारी स्वामी परमार्थ देव का प्रवास झाबुआ प्रथम आगमन पर भारत स्वाभिमान के प्रदेश प्रभारी राजेंद्र आर्य के नेतृत्व में प्रदेश जिला संगठन के पदाधिकारियों भारतीय गोरक्षा वाहिनी प्रदेश महामंत्री भारत स्वाभिमान युवा कार्यकारिणी सदस्य पार्षद राजू धानक, कीशान पंचायत के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य एडवोकेट जवसिंह परमार भारत स्वाभिमान के जिला संयोजक निरज भट्ट युवा भारत जिला अध्यक्ष तानसिग मैडा जिला कार्यालय मंत्री गणपति बेरागी पेंशनर ब्लॉग अध्यक्ष जगमोहन सिंह राठौड़ भारतीय गोरक्षा वाहिनी जिला अध्यक्ष मोहनलाल यादव भारत स्वाभिमान थांदला ब्लाक अध्यक्ष राजू सोनी योग शिक्षक इन्द्रर रुणवाल रामायण मंडल के संयोजक ओम शर्मा भुषण भट्ट सम्यक शर्मा अमरसिंग गोहिल ने जिले के प्रतीक चिह्न  तीर-कमान भेंट करते हुए कंचन सामाजिक सेवा संस्थान भारतीय गोरक्षावाहिनी, अधिवक्ता मालवा प्रांत पदाधिकारियों जिला संरक्षक एडवोकेट तुषार भट्ट संस्था की राष्ट्रीय संचालक महिला अधिवक्ता ब्लॉक अध्यक्ष एडवोकेट कुमारी मयूरी धानक, महामंत्री एडवोकेट सुरेश बेरागी आदी ने भी स्वागत सम्मान करते हुए ज़िले में गुरुकुल योग भवन निर्माण का मांग पत्र सौंपा।

प्राचीन पद्धति से योग घर के किचन में रखी प्राकृतिक खानें में उपयोग में आने वाली चीज़ से करें उपचार: स्वामी परमार्थ देव | New India Times

जिले के पदाधिकारी योग शिक्षक कार्यकर्ता को इस दौरान योग आयुर्वेद स्वदेशी व सनातन संस्कृति व संगठन विस्तार को लेकर जिला स्तरीय कार्यकर्ता बैठक संपन्न  में जिले के योग शिक्षक व कार्यकर्ता को संबोधित करते हुए पतंजलि के मुख्य केंद्रीय प्रभारी और स्वामी रामदेव के शिष्य स्वामी परमार्थ देव ने कार्यशाला में बताया कि अपनी ऊर्जा को छोटे कामों में व्यर्थ गवना जीवन का अपमान है मनुष्य जीवन सेवा के लिए हे सेवा से ही वास्तविक मेवा संतुष्टि मिलती है जो प्रकृति से जो लिया उसे लौटाने में ही भलाई है कर्ज लेना बुरी बात लेकर ना उतरना उससे भी बुरी बात है इसलिए पेड़ लगाए और प्रकृति के साथ खिलवाड़ ना करें।

स्वामी ने ध्यान भी करवाया और कहा कि अपने बच्चों को भी और स्वयं स्वाध्याय करना यह ऋषियों का देश है त्याग व तपस्वियों का देश है भारतवर्ष दुनिया का सबसे युवा देश है और आज फिर से जागने की जरूरत है बड़े बुजुर्गों को और नौजवानों को भी युवाओं को यूवतियों को अपनी संतानों को उसे त्याग तप का उसे ब्रह्मचर्य का उसे वेद के ज्ञान व विज्ञान का योग के द्वारा अपने जीवन व जगत के कल्याण का जो अनुष्ठान है उसमें सबको एक साथ मिलकर भारत को विश्व गुरु बनाने का महान कार्य करना है।

जो योग गुफाओं में किया जाता था और जो योग विद्या केवल पुस्तकों में थी आज योग ऋषि स्वामी रामदेव जी महाराज ने उस विद्या को उस ज्ञान को जन-जन तक पहुंचा दिया है। भारत को विश्व गुरु आत्म निर्भर का संकल्प दिलाया। इस अवसर पर
केंद्रीय प्रभारी के साथ भारत स्वाभिमान के राज्य प्रभारी राजेंद्र आर्य पतंजलि योग समिति के प्रदेश प्रभारी कृष्ण योगेंदर रघुवंशी, पतंजलि युवा भारत के राज्य प्रभारी प्रेम पूनिया प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य विक्रम डूडी आदि कार्यकर्ता और योग शिक्षक उपस्थित के साथ समाजसेवी जनप्रतिनिधियों समाजजनों युवा शक्ति मातु शक्ति काफी संख्या में सामिल हुए, कार्यक्रम का सफल संचालन पेंशनर ब्लॉग अध्यक्ष जगमोहन राठौर ने किया आभार ब्लॉग अध्यक्ष राजू सोनी ने माना।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading