नालों पर होते जा रहे हैं अतिक्रमण, बारिश में राहगीरों को करना पड़ेगा परेशानियों का सामना | New India Times

पंकज शर्मा, ब्यूरो चीफ, धार (म.प्र.), NIT:

नालों पर होते जा रहे हैं अतिक्रमण, बारिश में राहगीरों को करना पड़ेगा परेशानियों का सामना | New India Times

तिरला विकासखंड की ग्राम पंचायत चिकलिया में जिला मुख्यालय से जुड़ने वाले 50 गांवों की प्रधानमंत्री ग्राम सड़क और  ग्राम चिकलिया के मुख्य नाले पर जबर्दस्त अतिक्रमण किया जा रहा है। ग्राम के मुख्य नाले पर लोगों ने दुकान, गुमटी आदि बना लिए हैं। जो नाले बचे हैं, उसे भी लोग जगह-जगह दबाते जा रहे हैं। इससे नालों की सही ढंग से सफाई नहीं हो पाती है। लिहाजा, नाले गंदगी और सिल्ट से भरे पड़े हैं। ये नाले चोक होने से बारिश में आए दिन ओवरफ्लो होने लगते हैं, लेकिन बारिश में पानी का बहाव तेज होने पर इन नालों का जगह-जगह उफनाना तय है।

ग्राम का जो मुख्य  नाला है, वह प्रधानमंत्री ग्राम सड़क के किनारे है, और इस मार्ग से करीब 50 ग्राम के लोग मेडिकल एमरजेंसी और रोज़मर्रा की  आवश्यकताओं के लिए धार आते हैं। यदि इस नाले का अतिक्रमण बारिश के पहले नहीं हटाया गया तो बारिश में राहगीरों को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ेगा उल्लेखनीय है, कि नालों से अतिक्रमण हटवाने के लिए ग्राम पंचायत ने ग्रामीणों की शिकायत पर पंचनामा तो बनाया परंतु नोटिस नहीं जारी किया आपसी दबाव के कारण  ग्राम पंचायत स्तर पर अतिक्रमण हटाना मुश्किल है।

वही ग्रामीण योगेश पटेल का कहना है, कि प्रधानमंत्री सड़क निर्माण एजेंसी ने पहले ही नाला सकरा कर दिया और अब अतिक्रमण के कारण ग्राम के मुख्य भाग से  बारिश में आवाजाही में  बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा  और नाले में अतिक्रमण के कारण पानी अवरफ्लो होकर खेतों में घुसेगा जिससे फसल बर्बाद होगा। वही ग्राम निवासी अभिषेक कामदार ने बताया की अतिक्रमण और पंचायत के सुस्त रवैय से नाले की सफाई ना होने से बीते वर्ष भी ग्राम में डेंगू से कई ग्राम वासी ग्रसित हुए थे।
सचिव भारत परिहार का कहना है, कि अतिक्रमण का पंचनामा बनाकर मुख्य अधिकारियों को अवगत करा दिया गया। अतिक्रमण की रिपोर्ट मेरे पास आ गई है जल्द ही नोटिस जारी कर अतिक्रमण हटाया जावेगा: आशीष राठौर,नायब तहसीलदार, तिरला वृत्त।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading