एकनाथ खडसे के प्रभाव से परिचित भाजपा ने गिरिश महाजन के बजाय रक्षा खडसे को बनाया प्रत्याशी, NCP (SP) से रोहिणी खडसे मैदान में उतरेंगी? | New India Times

नरेन्द्र कुमार, ब्यूरो चीफ़, जलगांव (महाराष्ट्र), NIT:

एकनाथ खडसे के प्रभाव से परिचित भाजपा ने गिरिश महाजन के बजाय रक्षा खडसे को बनाया प्रत्याशी, NCP (SP) से रोहिणी खडसे मैदान में उतरेंगी? | New India Times

दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी ने लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी कर दी है। महाराष्ट्र से 20 नाम घोषित किए गए हैं रावेर से वर्तमान सांसद रक्षा निखिल खडसे और जलगांव सीट से उन्मेश पाटील का टिकट काटकर स्मिता उदय वाघ को प्रत्याशी बनाया गया है। सूत्रों के मुताबिक दोनों सांसदो के टिकट काटकर फ्रेशर्स को मौका दिया जाना था। रावेर क्षेत्र में NCP (शरदचंद्र पवार) के नेता एकनाथ खडसे के प्रभाव से परीचित भाजपा को खडसे की पुत्रवधु रक्षा खडसे को तिसरी बार टिकट देना पड़ा है। इस सीट पर एकनाथ खडसे के खिलाफ़ लड़ने के लिए सबसे पहले गिरिश महाजन का नाम दिल्ली तक पहुंचा। महाजन समेत प्रदेश सरकार में शामिल भाजपा के कई मंत्री खुद लोकसभा चुनाव लड़ने से बचते बचाते दिखाई पड़े।

एकनाथ खडसे के प्रभाव से परिचित भाजपा ने गिरिश महाजन के बजाय रक्षा खडसे को बनाया प्रत्याशी, NCP (SP) से रोहिणी खडसे मैदान में उतरेंगी? | New India Times

रावेर में अमोल जावले के नाम की हवा बनाना इसी पैंतरे का हिस्सा था। रक्षा खडसे को प्रत्याशी बनाकर भाजपा ने बडा दांव खेलने का मुगालता पाल लिया है। एकनाथ खडसे ने कहा है की वह NCP (SP) की ओर से जो प्रत्याशी दिया जाएगा उसका प्रचार करेंगे। अब सभी की नजरें NCP चीफ़ शरद पवार की भूमिका पर होगी। अगर पवार ने इस सीट पर एकनाथ खडसे की सुपुत्री रोहिणी खडसे को मैदान में उतारा तो भाजपा यह सीट हार सकती है।

एकनाथ खडसे के प्रभाव से परिचित भाजपा ने गिरिश महाजन के बजाय रक्षा खडसे को बनाया प्रत्याशी, NCP (SP) से रोहिणी खडसे मैदान में उतरेंगी? | New India Times

बारामती में सुनेत्रा अजीत पवार बनाम सुप्रिया सदानंद सुले इस लड़ाई की तर्ज पर रावेर सीट पर होने वाली लड़ाई को देखा जा रहा है। सीट रावेर सीट से गिरिश महाजन भाजपा को शानदार जीत दिलवाने की ताकत रखने वाले एक मात्र उम्मीदवार थे। जलगांव सीट से भाजपा प्रत्याशी बनाई गई स्मिता वाघ विधान पार्षद रह चुकी हैं। मविआ में ये सीट शिवसेना (UBT) को दी गई है सेना के पास भाजपा की केडर पावर और लोकप्रियता को टक्कर देने वाला कोई मकबूल चेहरा नहीं है। MVA में सीट शेयरिंग अभी भी बाकी है जलगांव सीट को लेकर अदला बदली की गुंजाईश बरकरार है।

एकनाथ खडसे के प्रभाव से परिचित भाजपा ने गिरिश महाजन के बजाय रक्षा खडसे को बनाया प्रत्याशी, NCP (SP) से रोहिणी खडसे मैदान में उतरेंगी? | New India Times
विज्ञापन

By nit

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading