उ0प्र0 के किसानों को सिचांई के लिए बिजली बिल में शत-प्रतिशत छूट | New India Times

मुबारक अली, ब्यूरो चीफ, शाहजहांपुर (यूपी), NIT:

उ0प्र0 के किसानों को सिचांई के लिए बिजली बिल में शत-प्रतिशत छूट | New India Times

मुख्य विकास अधिकारी अपराजिता सिंह की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में कृषकों को सिंचाई के लिए मुफ्त बिजली उपलब्ध कराए जाने के उपलक्ष्य में संकल्प की सिद्धि कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। उत्तर प्रदेश शासन द्वारा 1 मार्च 2023 से उ0प्र0 के किसानों को सिंचाई के लिए नलकूपों के बिजली बिल में शत-प्रतिशत छूट देने का निर्णय लिया गया है।

इसी क्रम में जनपद के विकास भवन सभागार में कार्यक्रम आयोजित किया गया। उ0प्र0 के कृषकों के हित के लिए लागू की गयी इस व्यवस्था का शुभारंभ माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा 7 मार्च 2024 को अपरान्ह 4:00 बजे इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान लखनऊ में किया गया। जिसका सजीव प्रसार विकास भवन सभागार में अधिकारियों एवं कृषकगणों ने देखा।

कार्यक्रम के दौरान अधीक्षण अभियंता विद्युत विभाग द्वारा विभाग के कार्योंं का विवरण प्रस्तुत करते हुए, अवगत कराया गया कि जनपद में कुल 4,38,265 उपभोक्ता हैं। जनपद में संचालित विद्युत सुधार कार्यों के अन्तर्गत लाइनलॉस को कम करने के उद्देश्य से 164.11 करोड़ की परियोजना का कार्य प्रगति पर है तथा 233.16 करोड़ की परियोजना का मार्च माह में ही कार्य प्रारम्भ होने की सम्भावना है।

वर्ष 2024-25 में समर प्लान के अन्तर्गत 33/11 केवी उपकेन्द्र का निर्माण, 33 केवी एवं 11 केवी लाइन का निर्माण के अतिरिक्त विद्युत उपकेन्द्रों की क्षमता वृद्धि के साथ-साथ जर्जर तार एवं केविल को भी बदलवाने की कार्ययोजना है। शासन द्वारा नगरीय क्षेत्र में 24 घण्टे एवं ग्रमीण क्षेत्र में 48 घण्टे के भीतर ट्रांसफार्मर बदलवाने की व्यवस्था लागू की गयी है, जिसके लिये टोल फ्री नं0 1912 पर ऑनलाइन शिकायत दर्ज करायी जा सकती है।

कार्यक्रम के दौरान विधायक पुवायां चेतराम, अपर जिलाधिकार वि0रा0 डा0 सुरेश कुमार, जिला विकास अधिकारी पवन कुमार सिंह, जिला कृषि अधिकारी  सतीश चन्द्र पाठक, अधीक्षण अभियंता विद्युत  जेपी वर्मा सहित समस्त अधिशासी अभियंतागण एवं गणमान्य कृषक मौजूद रहे।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading