मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी भोपाल ने बुरहानपुर के 08 कांग्रेसी नेताओं को शो काज नोटिस जारी कर तत्काल जवाब तलब किया | New India Times

मेहलक़ा इक़बाल अंसारी, ब्यूरो चीफ, बुरहानपुर (मप्र), NIT:

मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी भोपाल ने बुरहानपुर के 08 कांग्रेसी नेताओं को शो काज नोटिस जारी कर तत्काल जवाब तलब किया | New India Times

मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी भोपाल के उपाध्यक्ष एवं संगठन प्रभारी श्री राजीव सिंह ने शुक्रवार की रात बुरहानपुर के आठ कांग्रेस से जुड़े नेताओं में सर्वश्री कांग्रेस पार्टी के प्रदेश महामंत्री श्री अजय सिंह रघुवंशी, बुरहानपुर कांग्रेस कमेटी के कार्यवाहक ज़िला अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक तथा मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष एवं झाबुआ के प्रभारी अलहाज हमीद उद्दीन क़ाज़ी के फरजंद हाजी नूर उद्दीन क़ाज़ी, मध्य प्रदेश कांग्रेस बुनकर कांग्रेस प्रकोष्ट के प्रदेश अध्यक्ष इकराम उल्ला, पार्षद गण में अकील औलिया, एडवोकेट उबैद शेख, अबरार साहब, अब्दुल्ला अंसारी और पूर्व निगम अध्यक्ष एवं बुरहानपुर कांग्रेस कमेटी की कार्यवाहक ज़िला अध्यक्ष श्रीमती गौरी दिनेश शर्मा को शोकाज नोटिस जारी करते हुए सभी से तत्काल स्पष्टीकरण प्रेषित करने को कहा गया है।

मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष एवं संगठन प्रभारी श्री राजीव सिंह द्वारा जारी शो काज नोटिस में लेख किया गया है कि मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी को जानकारी प्राप्त हुई है कि आपके द्वारा विधानसभा क्षेत्र बुरहानपुर में अधिकृत कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में कार्य न करते हुए एमआईएम पार्टी के मंच से खुले रुप में कार्य कर रहे हैं, जोकि अनुशासन हीनता की श्रेणी में आता है। उक्त संबंध में आप अपना स्पष्टीकरण प्रदेश कांग्रेस कमेटी को तत्काल प्रेषित करें अन्यथा जवाब शीघ्र प्राप्त न होने पर आपके विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की जावेगी। इस पत्र की प्रतिलिपि कांग्रेस शहर बुरहानपुर के अध्यक्ष रिंकू टांक, कांग्रेस के ज़िला प्रभारी कैलाश कुंडल एवं बुरहानपुर के कांग्रेस पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी ठाकुर सुरेंद्र सिंह शेरा भैया को प्रेषित की गई है।

उल्लेखनीय है कि इस मामले में कांग्रेस पार्टी की ओर से अधिकृत प्रत्याशी के रूप में ठाकुर सुरेंद्र सिंह शेरा भैया को टिकट मिलने से एवं टिकट के दावेदारों को कांग्रेस का टिकट न मिलने से अल्पसंख्यक समुदाय को कांग्रेस पार्टी का टिकट नहीं मिलने पर नफीस मंशा खान ने कांग्रेस छोड़कर एम आई एम ज्वाइन कर ली थी, वहीं कुछ कांग्रेस नेता, पार्षद आदि खुलकर एमआईएम उम्मीदवार नफीस मंशा खान का काम कर रहे हैं, जबकि नूरा कुश्ती खेलने वाले कुछ पलटू कांग्रेसी नेताओं ने मिल्लत के नाम पर पहले एमआईएम उम्मीदवार की सपोर्ट में रहे और बाद में दबाव आने पर सुबह का भूला शाम को घर लौट आए तो उसे भूला नहीं कहते की तर्ज़ पर लगभग 6 कांग्रेसी नेताओं ने कांग्रेस का दमन थाम लिया और अब वे कांग्रेस पार्टी का काम कर रहे हैं। ऐसे कुछ पलटी मार नेता अब कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में खुलकर काम कर रहे हैं। ज़िला कांग्रेस कमेटी बुरहानपुर के कार्यवाहक अध्यक्ष एवं मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश उपाध्यक्ष के सुपुत्र, जो कि विगत कई दिनों से मीडिया की रडार पर हैं।

एमआईएम प्रत्याशी को खुलकर समर्थन देने, उनके साथ औरंगाबाद जाने, उनके साथ मीटिंग अटेंड करने सहित सोशल मीडिया पर वीडियो के माध्यम से सामने आने और बाद में पलटी करने जैसे मामले में कांग्रेस का ये जाबाज़ सिपाही और साफ़ सुथरी छवि वाला युवा नेता फिलहाल सियासी चक्रव्यूह में फंस गया है। शो काज नोटिस के मामले में मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश महासचिव अजय रघुवंशी मीडिया से रूबरू हुए और उन्होंने खुलकर अपना पक्ष रखते हुए अपना बचाव किया। उन्होंने कहा कि वह इस मामले में इंवॉल्व नहीं है। वह कांग्रेस पार्टी के एक जांबाज सिर्फ सालार हैं। पार्टी विरोधी गतिविधि में उनका कोई फोटो सोशल मीडिया पर वायरल नहीं हुआ है। वे अपना जवाब मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री के समक्ष प्रस्तुत करेंगे।

यहां यह बात भी सत्य है कि कांग्रेस मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी में प्रदेश स्तरीय पदों पर आसीन बुरहानपुर के दो बड़े कांग्रेसी नेताओं ने विधायक का टिकट न मिलने से नाराज़ हो कर अल्पसंख्यक राजनीति के नाम पर मिल्लत को जगाकर अब 2 बड़े नेता अब खामोश तमाशाई बने हुए हैं। वहीं कांग्रेस के एक और कद्दावर नेता ने कुटनीति के तहत कांग्रेस पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी को अपना खुला समर्थन देने के बाद, यहां के सियासी दंगल से निकलकर कांग्रेस आला कमान के निर्देश पर प्रचार के लिए परिवार सहित देश की संस्कारधानी पहुंच चुके हैं। शो काज नोटिस प्राप्त करने वाले नेतागण क्या जवाब देते हैं और इन से शहर की राजनीति कितनी प्रभावित होती है ? यह आने वाला समय बताएगा।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading