महिला संबंधी अपराधों की रोकथाम में तथा उनके प्रभावी ढंग से निराकरण में यह Victim Friendly थाना काफी मददगार साबित होगा: पुलिस आयुक्त | New India Times

जमशेद आलम, ब्यूरो चीफ, भोपाल (मप्र), NIT:

महिला संबंधी अपराधों की रोकथाम में तथा उनके प्रभावी ढंग से निराकरण में यह Victim Friendly थाना काफी मददगार साबित होगा: पुलिस आयुक्त | New India Times

“सामुदायिक पुलिसिंग” के तहत भोपाल पुलिस कमिश्नरेट द्वारा बनाये गये Victim Friendly महिला थाना को ISO की टीम द्वारा मूल्यांकन एवं गुणवत्ता के आधार पर ISO अवार्ड के लिए चयनित किया गया तथा वरिष्ठ अधिकारियों की मौजूदगी में आज ISO 9001:2015 सर्टिफिकेट प्रदान किया गया, यह प्रदेश ही नहीं बल्कि पूरे भारत का पहला ISO 9001:2015 सर्टिफाइड थाना बन चुका है।

महिला संबंधी अपराधों की रोकथाम में तथा उनके प्रभावी ढंग से निराकरण में यह Victim Friendly थाना काफी मददगार साबित होगा: पुलिस आयुक्त | New India Times

इस अवसर पर पुलिस आयुक्त श्री हरिनारायणाचारी मिश्र, अतिरिक्त पुलिस आयुक्त श्री अनुराग शर्मा, अतिरिक्त पुलिस आयुक्त श्री अवधेश गोस्वामी, पीएसओ टू डीजीपी डॉ. विनीत कपूर, पुलिस उपायुक्त श्री आरएस प्रजापति, पुलिस उपायुक्त श्री रामजी श्रीवास्तव, पुलिस उपायुक्त श्री पद्म विलोचन शुक्ल, पुलिस उपायुक्त श्री संजय अग्रवाल एवं ISO से श्रीमती नम्रता शर्मा एवं उनकी टीम तथा अन्य अधिकारी व महिला थाना/महिला सेल का स्टॉफ मौजूद रहा।

महिला संबंधी अपराधों की रोकथाम में तथा उनके प्रभावी ढंग से निराकरण में यह Victim Friendly थाना काफी मददगार साबित होगा: पुलिस आयुक्त | New India Times

पुलिस आयुक्त श्री हरिनारायणाचारी मिश्र ने संबोधन में कहा कि महिला अपराधों के प्रति भोपाल पुलिस कमिश्नरेट द्वारा सामुदायिक पुलिसिंग के तहत निरंतर प्रयास कर रही है, इसी कड़ी में आज यह एक नया प्रयोग हुआ है यह एक नीव का पत्थर है। खासतौर महिलाओं से संबंधित अपराधों के मामलों में और कार्यपद्धति के रूप में पहले भी महिला थाना द्वारा नए आयाम स्थापित किए हैं, लेकिन खासतौर पर इस तरह की व्यवस्था के लगने से एवं संतुष्टता के होने से खासतौर पर हम देख पाते हैं कि जो मूलभूत आवश्यकताये है, उनका बारीकी से सर्वे किया गया है, बारीकी से मूल्यांकन किया गया है और हमारी व्यवस्था के अनुरूप उसे बनाया गया है। उसकी मूलभूत चीजें जो है थाने के जो अधिकारी तथा जवान हैं उनका आम व्यक्ति के साथ, पीड़ित व्यक्ति के साथ किस तरह का व्यवहार, सहानुभूतिपूर्वक कैसा व्यावहार किया जाए, इन मानकों के अनुरूप यहां के स्टॉफ को प्रशिक्षित एवं संवेदनशील बनाया गया है, साथ ही साथ जो आधारभूत संरचना है उसमे भी काफी लम्बे समय से काम हुआ है।

इस कार्य में पूर्व के अधिकारियों तथा वर्तमान में पदस्थ अधिकारियों द्वारा भी लगातार काम किया है, यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण उपलब्धि है। महिलाओं की समस्याओं हेतु सभी थानों में ऊर्जा हेल्प डेस्क सक्रिय हैं, हालांकि महिला थाना होने के नाते महिला संबंधी अपराधों की संख्या सबसे ज्यादा है, अपितु यह महिला संबंधी अपराधों के निराकरण में प्रमुख केंद्र के रूप में है, इसलिए इस थाने को इसके अनुरूप बनाया गया है। उम्मीद है कि महिला सम्बन्धी अपराधों की रोकथाम में उनके प्रभावी ढंग से निराकरण में काफी मददगार साबित होगा। महिला थाना की पूरी टीम को बधाई देते हैं कि खास तौर पर इस थाने को ISO 9001:2015 सर्टिफिकेट मिला है और अपेक्षा करते हैं कि लगातार इसके मापदंड के अनुरूप एवं शासन तथा आमजन की जो अपेक्षायें हैं उस पर खरा उतरेंगे तथा इसी तरह भोपाल के अन्य थानों को भी बनाएंगे।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading