तप की तपन से निर्वाण रूपी मीठा फल मिलता है: साध्वी अनुपम शीला जी रायपुरिया | New India Times

रहीम शेरानी हिन्दुस्तानी/पंकज बडोल, झाबुआ (मप्र), NIT:

रायपुरिया समग्र जैन समाज की सभी परंपराओं के मात्र पैंतीस घर है उसमें इस वर्ष आचार्य श्री उमेश मुनि महाराज साहब के बुद्ध पुत्र धर्मदास गणनायक प्रवर्तक श्री जिनेंद्र मुनि महाराज साहब की आज्ञानुवर्ती एवं पुण्य पुंज साध्वी श्री पुण्य शीला जी महाराज साहब की शिष्या साध्वी श्री अनुपम शीला जी महाराज साहब ठाणा पांच की निश्राय में ऐतिहासिक पांच माह का चातुर्मास संपन्न हो रहा है।

जिसमें अनिल कुमार श्री पुखराज मल मुथा परिवार ने इतिहास रचते हुए पत्रकार एवं भाजपा नेता अनिल मुथा की धर्मपत्नी श्रीमती विनीता मुथा ने परिवार का पांचवा मासखमण तैंतीस उपवास के साथ संपन्न किया।
तपस्या की अनुमोदना में कई राष्ट्रीय व राजनीतिक हस्तियों ने पधार कर तप अभिनंदन समारोह की शोभा बढ़ाई। समारोह को धर्म संदेश देते हुए साध्वी श्री अनुपम शीला जी ने कहा जैन धर्म में सम्यक ज्ञान दर्शन चरित्र व तप को मोक्ष के चार द्वारा बताए गए हैं।
तपस्वी बहन सम्यक रूप से तप में आगे बढ़ रही है। तप की तपन से निर्वाण रूपी मीठा फल मिलता है। यह तभी संभव है जब तपस्वी अपनी पूरी तपस्या सम्यक भाव से करें। विनीता बहन राजल बहन अनिल भाई धन्य है तप के ताप पर तप कर मासखमण कि तपस्या से अपना भव सुधर रहे हैं।

क्रिकेट की सीजन चल रहा है लगता है मुथा परिवार मासखमण का सिक्सर लगा कर चातुर्मास का समापन करेगा। धर्मदास गण परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष विनीत भाई वागरेचा दाहोद ने कहा जैन समाज में विविधता में एकता का आदर्श उदाहरण रायपुरिया नगर में देखने को मिल रहा है। जहां स्थानकवासी मंदिर मार्गी तेरापंथ समाज मिलकर वितरण प्रभु के मार्ग पर एक होकर चल रहे हैं। अखिल भारतीय धर्मदास युवा परिषद् के अध्यक्ष नीरज मूणत ने कहा देवता सुख पाते हैं। नरक के वासी दुःख पाते हैं पर मनुष्य ही ऐसी जाती है जो इंद्रियों की शक्ति को पहचान कर मोक्ष पा जाती है। लिमडी गुजरात के पूर्व अध्यक्ष हसमुख भाई गोलेच्छा ने गुजराती में उदबोद्बोधन देते कहा रायपुरिया जैसे छोटे से गांव में इस तरह की उपलब्धियां मन को आनंदित कर रही है ऐसे सेवाभावी श्री संघ को नमन करता हूं। पत्रकार हरिशंकर पंवार ने कहा रायपुरिया में साध्वी श्री के पधारने पर साधना की प्रखरता के जो आध्यात्मिक तत्वों का प्रसार हो रहा है। उसे पूरा नगर धर्ममय में हो गया है इसके अलावा सोहनलाल चाणोदीया पेटलावद राजश्री चोपड़ा करवड श्रीमती खुशी मुथा रायपुरिया ने भी अपने भाव रखें। साध्वी श्री नेहप्रभा जी ने तपस्वी की अनुमोदना में स्तवन प्रस्तुत किया। साध्वी महकश्री जी ने जैन संतों की परंपरा के विशिष्ट संतों का जानकारी दी। तपस्या का बहुमान तपस्या से किया गया। पैंतीस उपवास की बोली से श्रीमती राजल भंडारी ने व श्रीमती श्वेता मुथा अमित मुथा सहजोडे ने सिद्ध तप की बोली लेकर किया।

अभिनंदन पत्र का वचन सुनील मूणत ने किया।
इस अवसर पर जिला भाजपा अध्यक्ष प्रवीण सुराणा, अनोखालाल मेहता, जितेंद्र मेहता आदि कई गणमान्य व समाजजन व नगर जन व परिजन उपस्थित थे।
सफल संचालक संजय मुथा ने किया।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading