कोरोना वालिंटियर्स की प्रेरणा से ग्राम भुताहा, छाबडी, घानाखेडा व खापास्वामी के ग्रामीणजन अब उत्साहपूर्वक वैक्सीन लगवाने के लिये करवा रहे हैं पंजीयन

देश, राज्य, समाज, स्वास्थ्य

मो. मुजम्मिल, जुन्नारदेव/छिंदवाड़ा (मप्र), NIT:

कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम का एकमात्र उपाय कोविड-19 वैक्सीनेशन होने को ध्यान में रखते हुए कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन के मार्गनिर्देशन में जिले में म.प्र. जन अभियान परिषद के पंजीकृत कोरोना वॉलिंटियर्स बड़े उत्साह और सेवाभाव से आम जन को कोविड-19 टीकाकरण कराने के लिये प्रेरित करने का कार्य कर रहे हैं। इसी कड़ी में जिले के विकासखंड जुन्नारदेव की ग्राम पंचायत डुंगरिया के समीपस्थ ग्राम भुताहा, छाबडी, घानाखेडा व खापास्वामी में ग्राम विकास प्रस्फुट समिति व सामाजिक संस्था साई रक्षा शिक्षण कल्याण समिति के सदस्य कोरोना वालिंटियर्स के रूप में पूर्ण निष्ठा से ग्रामवासियों को टीकाकरण के लिये प्रेरित कर रहे हैं। ये कोरोना वालिंटियर्स ग्रामीणों को वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित कर रहे हैं और वैक्सीन लगवाने का संकल्प दिलवा रहे हैं जिससे अभी तक 123 लोग वैक्सीन लगवाने के लिए तैयार हुए हैं और उनकी बारी आने पर वैक्सीन लगवायेंगे । इन पंजीकृत कोरोना वॉलिंटियर्स द्वारा किये जा रहे कार्यों की सर्वत्र सराहना की जा रही है।
म.प्र.जन अभियान परिषद के जिला समन्वयक एवं अभियान के जिला नोडल अधिकारी पवन सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आव्हान पर म.प्र.जन अभियान परिषद के माध्यम से जिले के विकासखंड जुन्नारदेव के विकासखंड समन्वयक संजय बामने के नेतृत्व में ग्रामीण जन ज्योति विकास समिति भुताहा के सदस्य व कोरोना वालिंटियर्स सर्वश्री कृष्णकांत चौरासे, सुरेन्द्र इवनाती व कृष्णा यदुवंशी, ग्राम विकास प्रस्फुटन समिति सरेकाढाना के अध्यक्ष व कोरोना वालेंटियर सुरेन्द्र इवनाती और उनके साथी कृष्णा यदुवंशी, सुश्री सपना उईके, सुश्री प्रिंयका ऊईके व सुश्री दीपिका चंद्रे एवं श्रीसाईं रक्षा शिक्षण कल्याण समिति के पदाधिकारी, सदस्य व कोरोना वॉलिंटियर्स लक्ष्मी प्रसाद नागवंशी, सश्री लता उईके व सुश्री दुर्गा उईके द्वारा ग्राम भुताहा, छाबड़ी, घानाखेडा व खापास्वामी जहां वैक्सीनेशन की दर कम है, में घर-घर जाकर लोगों को वैक्सीनेशन कराने के लिये प्रेरित कर जागरूक कर रहे हैं जिसमें ग्राम भुताहा के कैलाश यदुवंशी और ज्ञानचंद इवनाती भरपूर सहयोग प्रदान कर रहे हैं। ये कोरोना वॉलिंटियर्स ग्रामवासियों को वैक्सीन सम्बन्धी अफवाह या भ्रम को दूर कर वैक्सीन हमारे लिए क्यों जरूरी है, इसे समझा रहे हैं साथ ही लोगों के मन में यह भ्रम व डर कि वैक्सीन लगने के बाद बुखार या फिर भी कोरोना होगा को दूर करने का प्रयास कर रहे हैं। कोरोना का अंतिम उपाय वैक्सीन ही है, की समझाईश के बाद लगभग 123 लोग वैक्सीन लगवाने के लिए तैयार हो चुके हैं जिन्हें वैक्सीन सेंटर दातलावादी, डुंगरिया और पनारा में निर्धारित तारीख में वैक्सीन लगवाने के लिये उनका पंजीयन किया गया है। कोरोना वॉलिंटियर्स की मेहनत का परिणाम अब ग्रामों में दिखने लगा है और जहां पहले लोग वैक्सीन लगवाने के लिए तैयार नहीं हो रहे थे, वहीं अब वे उत्साह के साथ तीसरी लहर से बचने के लिए वैक्सीन लगवाने के लिए आगे आ रहे हैं।

Leave a Reply