कार्यकारी मजिस्ट्रेट/पर्यवेक्षण अधिकारी समय से वैक्सीनेशन सेन्टर पहुंचे, वैक्सीनेशन सेन्टर पर सोशल डिस्टेसिंग का पालन सुनिश्चित किया जाये, केन्द्र पर लोग खड़े होकर भीड़ न लगायें उनके बैठने की समुचित व्यवस्था हो, प्रतिदिन 60 लोगों का वैक्सीनेशन किया जाना अनिवार्य: जिलाधिकारी झांसी

देश, राज्य, समाज, स्वास्थ्य

अरशद आब्दी, ब्यूरो चीफ, झांसी (यूपी), NIT:

जिलाधिकारी श्री आन्द्रा वामसी ने विकास भवन सभागार में कोविड-19 महामारी संक्रमण से बचाव के दृष्टिगत कोविड वैक्सीनेशन का कार्य सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र/प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र तथा अन्य अस्पतालों में किया जा रहा है। जनमानस को कोविड वैक्सीनेशन सुलभ उपलब्ध कराने, वैक्सीनेशन की मानीटरिंग व प्रभावी नियंत्रण हेतु समस्त 62 स्वास्थ्य केन्द्रों पर कार्यकारी मजिस्ट्रेट/पर्यवेक्षण अधिकारी नामित किये गये हैं। सभी को सम्बोधित करते हुये कहा कि कार्य बेहद संवेदनशील है और इसे पूर्ण निष्ठा के साथ किया जाना अनिवार्य है।
जिलाधिकारी ने मजिस्ट्रेट/पर्यवेक्षण अधिकारी बनाये गये लेखपाल, ग्राम विकास अधिकारी को निर्देश दिये कि किसी भी हालत में वैक्सीन वेस्ट न हो, जब 10 लोग एकत्र हों तभी वैक्सीन लगाया जाना प्रारम्भ किया जाये ताकि वैक्सीन के वेस्टेज को रोका जा सके। उन्होंने स्पष्ट रुप से कहा कि इसे बड़ी गम्भीरता से लिया जाये। वैक्सीन लगवाने आये सभी लाभार्थियों को सेन्टर पर बैठने की समुचित व्यवस्था हो, वह खड़े रहकर भीड़ न लगायें। सेन्टर पर कोविड प्रोटोकाल का पालन किया जाये। किसी भी अप्रिय घटना की जानकारी सम्बन्धित एसडीएम को अवश्य दें।
जिलाधिकारी ने कहा कि सभी मजिस्ट्रेट/पर्यवेक्षण अधिकारी अपने सेन्टर पर दिन में दो बार भ्रमण करते हुये पर्यवेक्षण कार्य करना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने कहा कि सभी कार्यकारी मजिस्ट्रेट/ सर्वेक्षण अधिकारी सम्बन्धित स्वास्थ्य केन्द्र प्रभारी चिकित्साधिकारी से समन्वय एवं सम्पर्क स्थापित कर कोविड वैक्सीनेशन कार्य सम्बन्धित स्वास्थ्य केन्द्र पर उपस्थित रहकर अग्रेत्तर कार्यवाही करना सुनिश्चित करायें।
जिलाधिकारी ने कहा कि अपना गांव-अपना शहर व अपना जिला कोविड-19 संक्रमण मुक्त हो इसके लिये अधिक से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन किया जाना अनिवार्य है। आपको जो जिम्मेदारी दी गयी है उसका अक्षरसः अनुपालन करते हुये अधिक से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन कराये, साथ ही वैक्सीन की वेस्टेज को भी रोकें।
इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी श्री शैलेष कुमार, ईसीएमओ डॉ. एन.के. जैन, लेखपाल सुश्री शैलजा शर्मा, श्री आशीष कुमार व्यास, श्री महेश गुप्ता, ग्राम विकास अधिकारी श्री ज्ञानेंद्र सिंह, श्री आदिति कुमार, श्री जितेंद्र साहू सहित अन्य लेखपाल व ग्राम विकास अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply