क्रिप्टो एक्सचेंज तैयार कर पूरे भारत में करोड़ों रूपये की ठगी करने वाले गिरोह का भोपाल साइबर क्राइम की पुलिस ने किया पर्दा फाश | New India Times

अबरार अहमद खान/मुकीज खान, भोपाल (मप्र), NIT:

क्रिप्टो एक्सचेंज तैयार कर पूरे भारत में करोड़ों रूपये की ठगी करने वाले गिरोह का भोपाल साइबर क्राइम की पुलिस ने किया पर्दा फाश | New India Times

भोपाल साइबर क्राइम की पुलिस ने एक ऐसे गिरोह को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है जो गोल्ड डेजर्ट कॉईन में रूपये इन्वेस्ट कराने के नाम पर लोगों को ठगी का शिकार बना रहा था।

मिली जानकारी के अनुसार दिनांक 17/04/2024 को फरियादी राजेंद्र विराज सिंह वर्मा पिता स्व. श्री गोकुल प्रसाद उम्र 40 साल निवासी कटारा हिल्स, जिला भोपाल का आवेदन प्राप्त हुआ जिसमें फरियादी द्वारा बताया कि उसके साथ सुमित जैन निवासी (दुबई फाउण्डर गोल्ड डेजर्ट काईन), अतुल जैन निवासी मण्डला एवं त्रिलोक पाटीदार निवासी भोपाल द्वारा बेवसाइट golddesertcoin.info के माध्यम से गोल्ड डेजर्ट कॉईन में रूपये इन्वेस्ट कराने के नाम पर 01 लाख 15 हजार रूपये की धोखाधड़ी की गयी है। जिसमें पहले फरियादी को इसमें रूपये इन्वेस्ट करने के लाभ बताये गये कि DGC कॉईन में रूपये इन्वेस्ट करने पर आपके रूपये कई गुना हो जायेंगे।

आवेदक द्वारा आरोपी त्रिलोक पाटीदार द्वारा अरेंज की गयी मीटिंग अटेण्ड की तो वहां पर आरोपी द्वारा भी आवेदक को बताया गया कि इसमें आप रूपये इन्वेस्ट करो और कुछ मत सोचो आपके रूपये अभी कुछ ही दिन में तीन गुना हो जायेंगे। आरोपियों का उक्त कृत्य धारा 406, 420, 120(बी) भादवि का पाये जाने से उपरोक्त के खिलाफ अपराध धारा सदर का वरिष्ठ अधिकारियों की अनुमति उपरांत पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

साइबर क्राईम जिला भोपाल की टीम द्वारा अपराध कायमी के पश्चात् त्वरित कार्यवाही कर तकनीकी एनालिसिस के आधार पर प्राप्त साक्ष्यों के माध्यम से https://golddesertcoin.info एवं https://tradecrypto24.com बेवसाईट का धारक त्रिलोक पाटीदार एवं बेवसाईट का डेवपलपर अमर लाल वाधवानी को भोपाल से गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार आरोपियों के कब्जे से अपराध में प्रयुक्त 03 मोबाईल फोन मय सिमकार्ड के, 01 लेपटॉप, 01 पीसी जप्त किया गया है। गिरफ्तार आरोपी त्रिलोक पाटीदार गोल्ड डेजर्ट कॉईन का मुख्य प्रमोटर है। जो कि देश के विभिन्न राज्यों में जाकर हाई प्रोफाईल होटलों में 100-150 लोगों को एकत्रित कर उनको GDC कॉइन में इन्वेस्ट करने के लिए उकसाता था कि यदि अभी इसमें इन्वेस्ट करो तो बिटकॉईन की तरह इसमें लाभ होगा। GDC कॉइन की वेल्यू कुछ ही दिनों में बिटकॉईन की तरह हो जायेगी। इसके बाद आरोपी त्रिलोक पाटीदार द्वारा उक्त फ्रॉड से प्रेरित होकर वृहद स्तर पर फ्रॉड करने हेतु अपने साथियों के साथ मिलकर ट्रेड क्रिप्टो 24 नाम से क्रिप्टो एक्सचेंज ही खड़ी कर दी। उपरोक्त DGC/GDC कॉइन एवं ट्रेड क्रिप्टो 24 एक्सचेंज का कहीं भी कोई भी रजिस्ट्रेशन आरोपियों द्वारा नहीं करवाया गया। यह केवल और केवल फ्रॉड के लिए ही डेवलप की गयी थी। यहां पर आरोपी छोटे-छोटे पेयआऊट करते जाते थे एवं यदि किसी का बड़ा पेयआऊट होता था तो उसे रोक देते थे। छोटे -छोटे पेयआऊट मिलने पर लगता था कि रूपये मिल रहे हैं। इस तरह से आरोपीगण पूरे देश भर में फ्रॉड कर रहे थे। https://golddesertcoin.com का प्रारंभिक डेवलपर अमर लाल वाधवानी को भी गिरफ्तार किया गया है। आरोपी अमर द्वारा मुख्य आरोपी को क्रिप्टकरेंसी की बेवसाईट तैयार करने में मदद की है।

एडवायजरी- वर्तमान में सोशल मीडिया प्लेटफार्म जैसे- इंस्टाग्राम, फेसबुक, टेलीग्राम एवं व्हाट्सएप पर अज्ञात व्यक्तियों द्वारा प्रतिदिन हजारों रूपये कमाने का लालच दिया जा रहा है जिसमें पहले आपको किसी भी अज्ञात क्रिप्टो एक्सचेंज में रूपये इन्वेस्ट करने हेतु बताया जाता है एवं बहुत अधिक मुनाफा कमाने हेतु अधिक से अधिक अमाउण्ट को इन्वेस्ट करने के लिए उकसाया जाता है। आपको कुछ सेमिनार भी अटैण्ड करवायी जाती है जिनमें दो-चार लोगों को बहुत अधिक एमाउण्ट का फ्रोफिट होना दिखाया जाता है जो कि फेक होता है। अथवा यह व्यक्ति प्रोपोगेटेड होते है। उक्त प्रकार के क्रिप्टो इन्वेस्टमेंट के झांसे में न आये।

फोन पर कोई अज्ञात व्यक्ति आपसे क्रेडिट कार्ड, बैंक खाता, एटीएम कार्ड या अन्य कोई फायनेंसियल जानकारी मांगता है तो उसके साथ अपनी बहुमूल्य जानकारी बिल्कुल भी साझा न करें एवं अपनी स्थानीय बैंक शाखा में जाकर सम्पर्क करें।

निम्न बातों का हमेशा ध्यान रखें-

1. कॉल पर किसी को भी अपनी बैंक खाता, एटीएम एवं क्रेडिट कार्ड से संबंधित कोई भी जानकारी साझा न करें भले ही बैंक वाले आपसे मांग रहे हो।
2. किसी भी प्रकार की शासकीय अथवा प्रायवेट नौकरी दिलाने वालों से सर्तक रहे एवं रूपये के लेन देने से बचे।
3. पेमेंट प्राप्त करने हेतु किसी भी प्रकार का OTP अथवा UPI पिन इंटर करने की जरूरत नहीं होती ।
4. ऑनलाईन खरीददारी करते समय सतर्क रहें एवं सायबर ठगों से बचे।
5. ऑनलाईन खरीददारी के लिए ऐसे बैंक खाता का इस्तेमाल करें जिसमें कम बैलेंस हो।
6. किसी भी अननॉन बेवसाईट से कोई एप्पलीकेशन डाउनलोड न करें।
7. कभी भी किसी के साथ अपना ओपीट/सीवीवी/पासवर्ड/पिन आदि शेयर न करें।
8. ऑनलाईन अथवा फोन पर दिये गये लॉटरी अथवा फ्री ऑफर के लालच में न पड़े।
9. किसी अननॉन लिंक पर क्लिक न करें।
10. KYC के नाम पर प्राप्त मैसेज में दिये गये नंबर पर कॉल न करें जानकारी के लिए अपने बैंक में जाकर जानकारी प्राप्त करें।
11. ध्यान रखे रूपये प्राप्त करते वक्त किसी भी प्रकार का पासवर्ड अथवा यूपीआई पिन इंटर करने की जरूरत नहीं पड़ती।
12. व्हाट्सएप पर ऑननान मोबाईल नंबर से वीडियों कॉल रिसीव करते समय अपना चहरा ना दिखाये पहले सामने वाले की पहचान करें कि वह आपका परिचित है अथवा नहीं।
13. अपने पासवर्ड को समय-समय पर बदलते रहें एवं अल्फान्यूमेरिक+स्पेशल करेक्टर का पासवर्ड रखें।
14. बिजली कनेक्शन की कटौती संबंधी मैसेज की पुष्टि पहले बिजली ऑफिस जाकर करें।
15. छोटे-छोटे इन्वेंस्टमेंट वाली बेवसाईट पर इन्वेस्टमेंट करने से बचें।
16. अपने मोबाईल फोन एवं कम्प्यूटर/लेपटॉप में रिमोट एक्सेस एप्पलीकेशन अथवा सोफ्टवेयर जैसे कि एनीडेस्क, टीमव्यूवर आदि का यदि आप उपयोग नहीं करते है तो उसको तुरंत अनइंस्टाल कर दें।
17. लाखों की लॉटरी वाले मैसेज अथवा विज्ञापनों से बचे और उक्त मैसेज किसी भी दूसरे को शेयर न करें।

नोट:- सायबर क्राईम संबंधित घटना घटित होने की सूचना भोपाल सायबर क्राईम के हेल्प लाइन नम्बर 9479990636 अथवा राष्ट्रीय हेल्पलाईन नंबर 1930 पर दें।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading