1.41 करोड़ की लागत से बने 12 आयुष्मान जन आरोग्य मंदिरों और 3 यूनिट 06 बेड एवं 01 यूनिट 20 बेड वार्ड का खीरी सांसद ने किया लोकार्पण, आम जनमानस को समर्पित की स्वास्थ्य सेवाएं | New India Times

वी.के. त्रिवेदी, ब्यूरो चीफ, लखीमपुर खीरी (यूपी), NIT:

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा “टेनी” द्वारा सीएचसी नकहा के अंतर्गत पीएचसी अमकोटवा में आयोजित एक कार्यक्रम में 1.41 करोड़ की लागत से आयुष्मान आरोग्य मंदिर, 6 बेड, 20 बेड आम जनमानस को समर्पित किया गया है। इस दौरान उनके साथ सदर विधायक योगेश वर्मा व सीएमओ डॉ संतोष गुप्ता भी मौजूद रहे।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा “टेनी” ने कहा कि गांव-गांव तक स्वास्थ्य सेवाएं देने के उद्देश्य से पआयुष्मान  आरोग्य मंदिर का निर्माण कार्य किया जा रहा है। सीएचसी नकहा और सीएचसी फरधान के अंतर्गत 12 प्रधानमंत्री जन आरोग्य मंदिरों को शुरू किया गया है। वहीं पीएचसी सेमरई, अमकोटवा और देवकली में भर्ती के लिए 6-6 अतिरिक्त शैय्य बेड़ो की व्यवस्था की गई है। सीएच नकहा में 20 बेडों का अतिरिक्त वार्ड स्थापित किया गया है। जिससे ग्रामीण स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर किया जा सके। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में डबल इंजन की सरकार लगातार स्वास्थ्य, शिक्षा और सड़क को बेहतर कर रही है। आज लोगों को अपने गांव में ही इलाज मिल रहा है।

विषम परिस्थितियों में अब लखनऊ जाने की आवश्यकता भी नहीं है। खीरी में मेडिकल कॉलेज की सेवाएं भी शुरू हो गई हैं। जल्द ही मेडिकल की पढ़ाई भी शुरू होने वाली है। अपने दो कार्यकालों में प्रधानमंत्री जी ने देश को नई दिशा और दशा दी है। निःशुल्क इलाज के लिए प्रधानमंत्री आयुष्मान गोल्डन कार्ड के माध्यम से 5 लाख तक का इलाज मुफ्त हो रहा है। वहीं प्रधानमंत्री जन आरोग्य मंदिरों में इलाज और दवाई निःशुल्क दी जा रही हैं। इस दौरान डॉ एसपी मिश्रा, उप मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ अमितेश द्विवेदी, ब्लाक प्रमुख नकहा, मोहम्मदी, विनीत मनार अध्यक्ष सहकारी बैंक, सीएचसी अधीक्षक डॉ रामू सिंह उपस्थित रहे‌।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading