पश्चिम रेलवे महाप्रबंधक अशोक कुमार मिश्र ने किया मेघनगर स्टेशन का निरीक्षण, समस्याओं का निराकरण करने का दिया आश्वासन | New India Times

रहीम शेरानी हिन्दुस्तानी, ब्यूरो चीफ, झाबुआ (मप्र), NIT:

New India Times

रतलाम झाबुआ दिल्ली-मुंबई रूट के दाहोद-रतलाम सेक्शन का पश्चिम रेलवे महाप्रबंधक अशोक कुमार मिश्र ने निरीक्षण किया। आठ सालों में यह पहला मौका है जब महाप्रबंधक ने सालाना निरीक्षण के लिए इस रेल खंड को चुना है। महाप्रबंधक का दौरा दिनांक 7 को लगभग 7 घंटे से भी अधिक चला। सुबह मुंबई से चलकर जी एम सीधे दाहोद पहुंचें, जहां से सुबह 10 बजे के लगभग निरीक्षण की शुरुआत की गई स्टेशन, कर्व, ब्रिज, लेवल क्रासिंग आदि का निरीक्षण करते हुए ज्ञात रहे पिछले साल महाप्रबंधक ने रतलाम-भोपाल रेल खंड के उज्जैन सेक्शन का निरीक्षण किया था।

जी एम के दौरे को लेकर पूरे रेलवे मंडल का अमला अलर्ट मोड पर रहा। डीआरएम रजनीश कुमार की अगुवाई में सभी तैयारियों में जुटे थे। चयनित रेल खंड के तमाम स्टेशनों को रंग-रोगन कर के चमका दिया गया। ट्रैक की सफाई के साथ अन्य शाखाओं की सफाई और रिकॉर्ड भी व्यवस्थित हो गया एवं अधिकांश आला अधिकारी रात में ही दाहोद पहुंच गए थे।

ऐसे चला महाप्रबंधक का निरीक्षण

दाहोद के स्टेशन का किया निरीक्षण

सुबह 10 से 11.50 बजे तक दाहोद के स्टेशन, कॉलोनी, इलेक्ट्रिक लोको वर्कशॉप आदि के निरीक्षण के साथ, एम पी, एमएलए के साथ मीटिंग

दोपहर 12 से 12.30 बजे तक कर्व नंबर 49 व ब्रिज 142 की चेकिंग

दोपहर 1 से 3 बजे तक – मेघनगर स्टेशन, पॉइंट नंबर 120, गुड्स शेड देखें

झाबुआ जिले के मेघनगर में जी एम पूरे 2 घंटे रुके
यहां पर क्षेत्रीय विधायक वीरसिंह भूरिया ने भी मेघनगर स्टेशन की समस्या से अवगत कराते हुए ज्ञापन दिया।

पश्चिम रेलवे महाप्रबंधक अशोक कुमार मिश्र ने किया मेघनगर स्टेशन का निरीक्षण, समस्याओं का निराकरण करने का दिया आश्वासन | New India Times

नगर के गणमान्य नागरिकों एवं पत्रकारों ने भी मौखिक रुप अवगत कराते हुए लेटर पेड पर भी जी एम के समक्ष मांगे रखी। जिसमें बताया गया कि मेघनगर पश्चिम रतलाम मण्डल का महत्वपूर्ण रेल्वे स्टेशन है ओर राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र व मध्य प्रदेश की सीमाओ को जोड़ने वाला महत्वपूर्ण रेल्वे स्टेशन है।

मेघनगर में रेल मंत्री लालु प्रसाद के वर्ष 2008 में दौरे के दौरान उक्त रेल्वे स्टेशन को मॉर्डन रेल्वे स्टेशन का दर्ज दिया गया था और अब वर्ष 2023 में उक्त स्टेशन को अमृत भारत योजना के तहत जोड़ा गया किन्तु यहां पर मॉर्डन रेल्वे स्टेशन जैसी सुविधाओं का आभाव है।

मेघनगर रेल्वे स्टेशन के समिप एल. सी. गेट नं. 60 के समिप एक अंडर ब्रिज का निर्माण अति आवश्यक है।

जिससे मेघनगर के एक छोर से दूसरे छोरे पर आने जाने की सुविधा बरकरार रहे।

मेघनगर रेल्वे स्टेशन पर ट्रेनों के स्टापेज व गाड़ियों के विस्तार एवं जनता पूनः चालू की जाए

पश्चिम रेलवे महाप्रबंधक अशोक कुमार मिश्र ने किया मेघनगर स्टेशन का निरीक्षण, समस्याओं का निराकरण करने का दिया आश्वासन | New India Times

फिरोजपुर जनता एक्सप्रेस जो कोविड19 से बंद पड़ी है जिसे पुनः प्रारंभ की जाए। साथ ही वलसाड वापी दाहोद ट्रेन को रतलाम या मेघनगर तक बढ़ाया जाए।
साथ ही बाद्रां उदयपुर ट्रेन,अजमेर- बांद्रा ट्रेन का स्टापेज मेघनगर में किया जाए तथा रतलाम अजमेर ट्रेन को मेघनगर तक बढ़ाया जाए। साथ ही झांसी एक्सप्रेस ट्रेन नं. 22195/22196 और 02199/02200, अजमेर अरूणाकुलम एक्सप्रेस ट्रेन नं. 12977/12978, ट्रेन नं. 22901/22902, ग्वालियर सम्पर्क क्रांति 22913, मुज्जफरपुर एक्सप्रेस 19053, रामनगर एक्सप्रेस 22975, विरागना एक्सप्रेस 22196, गौरखपुर 19489, हजरनमिजामुद्दीन 20945 आदि ट्रेनो का स्टापेज मेघनगर रेलवे स्टेशन पर किया जाए।

मेघनगर में ये समस्या का समाधान भी शीघ्र हो

आर पी एफ थाने के समिप बना गार्डन पूरी तरह से जीर्ण शीर्ण हो चुका है जिसका पुनः नवीनीकरण किया जाए।
मेघनगर रेल्वे स्टेशन पर टिकीट काउंटर है। प्लेटफार्म नं. 1 पर एक अतिरिक्त टिकट काउंटर खोला जाए। जीआरपी थाना के स्टाफ के निवास स्थान की सुविधा परिपूर्ण नहीं है इसे भी पूर्ण किया जाए। समस्त प्लेटफार्म पर लगेज (सामान) के लिए पैदल पुल की नितांत आवश्यकता है।
यह कि रेल्वे प्लेटफार्म नं. 4 के पैदल पुल के समिप बने रेक पाइन्ट को ओव्हर ब्रिज रेक पाइन्ट से जोड़ दिया जाए ताकी लोडिंग वाहनो का नगर में प्रवेश में न हो। साथ ही समस्त रेक पाइन्ट पर सीसीटीवी कैमरा एवं लाईट की व्यवस्था पर्याप्त की जाए। साथ ही रेल्वे स्टेशन के लिए दोनों छोरों पर टू व्हीलर के पार्किग की निःशुल्क व्यवस्था की जाए।

जीएम द्वारा अस्वाशन दिया गया

जी एम अशोक कुमार मिश्र ने ये सभी समाधान का आश्वासन दिया और कहा कि शीघ्र ही मेघनगर का समाधान हो जाएगा इसलिए भी की मेघनगर स्टेशन को अमृत भारत स्टेशनों में लिया गया है। इसके बाद जी एम ने रतलाम की ओर प्रस्थान किया एवं रतलाम की ओर निकल गए ओर पहले दोपहर 3.30 से 4 बजे तक – पंचपिपलिया टनल देखेंगे फिर शाम 4.30 बजे से – बिलड़ी से मोरवानी तक स्पीड ट्रायल शाम 5 बजे से – रतलाम पहुंचकर निरीक्षण किया गया।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading