फूलों का तारों का सबका कहना है, एक हजारों मेें हमारी बहना है | New India Times

मेहलक़ा इक़बाल अंसारी, ब्यूरो चीफ, बुरहानपुर (मप्र), NIT:

फूलों का तारों का सबका कहना है, एक हजारों मेें हमारी बहना है | New India Times

रक्षा बंधन के पावन पर्व पर आर्ट ऑफ लिविंग द्वारा महासत्संग का आयोजन स्थानीय राजस्थानी भवन बहादुरपुर रोड़ पर आयोजित किया गया, जिस में गान, ज्ञान, ध्यान महासत्संग में फूलों का तारों का सबका कहना है, एक हजारों में हमारी बहना है। ऐसे प्रासंगिक गीतों के साथ आर्ट ऑफ लिविंग सत्संग में व्यक्ति विकास केंद्र के साधक सीए भारत श्रॉफ, भारत रावल, विजय मेहता, राजरानी मेहता, राजेंद्र पवार, विजय दूंबानी ने ईश्वरीय आराधना और गुरु भक्ति के साथ-साथ जीवन दर्शन पर आधारित गीतों की प्रस्तुति दी। सभागृह आध्यात्मिक वातावरण में आनंदित हो उठा।

कार्यक्रम में विशेष रूप से शहर की लाड़ली बहन पूर्व मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस (दीदी) का आर्ट ऑफ लिविंग संस्था की ओर से पारंपरिक रूप से साफा बांधकर अभिनंदन किया गया। रक्षाबंधन पर्व के निमित्त आयोजित इस विशेष सत्संग में महापौर श्रीमती माधुरी पटेल, पूर्व महापौर अतुल पटेल, जनपद पंचायत अध्यक्ष श्रीमती सोनाली प्रदीप पाटिल, शाहपुर नगर परिषद अध्यक्ष श्रीमती साधना वीरेन्द्र तिवारी सहित बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक एवं गुरु भक्तों ने अपनी हाज़री लगाई। अधिवक्ता संघ बुरहानपुर की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता आसिफुद्दीन जे शेख, फरीद अहमद और कोषाध्यक्ष संजय विजयवर्गीय ने भी पुष्प गुच्छ भेंट कर राखी पर्व पर अर्चना दीदी का अभिनंदन किया।

सूत्र संचालन कर रहे संस्था के केंद्र प्रमुख और वरिष्ठ प्रशिक्षक एडवोकेट संतोष देवताले ने कहा कि हम सब की दीदी अर्चना चिटनिस ने विगत 5 वर्षों में कोई पद और संवैधानिक दायित्व पर नहीं होने के बावजूद भी पूरे विधानसभा क्षेत्र के गांव-गांव तक किसान, बुनकर, उद्योगपति, व्यापारी और महिलाओं की समस्याओं के लिए सतत अपनी सेवा के व्रत को जारी रखा है। जिसका साक्षी है बुरहानपुर का जनमानस। जिसने अपने हर दुख और पीड़ा को अर्चना दीदी को बताई। मानव सेवा के भाव का ही परिणाम है कि आपके प्रशंसक सदैव आपके साथ हर परिस्थिति में कांधे से कांधा मिलाकर खड़े रहे हैं।

कर सलाहकार भारत श्रॉफ (सीए) ने नदिया चले चले रे धारा, तुझको चलना होगा… गीत पर हजारों भक्त जनों को आनंदित कर दिया। नंद घर आनंद भयो जय कन्हैया लाल की… विजय मेहता के द्वारा गाए हुए भजन पर सभी भक्तजन अपनी जगह पर खड़े रहकर झुमने लगे। इस अवसर पर विशेष अतिथि श्रीमती अर्चना चिटनिस ने आर्ट ऑफ लिविंग परिवार और सभी शुभचिंतकों के प्रति किए गए सम्मान और अभिनंदन के लिए कृतज्ञता का भाव अभिव्यक्त किया। राखी पर्व पर उनकी स्वरचित कविता पाठ को सभी ने खूब सराहा। भावविभोर होते हुए दीदी ने कहा की आप सभी के स्नेह और सहयोग के कारण ही हर पल अपने क्षेत्र के लिए कुछ करने का जज़्बा बना रहता है। इस अवसर पर साधकों को ध्यान क्रिया भी कराई गई।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading