शाहपुर में ट्रक ड्राईवर के साथ हुई लूट की घटना का पर्दाफाश, फरियादी ही निकला लुटेरा, क़र्ज़ चुकाने के लिए गढ़ी थी लूट की झूठी कहानी

देश, राज्य

मेहलक़ा इक़बाल अंसारी, बुरहानपुर (मप्र), NIT:

बुरहानपुर पुलिस अधीक्षक श्री राहुल कुमार लोढ़ा के मार्गदर्शन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री अंतर सिंह कनेश एवं अनुविभागीय पुलिस अधिकारी नेपानगर श्री यशपाल सिह ठाकुर के निर्देशन में थाना प्रभारी शाहपुर निरीक्षक गिरवर सिह जलोदिया एवं टीम द्वारा ट्रक ड्रायवर के साथ हुई लूट की घटनाक्रम का खुलासा कर दिया है। दिनांक 07/08/2022 को सिरपुर तथा सिंधखेडा के बीच बुरहानपुर अमरावती रोड पर तीन व्यक्त‍ियों द्वारा ट्रक के सामने के काँच पर पत्थर मारकर 28000 रूपये तथा सामान के बिल्टी के कागज लूटने की रिपोर्ट फरियादी ट्रक ड्राइवर शेख शाहीद पिता अब्दुल सत्तार निवासी खानका वार्ड बुरहानपुर द्वारा लिखाई गई थी। फरियादी की रिपोर्ट पर थाना शाहपुर पर अपराध क्रमांक 813/2022 धारा 392 भादवि का अपराध पंजीबध्द कर विवेचना में लिया गया। विवेचना के दौरान फरियादी ट्रक ड्राइवर शेख शाहीद द्वारा बताये गये स्थान घटना स्थल, ट्रक व ट्रक के टूटे हुये कांच तथा लूट के समय फाड़े गए फरियादी के कपड़ों का निरीक्षण किया गया। ट्रक के केबिन के निरीक्षण से पाया गया कि बरसात का समय होने पर भी ट्रक का केबिन व्यवस्थ‍ित था तथा किसी के जबरजस्ती अंदर घुसने संबधी कोई निशान नहीं थे। फरियादी द्वारा नवाब ट्रासपोर्ट के ट्रक से ग्राम सावली खेड़ा खकनार क्षेत्र से मनोज जायसवाल के यहां से गेहूँ भरवाकर भाड़े के 28000 रूपये नकदी तथा गेहू की बिल्टी लेकर औरंगाबाद तरफ जाना बताया था तथा रास्ते में बिल्टी के काग़ज़ भी अज्ञात तीन आरोपियो द्वारा लूट लेना बताया था। लूट के उपरांत भी फरियादी के पास 400 रूपये शेष होना तथा आरोपियों द्वारा मोबाईल फोन नहीं लूटना। इन साक्ष्यों के आधार पर घटना संदिग्ध लगने पर फरियादी शेख शाहीद से घटना के संबध में सख़्ती से पूछताछ की गई तो फरियादी ट्रक ड्रायवर शेख शाहीद द्वारा रूपये की आवश्यकता होने से स्वंय ही रूपये अपने पास रख कर लूट होने की झूठी रिपोर्ट लिखाने की बात स्वीकार की तथा बताया कि मेरे उपर ट्रक मालिक अज़हर उद्दीन का 50000(पचास हज़ार) रूपये का कर्ज़ था तथा वेतन कम होने एवं गुजारा ठीक से नही होने के कारण भाडे के प्राप्त 28000 रूपये खुद के पास रखने के विचार से सुनसान रोड पर ट्रक खड़ा कर अपने हाथ से ट्रक का कांच तोड कर स्वंय के हाथ से अपने कपड़े फाड़ कर मालिक को मोबाईल से अपने साथ लूट होने की घटना के बारे में बताया था तथा एक पन्नी में 27500 रूपये ट्रक में छिपाकर और 400 रूपये अपनी जेब में छिपाकर रख लिये थे। दो तीन दिन बाद 7000 रूपये खानका वार्ड में बीसी की किश्त के लिये जमा किये थे तथा 900 रूपये खर्च हो गये शेष 20000 रूपये मेरे पास बचे है। पुलिस द्वारा फरियादी के पास से 27000 रूपये तथा घटना स्थल से ट्रक के कांच फोड़ने में प्रयुक्त पत्थर जप्त किया गया। विवेचना से उक्त लूट का घटनाक्रम बनावटी एवं झूठा पाया गया। जिसके संबध में पृथक से रिपोर्ट कर्ता के विरूध्द कार्यवाही की जायेगी। उक्त संपूर्ण घटना क्रम का खुलासा करने में थाना प्रभारी शाहपुर निरीक्षक गिरवर सिह जलोदिया एवं उनकी टीम के उनि हेमेन्द्र सिंह चौहान, उनि अंकिता भूरिया , उनि मनीष पटेल, आर राजेश रावत, आर अक्षय पटेल का सराहनीय योगदान रहा।

Leave a Reply