जंगल में मिली लाश की गुत्थी सुलझी, हत्यारोपी गिरफ्तार

अपराध, देश, राज्य

मो. मुजम्मिल, जुन्नारदेव/छिंदवाड़ा (मप्र), NIT:

जुन्नारदेव थाना क्षेत्र के गोरखघाट और छाबड़ा के जंगल में पुलिया के नीचे झाड़ियों में ढंकी हुई एक सड़ी गली लाश मिली थी। पुलिस ने जांच शुरू की तो मौका ए वारदात पर एफएसएल टीम ने साक्ष्य जुटाए जिसमें मृतक की हत्या कर शव फैंका गया। पुलिस ने मृतक के मोबाइल की डिटेल निकलवाई और आरोपियों तक पहुंची। जिसमें पुलिस ने बताया कि 18 जून को देर रात फोन पर गारदेही से हिरदागढ जाने के लिए स्पेशल बुकिंग का लालच दिया और आटो चालक को सुनसान इलाके में आटो रुकवा के गमछे से गला घोंटकर हत्या की और मृतक रामकिशोर के आटो से उसका शव ले जाकर छावड़ा में फैंका और आटो कोक भट्टे के पास छोड़कर अपने घर लौट आए। पुलिस ने काल डिटेल निकलवाई और संदिग्धों को पकड़कर सख्ती से पूछताछ की इसमें वह जल्दी टूट गए और पुलिस के सामने इस घटनाक्रम की कहानी बयां कर दी। जिसमें बताया कि रामकिशोर यदुवंशी पूर्व में ट्रक ड्राइवर था लेकिन बुजुर्ग होने के कारण ट्रक चलाना छोड़ा और तीन माह पहले आटो खरीद कर चलाने लगा इसी बीच मोहन पिता सुजीत बेलवंशी (22) कोल्हिया निवासी ने आटो चलाने की इच्छा जताई तो उसे काम पर रखा लेकिन शराब के नशे में गाली गलौज करने से मोहन को गुस्सा आया। एक महीने के भीतर ही आटो मालिक ने चालक को काम से हटा दिया जिसकारण चालक मोहन को नाराज़गी रही एक साल पहले मोहन पर दर्ज अपराधिक मामले के निराकरण हेतु रुपए की आवश्यकता पड़ी तो चालक ने योजना बनाई कि वृद्ध रामकिशोर यदुवंशी को रास्ते से हटा कर उसका आटो बेच दिया जाएं। इसलिए उसने दो नाबालिग युवक को इस घटना को अंजाम देने के लिए साथ में लिया लेकिन पुलिस के हत्थे चढ़ गए। पुलिस ने गुम इंसान क्रमांक 33/22 व मर्ग संख्या 43/22 की जांच उपरांत साक्ष्यों के आधार पर अपराध क्रमांक 216 धारा 302, 201, 120 बी कायम कर आरोपियो को गिरफ्तार किया। पुलिस ने घटना में गमछा मृतक के कागजात दो सौ रुपए नगदी आरोपी का मोबाइल एवं अन्य सबूत एकत्र किए हैं मौके पर जिला पुलिस अधीक्षक विवेक अग्रवाल एसडीओपी केके अवस्थी थाना प्रभारी बृजेश मिश्रा उप निरीक्षक प्रेमचंद्र राठी महिला उपनिरीक्षक अनीता सराठे सहित अन्य पुलिसकर्मी मौजूद थे.

Leave a Reply