प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस पर गर्भवतियों की सेहत की हुई जांच, जिले में गर्भवतियों के लिए 1 मई से चलाया जा रहा है एक कदम सुरक्षित मातृत्व की ओर अभियान

देश, राज्य, स्वास्थ्य

आलम वारसी, ब्यूरो चीफ, मुरादाबाद (यूपी), NIT:

इन दिनों जच्चा और बच्चा की सुरक्षा के लिए स्वास्थ्य विभाग कई तरह के जागरूक अभियान चलाकर सुरक्षित प्रसव पर जोर दे रहा है। इन्हीं में से एक प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस सोमवार को जिला महिला चिकित्सालय सहित जिले के सभी सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर मनाया गया। जबकि एक मई से चलाए जा रहे एक कदम सुरक्षित मातृत्व की ओर अभियान से अभी तक जनपद की चार हजार से अधिक महिलाएं लाभान्वित हो चुकी हैं।
जिला मातृत्व स्वास्थ्य परामर्शदाता प्रभारी संध्या सिंह ने बताया कि सोमवार को जिला महिला चिकित्सालय में डॉ विमिता अग्रवाल ने भारी संख्या में गर्भवतियों की सेहत की जांच की। उन्होंने कई गर्भवतियों को प्रोटीन, यूरिया टेस्ट, सिफलिस, एचआईवी, हेपेटाइटिस, हीमोग्लोबिन, ब्लड प्रेशर, शुगर टेस्ट, अल्ट्रासाउंट टेस्ट आदि की जांच कराने के लिए भी सलाह दी। जिससे प्रसव के दौरान किसी भी तरह की जटिलता का सामना न करना पड़े। जिला महिला चिकित्सालय के अलावा प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर भी गर्भवतियों ने पहुंचकर महिला चिकित्सक से परामर्श के बाद जरूरी जांच कराई।
दूसरी ओर जिले में एक मई से एक कदम सुरक्षित मातृत्व की ओर से अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के जरिए अभी तक चार हजार से भी अधिक महिलाएं लाभान्वित हो चुकी हैं। इन गर्भवतियों में सूक्ष्म पोषक तत्व व कुपोषण को दूर करने के लिए कैल्शियम, आयरन, फॉलिक एसिड और एल्बेंडाजॉल की दवा दी जा चुकी है। जिससे प्रसव के दौरान जच्चा और बच्चा दोनों सुरक्षित रहें। इस दौरान गर्भवतियों दवाओं के सेवन को लेकर फैली भ्रांतियों को भी दूर किया जा रहा है।

लाकड़ी फाजलपुर निवासी निशा यादव ने बताया कि आज मैं जरूरी जांच कराने के लिए जिला अस्पताल आई हूं। यहां महिला चिकित्सक ने उसे हीमोग्लोबिन, यूरिन और अल्ट्रासाउंड कराने के लिए कहा है। यह सभी जांच अस्पताल में निशुल्क होती हैं। मेरा गर्भावस्था का चौथा महीना चल रहा है।

Leave a Reply