13 सितंबर को भीम सेना ने किया महेन्द्रगढ़ बंद का ऐलान, भीम सेना चीफ नवाब सतपाल तंवर समेत भीम सेना के कई बड़े नेता प्रदर्शन में हो सकते हैं शामिल

अपराध, देश, राज्य

साबिर खान, गुरूग्राम (हरियाणा), NIT:

बेरी निवासी पीएचसी में स्वाथ्यकर्मी रहे अजय कुमार की हत्या के मामले ने तूल पकड़ लिया है। पुलिस पर आरोप है कि मामले में आईपीसी की धारा 302 तो लगाई गई है लेकिन पुलिस की भूमिका संदेह के घेरे में है। आरोप है कि जांच अधिकारी आरोपियों से मोटी रिश्वत लेकर मामले को एक्सीडेंट का रूप देने की कोशिश कर रहे हैं। पुलिस ने जांच के दौरान मामले में एससी/ एसटी एक्ट का इजाफा कर दिया है, ऐसे में पुलिस की कार्यप्रणाली पर बहुत बड़ा सवाल यह है कि मामला यदि हत्या का ना होकर एक्सीडेंट का है तो पुलिस ने जांच के दौरान एससी/ एसटी एक्ट क्यों लगाया? अजय की हत्या का आरोप हेमंत जांगिड़ नामक युवक और उसके साथियों पर है। मामले में एससी/ एसटी एक्ट लगाने के बाद पुलिस अपने ही द्वारा रचे गए चक्रव्यूह में खुद ही फंसती नजर आ रही है। वहीं 2018 का एससी/ एसटी एक्ट संशोधन सेक्शन 18ए अनुसूचित जाति/ जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 में तुरंत गिरफ्तारी का प्रावधान देता है। ऐसे में आरोपी की गिरफ्तारी के अलावा पुलिस के पास कोई रास्ता नहीं है।

कुछ दिन पहले भीम सेना के संस्थापक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष नवाब सतपाल तंवर अपने पदाधिकारियों के साथ पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे थे। उसी दौरान भीम सेना चीफ नवाब सतपाल तंवर ने नारनौल के एसपी को चेतावनी दे दी थी कि मामले में एक सप्ताह के भीतर गिरफ्तारी नहीं हुई तो भीम सेना उग्र प्रदर्शन करेगी। महेन्द्रगढ़ की भीम सेना टीम पीड़ित परिवार के साथ भीम सेना सुप्रीमो नवाब सतपाल तंवर के कार्यालय पर गुरुग्राम पहुंची। वहां से 13 सितम्बर को महेन्द्रगढ़ बंद का ऐलान कर दिया गया। इस बंद में महेंद्रगढ़ भीम सेना, भिवानी, गुरुग्राम, रेवाड़ी, तावडू, नूंह, झज्जर, रोहतक और उत्तर प्रदेश, राजस्थान आदि जगहों से भीम सेना के पदाधिकारी और भीम सैनिक शामिल होंगे। अजय हत्याकांड के अलावा कटकई निवासी एक दलित नाबालिग लड़की के अपहरण का मामला भी पुलिस अब तक सुलझा नहीं पाई है। मई के महीने से पीड़ित परिवार पुलिस थानों और डीएसपी, एसपी कार्यालय के चक्कर लगा रहा है। इस मामले को भी बंद में सामने रखा जाएगा।

भीम सेना महेंद्रगढ़ के जिला अध्यक्ष राकेश दहिया ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि 13 सितंबर को होने वाले महेंद्रगढ़ बंद में मृतक अजय का परिवार भी मौजूद रहेगा। राकेश ने बताया कि भीम सेना चीफ नवाब सतपाल तंवर भी इस बंद में शामिल होंगे साथ ही भीम सेना के कई राष्ट्रीय पदाधिकारी, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान के पदाधिकारी भी शामिल हो सकते हैं। भीम सेना के बड़े नेताओं की महेन्द्रगढ़ में मौजूदगी से प्रशासन के पसीने छूटने तय हैं। भीम सेना सुप्रीमो नवाब सतपाल तंवर ने साफ कर दिया है कि वे हजारों भीम सैनिकों के साथ मिलकर महेन्द्रगढ़ का चक्का जाम कर देंगे और भीम सेना इस दौरान उग्र प्रदर्शन करेगी। भीम सेना चीफ ने धमकी दी है कि दुकानदार प्रेम से बाजार बंद करते हैं तो ठीक है अन्यथा लठ्ठ के दम पर भीम सेना पूरे बाजार को बंद करा देगी। बताया जाता है कि भीम सेना सुप्रीमो की धमकी के बाद प्रशासन सकते में है। उन्होंने कहा है कि महेंद्रगढ़ लघु सचिवालय को चारों तरफ से घेर लिया जाएगा। उपायुक्त और पुलिस अधीक्षक मौके पर मौजूद रहकर समस्या को सुनें। इनसे नीचे किसी भी अधिकारी से बात नहीं की जाएगी। यदि उपायुक्त और पुलिस अधीक्षक मौके पर नहीं पहुंचे तो सड़क पर ही “सतपाल की अदालत” लगाकर आरोपियों सहित प्रसानिक अधिकारियों को भी सजा सुना दी जाएगी। भीम सैनिक इन्हें सजा देने का काम करेंगे।

Leave a Reply