देवरी बिजली विभाग की लापरवाही व भेदभाव के कारण पांच दिनों से पड़ा बंद है शालिनी स्टोन क्रेशर

देश, भ्रष्टाचार, राज्य

त्रिवेंद्र जाट, देवरी/सागर (मप्र), NIT:

देवरी बिजली विभाग जो आजकल बड़े चर्चा में बना हुआ है जहां पर आये दिन बिजली लाइन काटने जोड़ने तथा बडे़ बिजली बिल सुधार आदि कई विभाग के कई कामों को करने के नाम पर अवैध वसूली का नगर व ग्रामीण जनों द्वारा आरोप लग रहा है. लोगों का आरोप ये भी है कि यदि बिजली खराब होती है तो सुधार करवाने के नाम पर खर्चा मांगा जाता है, वहीं बिजली विभाग से जो बढ़े हुये बिल आते हैं तो सुधार के नाम पर पैसा की भी वसूली की जाती है. शिकायत के लिये जब लोग जेई संतोष मसकोले को फोन करते हैं तो उनके द्वारा भी लोगों के फोन न उठाने की बात की जा रही है. वहीं ऑफिस में भी वह नदारत रहते हैं साथ ही नगर में कुछ लोगों ने बताया कि इनसे बिजली संबंधी शिकायत की बात करो तो अभद्रता से लोगों से व्यवहार करते हैं. वहीं दूसरी ओर देवरी के शालिनी क्रेशर स्टोन के अभय लोधी द्वारा बताया गया कि मेरे यहां क्रेशर की लाइट करीब 6 दिन से खराब है जिस की लिखित शिकायत भी की जा चुकी है, बिजली विभाग के कई चक्कर काट चुके हैं पर कोई नहीं सुन रहा है, फोन लगाते हैं तो फोन उठता नहीं है. क्रेशर 6 दिन से बंद होने से काफी नुकसान हो रहा है. एक दिन जब क्रेशर के अभय लोधी बिजली विभाग शिकायत करने पहुंचे तो वहां मौजूद बावू ने बताया कि लाईन बंद रहेगी आपकी आप अपना बकाया बिजली बिल भरें जबकि बिल ज्यादा नहीं है. वहां अन्य क्रेशरों में तो चार गुना ज्यादा बिल बकाया है फिर भी उनकी लाईट नहीं काटी गई और उनसे न बिजली बिल का दबाव बनाया गया सिर्फ मेरे क्रेशर पर ही भेदभाव किया जा रहा है और जबरन दबाब बनाया जा रहा है. यदि 6 दिन में लाईट सुधर जाती तो बकाया बिल भी जमा कर देते मगर 6 दिन बिजली खराबी के कारण काफी ज्यादा नुकसान हो रहा है मगर अधिकारी सुनने तक राजी नहीं हैं और अपनी मनमानी में लगे हैं व भेदभाव पूर्ण रवैया अपना रहे हैं.

Leave a Reply