रिश्वत लेते शिंदखेड़ा तहसील के दो स्वास्थ्य अधिकारी रंगे हाथों गिरफ्तार

अपराध, देश, भ्रष्टाचार, राज्य

अब्दुल वाहिद काकर, ब्यूरो चीफ, धुले (महाराष्ट्र), NIT:

एंटी करप्शन ब्यूरो धुले ने शुक्रवार को रिश्वतखोरी के आरोप में शिंदखेड़ा तहसील स्वास्थ्य अधिकारी के साथ नरड़ाना चिकित्सा अधिकारी के निवास पर रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है.

एंटी करप्शन ब्यूरो ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया है कि शिदखेड़ा तहसील के नरड़ाना प्राथमिक चिकित्सालय में शिकायतकर्ता कनिष्ठ सहायक पद पर कार्यरत है. उसने सरकारी योजना एनआरएचएम के अंतर्गत किये गये कार्यों के मानदेय के लिये 17000 रूपये का बिल स्वीकृत करने के लिये आवेदन किया गया था. दोनों अधिकारियों ने एक -एक हजार रुपये रिश्वत की मांग की थी.

शिकायतकर्ता कर्मी की इच्छा रिश्वत नहीं देने की होने के कारण उसने धुलिया ब्यूरो में शिकायत दर्ज कराई थी इसके चलते दोनों के लिए शुक्रवार को जाल बिछाकर शिदखेड़ा तहसील स्वास्थ्य अधिकारी डॉ भूषण पंडित मोरे तालुका आरोग्य अधिकारी आरोग्य विभाग वर्ग 1 शिंदखेडा और डॉ. पंकज बारकू वाडेकर वैद्यकीय अधिकारी, आरोग्य विभाग वर्ग 1. प्राथमिक आरोग्य केंद्र नरडाना को शिकायतकर्ता से 1000-1000 रूपये की रिश्वत स्वीकारते हुए सरकारी गवाहों के समक्ष गिरफ्तार किया है.

इस कार्यवाही को सफलतापूर्वक पुलिस उपअधीक्षक सुनील कुराडे के निर्देशन में पुलिस इंस्पेक्टर झोडगे, राजन कदम, शरद काटके, जयंत साळवे, संतोष पावरा, प्रशांत चौधरी, कृष्णकांत वाडीले, भूषण खलानेकर, भूषण शेटे, महेश मोरे, कैलास जोहरे, पुरुषोत्तम सोनवणे, गायत्री पाटील, संदीप कदम, सुधीर मोरे ने अंजाम दिया है।

Leave a Reply