भारत-नेपाल रेल संपर्क सेवा होगी और बेहतर, नेपाल के कुर्था तक स्पीड ट्रायल सफलतापूर्वक हुआ संपन्न

दुनिया, देश

अतीश दीपंकर, ब्यूरो चीफ, पटना (बिहार), NIT:

बिहार के समस्तीपुर मंडल के जयनगर और नेपाल के कुर्था के मध्य 34.50 किलोमीटर लंबे नव-आमान परिवर्तित रेलखंड पर आज रविवार 18 जुलाई को लोकोमोटिव द्वारा 110 किमी प्रतिघंटा की गति से सफलतापूर्वक स्पीड ट्रायल किया गया। इस दौरान इरकॉन और नेपाल रेलवे के वरिष्ठ उच्चाधिकारीगण उपस्थित थे।

स्पीड ट्रायल के सफल होने के बाद अब रेल संरक्षा आयुक्त द्वारा निरीक्षण किया जाएगा। रेल संरक्षा आयुक्त की अनुमति मिलने तथा भारत और नेपाल के बीच सहमति के बाद आवश्यक तकनीकी और परिचालन आवश्यकताओं को पूरा करने के पश्चात् जल्द ही ट्रेनों का परिचालन प्रारंभ किया जा सकता है।

विदित हो कि भारतीय रेल संचालन और रख-रखाव की प्रक्रिया आदि की जानकारी साझा कर बड़ी रेल लाइन यात्री सेवा के संचालन में नेपाल को पूर्ण सहयोग दे रही है।

इस संबंध में मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने आज शाम बताया कि, भारत-नेपाल मैत्री रेल परियोजना के तहत् प्रथम चरण में आमान परिवर्तित 34.50 किलोमीटर लंबा जयनगर-कुर्था (नेपाल) रेलखंड लगभग 619 करोड़ की अनुमानित लागत वाली जयनगर- बिजलपुरा-बर्दीबास (69.08 किमी) रेल परियोजना का एक भाग है। इस परियोजना के पहले चरण में बिहार के मधुबनी जिले के जयनगर स्टेशन को नेपाल के कुर्था से जोड़ा जाएगा। भविष्य में इसका विस्तार कुर्था से लगभग 18 किलोमीटर आगे बीजलपुरा तक किया जाएगा। यह परियोजना दोनों देशों के लिए एक मील का पत्थर साबित होगा।

Leave a Reply