कोविड टीकाकरण के साथ पल्स पोलियो का दिया गया प्रशिक्षण

देश, राज्य, स्वास्थ्य

वी.के.त्रिवेदी, ब्यूरो चीफ, लखीमपुर खीरी (यूपी), NIT:

कोविड टीकाकरण के साथ समस्त कर्मचारियों को आगामी 17 जनवरी 2021 से शुरू हो रहे पल्स पोलियो अभियान के बारे में प्रशिक्षण दिया गया। पोलियो राउण्ड कोविड बीमारी के कारण इस साल सिर्फ एक राउंड हुआ था। सभी को आवश्यक जानकारियों के साथ 0 से 5 साल तक के समस्त बच्चों को पोलियो की दबा पिलाना अनिवार्य है। घर 2 का पोलियो कार्यक्रम 18 जनवरी से 22 तक चलेगा। 23 जनवरी को बी टीम की कार्यवाही की जाएगी। पोलियो के लिए सभी तरह की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इसमें 25 सुपरविजेर 120 टीमें 7 ट्रांज़िट, 5 मोबाइल टीमें लगाई गई हैं। इस दौरान सीडीपीओ श्री शीतला प्रसाद, हेल्थ सुपरविजेर कमलेश सिंह चौहान, सुपरविजेर लक्ष्मी देवी, डब्ल्युएचओ मॉनिटर दीप त्रिवेदी और समस्त एएनएम और अन्य कर्मचारी उपस्थित रहे। ऑडियो और विडियो के द्वारा सभी को रिपोर्टिंग के बारे में विस्तार से बताया और इसके रखरखाव हेतु कोल्ड चेन पॉइंट ईसानगर पर सभी तैयारियां पूरी हो गई हैं। वेक्सीन रखने के लिए आई एल आर फ्रीज की व्यवस्था हो गई है, कम पड़ने पर जिले से भी उपलब्ध कराया जाएगा। कोल्ड चेन रूम में सीसीटीवी कैमरे भी लगवा दिए गए है ताकि उस पर नियमित निगरानी हो सके। अग्निशमन यंत्र भी लगाया गया है। कोल्ड चैन हैंडलर की भी ट्रेनिंग करा दी गई है।इस बाबत स्वास्थ्य विभाग ने 8 टीमों का गठन कर दिया गया है। एक टीम में 6 लोग शामिल होंगे जिसमें एक टीकाकरण कर्मी, 2 सिक्योरिटी स्टाफ जिनमे एक होमगार्ड और पुलिसकर्मी, एक वेरिफिकेशन कर्मी /जाँच कर्ता और 2 मोबिलिजेर टीम में शामिल होंगे। सभी कर्मचारियों को आई कार्ड दिखाने के बाद ही वेक्सीन लगेगी जिसकी सूचना सम्बंधित कर्मचारियों को मोबाइल फोन पर एसएमएस के तहत सूचना दी जाएगी। शासन की गाइडलाइन के अनुसार सबसे पहले प्रथम लाइन पंक्ति के कोरोना वारियर योद्धाओं को ही ये वैक्सीन लगाई जा रही है, इनकी समस्त सूचनाएं लाइन लिस्टिंग शासन की वेबसाइट पर पहले ही लोड कराई जा चुकी है। करीबन 763 लोगों को अपने ब्लॉक में प्रथम चरण में पहली बार वैक्सीन लगाई जाएगी। सबसे पहले वेक्सीन लगवाने में आने वाले लोगों में चिकित्सा दल, स्टाफ नर्स, आशाएं और आंगनवाडी कार्यकत्रिओं को लिया जा रहा है। दूसरे चरण में सीमा सुरक्षा बलों, पुलिसकर्मी, होमगार्ड, नगर पालिका निगम कर्मियों, बैंक कर्मी आदि को टीकाकरण के लिए चुना जाएगा। तृतीय चरण में प्रत्येक गांव स्तर पर 50 साल से अधिक आयु के लोगों के साथ ही गंभीर बीमारियों से जूझ रहे व्यक्तियो जैसे डायबिटीज, केंसर, हाई ब्लड प्रेशर आदि बीमारियों से जूझ रहे व्यक्तियों को उक्त वैक्सीन लगाई जाएगी। प्रथम डोज लगने के उपरांत 21 से 28 दिन बाद दूसरा डोज लगाया जाएगा। दूसरे टीके के लगने के बाद ही पूर्ण प्रतिरक्षित व्यक्ति को माना जाएगा। इसका सर्टिफिकेट ऑनलाइन ही जारी कर दिया जाएगा। इस बाबत शासन द्वारा चलाये जा रहे अन्य टीकाकरण अभियान पहले के ही तरह चलते रहेंगे। कोविड-19 का टीकाकरण सिर्फ सोमवार और शुक्रवार को ही लगाया जाएगा। जरूरत पड़ने पर एक या दो सत्र और बढ़ाये जायेगे। टीकाकरण का समय सुबह 9 बजे से 4 बजे तक का रहेगा। इसमें हर कर्मचारी को टीका लगवाना अनिवार्य होगा। सभी स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई है। शासन स्तर से प्रत्येक दिन इन सब की उपस्थिति देखी जा रही है। टीके के लगने के बाद उत्पन्न होने वाले छोटे और बड़े और गंभीर साइड इफेक्ट के मिलने के बाद सभी चिकित्सा कर्मियों को सभी आवश्यक सेवाएं मुहैया कराई जाएंगी। इस बाबत सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर ही डॉक्टर फार्मासिस्ट स्टाफ नर्स टीम बनाकर उपस्थित रहेंगे। इसके लिए रेपिड रेस्पॉन्स टीम का गठन भी कर दिया गया है। इसके साथ ही 108 एंबुलेंस भी तैयार रहेगी। गंभीर हालात पैदा होने पर तत्काल उनको जिला अस्पताल संदर्भित किया जाएगा। इस बाबत हमारे ब्लॉक में तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। आज संपूर्ण जिले में एक साथ समस्त कर्मचारियों एवं और स्टाफ का प्रशिक्षण कराया जा चुका है ताकि कोविड 19 की वेक्सीन आते ही सभी को मुहैया कराई जा सके। कोविड वेक्सीन टीकाकरण में अन्य नियम निम्नलिखित होंगे। इसमें वीवीएम नहीं लगा होगा। एक वार वेक्सीन ओपन होने के बाद दोबारा उपयोग नहीं की जाएगी। वेक्सीन आइस पैक में रखी जायेगी। दो वेक्सीन केरियर दिए जाएंगे। एक में वेक्सीन और एक में आइस पैक रखे जाएंगे। एक टीकाकरण कर्मी 100 लोगो को ही टीका लगाएगा। वेक्सीन 2 से 8 डिग्री के तापमान पर स्टोर की जाएगी।टीकाकरण स्थल पर तीन रूम आरक्षित रहेंगे। टीका लगने के बाद 30 मिनट तक वेटिंग रूम में रुकना होगा।कचरे का निस्तारण गाइड लाइन के अनुसार किया जायेगा। सभी रिपोर्ट ऑनलाइन कोविन एप्प्स पर उसी दिन की जाएगी।

Leave a Reply