ग्वालियर के 66 वार्डों में 10 हजार लोगों का कराया जाएगा कोरोना एंटी बॉडी टेस्ट

देश, राज्य

पवन परूथी, ग्वालियर (मप्र), NIT:

कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के साथ-साथ शहर के सभी 66 वार्डों में 10 हज़ार लोगों के कोरोना एंटी बॉडी टेस्ट भी कराए जायेंगे। इसके लिये 35 दल गठित कर प्रत्येक वार्ड में टेस्ट के लिये नमूने लिए जायेंगे। कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बुधवार को जयारोग्य चिकित्सालय एवं जिला अस्पताल मुरार में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिये की जा रही व्यवस्थाओं का निरीक्षण करते हुए यह बात बताई।
निरीक्षण के दौरान सीईओ जिला पंचायत श्री शिवम वर्मा, अपर कलेक्टर श्री आशीष तिवारी, अधीक्षक जयारोग्य चिकित्सालय डॉ. आर एस धाकड़, सीएमएचओ डॉ. अनिल शर्मा, सिविल सर्जन डॉ. डी के शर्मा उपस्थित थे।

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने निरीक्षण के दौरान कहा है कि कोरोना के लिये एंटी बॉडी टेस्ट का अभियान चलाया जायेगा। इसके लिये शहर के सभी वार्डों में गठित दलों के माध्यम से सेम्पलिंग का कार्य किया जायेगा। सेम्पलिंग के माध्यम से देखा जायेगा कि कोरोना की एंटी बॉडी कितने लोगों में निर्मित हुई है। उन्होंने सीएमएचओ एवं सिविल सर्जन को एंटी बॉडी टेस्ट के लिये 35 दल गठित करने के निर्देश दिए हैं।
कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने अधीक्षक जयारोग्य चिकित्सालय डॉ. धाकड़ को निर्देशित किया कि सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल में अग्नि दुर्घटना से जो नुकसान हुआ है उसे पुन: व्यवस्थित करने की कार्रवाई तत्परता से की जाए। इसके साथ ही कोरोना संक्रमण से पीड़ित व्यक्तियों के उपचार के लिये सुपर स्पेशिलिटी की सभी व्यवस्थाओं को चाक-चौबंद किया जाए।
कलेक्टर श्री सिंह ने यह भी निर्देश दिए हैं कि आगामी दिनों में कोरोना संक्रमण की संभावनाओं को देखते हुए शासकीय अस्पतालों के साथ-साथ निजी अस्पतालों में भी कोरोना उपचार की जो व्यवस्थायें पूर्व में की गई थीं।
कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने मुरार जिला अस्पताल का भी निरीक्षण किया। अस्पताल परिसर में निर्मित की गई हैल्प डेस्क की व्यवस्थाओं को देखकर सिविल सर्जन के प्रति नाराजगी व्यक्त करते हुए कलेक्टर ने निर्देशित किया है कि हैल्प डेस्क को बेहतर बनाया जाए।

Leave a Reply