स्कूली छात्राओं के नाम रहा बाल दिवस, मिशन शक्ति के तहत छात्राएं बनीं प्रतीकात्मक इंस्पेक्टर

देश, राज्य, समाज

सद्दाम हुसैन, लखनऊ (यूपी), NIT:

महिलाओं और स्कूली बच्चियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए लखनऊ ग्रामीण और कमिश्नरेट पुलिस ने अच्छी पहल करते हुए मिशन शक्ति के तहत अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस के मौके पर छात्राओं को थानों का अस्थाई प्रभारी निरीक्षक बनाकर उन्हें सम्मान दिया गया। लखनऊ ग्रामीण के 5 थानों में छात्राओं ने अस्थाई इंस्पेक्टर का पद संभाल कर न सिर्फ थाने पर शिकायतें लेकर आने वाले लोगों की शिकायतों का निस्तारण किया बल्कि बाजारों में और क्षेत्र में घूम कर लोगों को कोरोना वायरस के खतरे से आगाह करते हुए मास्क लगाने के लिए जागरूक भी किया। लखनऊ कमिश्नरेट के 4 थानों में छात्राओं को कुछ घंटों के लिए अस्थाई प्रभारी निरीक्षक बनाकर उनका मनोबल बढ़ाया गया।

लखनऊ ग्रामीण क्षेत्र अंतर्गत माल थाने में छात्रा श्रेया शुक्ला, निगोहा थाने में छात्रा नैना, बक्शी का तालाब थाने में प्रियंका, इटौंजा में अर्पिता और मलिहाबाद में मरियम हमीद को कुछ घंटे के लिए प्रभारी निरीक्षक नियुक्त किया गया। लखनऊ कमिश्नरेट के हजरतगंज थाने का चार्ज मिशन शक्ति के तहत जीडी गोयंका कालेज की छात्रा गार्गी द्विवेदी को दिया गया। इस दौरान गार्गी ने सबसे पहले थाने के समस्त पुलिसकर्मियों से मुलाकात कर उनका परिचय पूछा और उन्हें दिशा निर्देश देने के बाद गार्गी छठ के अवसर पर घाट पर लगने वाले मेले का निरीक्षण करने पहुंची। बाजार खाला में नवयुग रेडियंस काॅलेज की छात्रा समीक्षा दिवेदी को कुछ घंटों के लिए कोतवाल बनाया गया। समीक्षा ने इस दौरान थाने पर आई महिला की शिकायत सुनी और क्षेत्र में पुलिस की जीप पर बैठ कर दौरा करते हुए लोगों को मास्क लगाने के लिए जागरूक किया। गोसाईगंज थाने में नगराम की रहने वाली B.Ed की छात्रा करिश्मा वर्मा को अस्थाई इस्पेक्टर बनाया गया। इस दौरान राम नरेश की पत्नी मनीषा की तहरीर पर अस्थाई इंस्पेक्टर करिश्मा वर्मा के आदेश पर धारा 354, 352, 504 और 506 के तहत मुकदमा भी दर्ज किया गया। मुकदमा दर्ज करने के उपरांत करिश्मा वर्मा ने माल खाने का निरीक्षण किया साथ ही पुलिस की जीप में बैठकर क्षेत्र का भ्रमण कर लोगों को कोरोना वायरस के खतरे से आगाह करते हुए मास्क लगाने के लिए भी जागरूक किया। गाजीपुर थाने का चार्ज मिशन शक्ति के तहत आज सिटी मांटेसरी स्कूल की कक्षा आठ की छात्रा अमरतांशी को दिया गया। इस दौरान अमरतांशी ने थाने पर आने वाली शिकायतों को सुनकर उनका निस्तारण किया और पुलिस की जीप में बैठकर क्षेत्र का भ्रमण किया।

मिशन शक्ति के तहत महिलाओं और युवतियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए नवनियुक्त पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर द्वारा यह सम्मान देकर युवतियों को न सिर्फ अपनी सुरक्षा के लिए आत्म निर्भर बनाने का एक प्रयास किया गया बल्कि महिलाओं और बच्चियों को पुलिस के प्रति जानकारियां भी उपलब्ध कराई गई। मिशन शक्ति के तहत इंस्पेक्टर बनाई गई छात्राओं के चेहरे खुशी से दमक रहे थे। इंस्पेक्टर की कुर्सी पर आसीन अस्थाई इंस्पेक्टरों को थाने के पुलिसकर्मियों ने सैल्यूट कर उनका मनोबल भी बढ़ाया। पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर की इस पहल को काफी हद तक सराहा जा रहा है।

Leave a Reply