भ्रष्टाचारियों को जेल पहुंचाने में सीकर एसीबी दफ्तर के बढ़ते कदम

अपराध, देश, भ्रष्टाचार, राज्य

अशफाक़ कायमखानी, ब्यूरो चीफ, सीकर (राजस्थान), NIT:

हालांकि राजस्थान एसीबी में भारतीय पुलिस सेवा के सीनीयर अधिकारी एम एन दिनेश की तैनाती के बाद राजस्थान एसीबी ने प्रदेश में सरकारी सेवा में कार्यरत अधिकारी व कर्मचारियों के अलावा जनप्रतिनिधियों में से जो लोग भ्रष्टाचारी बन रहे हैं उन पर ब्यूरो ट्रेप की कार्यवाही करते हुये उन पर तेजी से शिकंजा कसने में सफल हो रहा है। हाल ही में एसीबी में डीजी पद पर भगवान लाल सोनी की तैनाती के बाद विभाग में और अधिक ठीक से समन्वय स्थापित होने से ट्रेप की कार्यवाही में लगातार इज़ाफा होता नजर आ रहा है। एसीबी के अधिकारियों में ठीक से समन्वय स्थापित होने के बाद पूरे प्रदेश की तरह अब एसीबी की सीकर चौकी की टीम द्वारा जिले व जिले के बाहर अन्य जिलों में भी जाकर कर्मियों को रिश्वत लेते रंगे हाथो गिरफ्तार करके भ्रष्टाचारियों को जेल पहुंचाने में कामयाबी पाई है।
सीकर एसीबी दफ्तर की टीम ने 12 नवम्बर को झूंझुनू जिले के गुडा गोड़जी थाने की भोड़की पुलिस चौकी के थानेदार रामस्वरूप ASI को पंद्रह हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ कर उसको सलाखों के पिछे भेजने का इंतजाम किया है। इससे पहले सीकर ब्यूरो की टीम ने ही नागौर जिले के मकराना नगर परिषद के आयुक्त को रिश्वत की राशि लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया था। इसी सीकर टीम ने श्रीगंगानगर जिले के रायसिंह नगर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को भी वहां जाकर गिरफ्तार किया था। इसके अतिरिक्त कल 12 नवम्बर को ही कोटा एसीबी ने परिवहन विभाग की बोर्डर रतनपुर चौकी के परिवहन विभाग के अधिकारियों व जयपुर के दूदू में जलदाय विभाग के इंजीनियर को पचास हजार की रिश्वत की राशि लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। आज झुंझुनूं जिले की चिड़ावा नगरपालिका की ईओ अनिल चौधरी को जयपुर एसीबी ने लाखों रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।
एसीबी की सीकर चौकी में तैनात उप पुलिस अधीक्षक जाकिर अख्तर के दिशा निर्देश व नेतृत्व में सीकर टीम ने जिले के बाहर जाकर भ्रष्टाचारियों पर नकेल कसने के अलावा सीकर में भी विभिन्न विभागों के भ्रष्ट कर्मियों को रिश्वत की राशि लेते रंगे हाथों गिरफ्तार करके उनको सलाखों के पीछे भेजने का काम किया है।
कुल मिलाकर यह है कि प्रदेश के तमाम जगह पर पिछले दिनों से एसीबी लगातार भ्रष्टाचारियों को ट्रेप करके उन्हें सलाखों के पीछे भेजने में सफल हो रही है। जिससे जनता में अच्छा संदेश जाना माना जा रहा है लेकिन फिर भी भ्रष्टाचारी अभी भी भ्रष्टाचार करने से बाज़ नहीं आ रहे हैं।

Leave a Reply