वन कर्मियों की मिलीभगत से महेशपुर रेंज में बिना परमिट तुकमी आम के पेड़ों का हो रहा है कटान

अपराध, देश, भ्रष्टाचार, राज्य

वी.के.त्रिवेदी, ब्यूरो चीफ, लखीमपुर-खीरी (यूपी), NIT:

पर्यावरण संरक्षण को लेकर गोष्ठी और हरे पेड़ लगाने के लिए आवाह्न के साथ पेड़ों की सुरक्षा के लिए वन विभाग द्वारा सतर्कता करने का दावा वन विभाग के मोहम्मदी महेशपुर रेज की बिलहरी बीट क्षेत्र में खोखला नजर आ रहा है। यहाँ लकडकट्टों द्वारा धड़ल्ले से बिना परमिट हरे पेड़ों का कटान करके पर्यावरण को क्षति पहुंचाया जा रहा है। क्षेत्र में दिन प्रतिदिन कटान हो रहे हैं और जिम्मेदार जान बूझकर कार्यवाही नहीं कर रहे हैं। इससे उनकी जिम्मेदारी पर भी सवालियां निशान लग रहा है।
फरधान थाना क्षेत्र के गांव कोरैय्या मुफरत, गोरखियन पुरवा ईटहा आदि गांवों में हरे पेड़ों का अवैध कटान बिना परमिट के हुआ था जिसकी शिकायत ग्रामीणों ने वनकर्मियों से की थी लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई। इससे लकडकट्टों के हैसले बुलंद हैं। शुक्रवार के दिन बिना परमिट कोरैय्या मुफरत मे तुकमी आम के पेड़ों का कटान हो रहा था जब कि सरकार ने तुकमी पेड़ों के कटान पर पाबंदी लगा रखी है। ग्रामीणों ने जिसकी शिकायत डीएफओ समीर कुमार से की थी लेकिन पूर्व की भांति इस बार भी कोई वनकर्मी देखने तक नहीं आया और बेखौफ लकडकट्टों ने चार पेड़ आम के काट कर लडकी ट्राली लाद ले गये। ग्रामीणों का कहना है कि कई बार वनकर्मियों को सूचना देने के बाद कोई कार्रवाई नहीं हुई। वन विभाग के द्वारा कार्रवाई के नाम पर दिखावा मात्र है। जिम्मेदारों की मिली भगत से ही बिना परमिट के पेड़ों का कटान होता है। क्षेत्र में धड़ल्ले से पेड़ों की कटान होने के बाद भी कार्रवाई नहीं होने से चर्चाओं का बाजार गर्म हो रहा है। लोगों का मानना है सब कुछ जानकर भी अनजान बने हुए हैं वनकर्मी । इस संबन्ध में रेजंर मोबीन आरिफ में ने बताया कि सूचना मिली है, वनरक्षक श्यामकिशोर शुक्ला को मौके पर भेजा है, कटान रुकवाकर सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी।

Leave a Reply