अल्पसंख्यक विकास कमेटी ने ईद मिलाद उन नबी के दिन शराब बंदी हेतु सौंपा ज्ञापन

देश, समाज

रहीम शेरानी/ अब्दुल कुद्दुस शेख, झाबुआ (मप्र), NIT:

अल्पसंख्यक विकास कमेटी झाबुआ के जिला अध्यक्ष सोहेल शेरानी और अल्पसंख्यक विकास कमेटी के सदस्यों द्वारा भारत सरकार से पैगम्बरे इस्लाम की यौमे पैदाइश (ईद मिलादुन्नबी) के मौके पर पूरे देश में एक दिन की शराब बंदी की मांग की गई है।
अल्पसंख्यक विकास कमेटी के सदस्यों द्वारा बताया गया कि भारत त्यौहारों का देश है, यहां पर विभिन्न धर्म जाति समुदाय तथा अलग अलग क्षेत्रों में भी अपने अपने त्यौहार बड़े धूमधाम से व आपसी भाईचारे से मनाते हैं।
उसी तरह ईद मिलादुन्नबी का पर्व भी मुस्लिम समाज का एक महत्वपूर्ण त्यौहार है जो पूरे विश्व को पैगम्बरे इस्लाम कि शिक्षाओं के द्वारा अमन, शांति व आपसी भाईचारे का संदेश देता है। पैगम्बरे इस्लाम ने अपनी पूरी जिंदगी मजलूमों की मदद की, रूढ़िवादियों को खत्म किया, बेटियों को सम्मान दिया, विधवा महिलाओं को समाज में उचित मान सम्मान दिलाया, यतीमों व गरीबों की मदद की, नशा, जुआ व सूदखोरी को हराम करार दिया। वह तो पूरी दुनिया के लिए रहमतुललिल आलमीन हैं। हम इस ज्ञापन के द्वारा भारत सरकार से मांग करते हैं कि मुस्लिम समाज की भावनाओं की कद्र करते हुए पैगम्बरे इस्लाम की यौमे पैदाइश (ईद मिलादुन्नबी) पर पूरे भारत में एक दिन की शराब बंदी की जाए तथा समूचे विश्व के लिए एक आदर्श पेश करें। जिसको लेकर अल्पसंख्यक विकास कमेटी के जिला अध्यक्ष सोहेल शेरानी ने अपनी टीम के साथ झाबुआ कलेक्टर कार्यालय में एसडीएम श्री मालवीय जी को ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर जिला उपाध्यक्ष शहादात खान पठान, तौकीर खान, राशिद खान, ताहिर शेख, कमालुद्दीन शेख, मोहम्मद जाफर गौरी, मोहम्मद हुसैन, अयान शेख आदि कार्यकर्ता मौजूद थे।

Leave a Reply