भाजपा की 15 वर्ष की सरकार में माफिया और मिलावटखोरों को खूब संरक्षण मिला, हमारी सरकार आने पर हमने माफिया और मिलावटखोरों के खिलाफ अभियान शुरू किया, माफिया- मिलावटखोर जानते हैं कि कमलनाथ को ना पटा सकते हैं और ना ही दबा सकते हैं: पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ

देश, राजनीति, राज्य

पंकज शर्मा, ब्यूरो चीफ, धार (मप्र), NIT:

आज धार जिले के बदनावर विधानसभा के नागझिरी में एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश में निवेश नहीं आता था विश्वास का माहौल नहीं था क्योंकि प्रदेश की पहचान माफियाओं और मिलावटखोरों से थी, भ्रष्टाचार से थी। भाजपा की 15 वर्ष की सरकार में माफिया और मिलावटखोरों को खूब संरक्षण मिला, मेरी सरकार आते ही हमने माफिया और मिलावटखोरों के खिलाफ व्यापक स्तर पर अभियान चलाया क्योंकि माफिया और मिलावट खोर जानते थे कि कमलनाथ को ना पटा सकते हैं और ना दबा सकते हैं। शिवराज कहते हैं कि जनता मेरी भगवान है लेकिन इनके असली भगवान माफिया और मिलावटखोर हैं।
श्री कमलनाथ ने कहा कि कांग्रेस की संस्कृति लोगों को जोड़ने की है, हम दिल जोड़ते हैं, संबंध जोड़ते हैं, समाज को जोड़ते हैं। बाबासाहेब आंबेडकर को ऐसे देश का संविधान बनाना था जहाँ विभिन्न भाषाएं, विभिन्न त्यौहार, विभिन्न जातियां थीं, विभिन्न बोलियाँ थीं।बाबासाहेब ने कभी सपने में नहीं सोचा होगा कि हमारे देश में इस तरह की बिकाऊ राजनीति आएगी कि सौदेबाजी हो जाएगी, लोग बिक जायेंगे और उपचुनाव कराना पड़ेंगे। भाजपा का बस चले तो पंचायत का चुनाव भी बोली लगाकर करा ले। चुनाव तो प्रजातंत्र का उत्सव होता है लेकिन यह तो सौदेबाजी का उत्सव है।
आज के युवाओं को आगे आकर प्रजातंत्र व संविधान की रक्षा करना है। 15 वर्ष बाद प्रदेश की जनता ने फैसला किया और प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनायी, 15 माह की सरकार में हमने अपनी नीति और नियत का परिचय दिया।
15 वर्ष बाद इन्होंने हमें ऐसा प्रदेश सौंपा जो किसानों की आत्महत्या, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, महिलाओं से अत्याचार में नंबर वन था। कौन सी चुनौती हमारे सामने नहीं थी, हमारी 70% अर्थव्यवस्था कृषि क्षेत्र पर निर्भर है। किसानों का जन्म कर्ज में होता है और मृत्यु भी कर्ज में होती है, हमने यह सब देखते हुए किसानो की कर्ज माफी की शुरुआत की। आप गवाह हैं हमने 27 लाख किसानों का कर्ज माफ किया। शिवराज कर्ज माफी को लेकर रोज झूठ बोलते रहे हैं, वे तो इतना झूठ बोलते हैं कि झूठ भी शर्मा जाए। मुझे लगा था कि 15 महीने घर बैठकर उन्होंने सबक सीख लिया होगा लेकिन वो अभी भी झूठ बोलने से बाज नहीं आते हैं। कभी कलाकारी करते हैं, कभी मंच पर घुटने टेक बैठ जाते हैं, कभी कहते हैं जनता मेरी भगवान है, अरे इन्हें तो मुंबई चले जाना चाहिए कई फिल्मी कलाकारों को यह कलाकारी में पीछे छोड़ देंगे।
इनकी सरकार में जितने उद्योग लगते नहीं थे उतने बंद हो जाते थे क्योंकि एक विश्वास का माहौल नहीं था, कोई निवेश करने को तैयार नहीं था। ये कहते हैं कि मैं किसान का बेटा हूँ और सबसे ज्यादा किसान आत्महत्या इन्हीं की सरकार में करते हैं। यह कहते हैं मैं मामा हूं और सबसे ज्यादा महिलाओं पर अत्याचार इन्हीं की सरकार में होते हैं।
आखिरकार शिवराज जी को विधानसभा में हमारी कर्ज माफी को स्वीकार करना पड़ा और हम वचनबद्ध हैं कि हमारी सरकार आने पर हम बाक़ी किसानों का भी 2 लाख तक का कर्ज माफ करेंगे। हमें किसानों को आर्थिक दृष्टि से मजबूत बनाना है। किसानों के साथ न्याय हो उन्हें उनकी उपज की अच्छी कीमत मिले, उनको मुआवजा मिले यह हमारा प्रयास है।
प्रदेश में अति वर्षा हुई लेकिन शिवराज सरकार में आज भी किसान मुआवज़े के लिए तरस रहे हैं। मुझे आज युवाओं की चिंता है, यही युवा प्रदेश के भविष्य का निर्माण करेंगे। हमारा प्रदेश 5 प्रदेशों से घिरा हुआ है, यह मैन्युफैक्चरिंग हब बन सकता है लेकिन शिवराज जी सिर्फ झूठ और गुमराह करने की राजनीति में ही लगे रहे, 15 हज़ार से अधिक घोषणाए उन्होंने कीं जो आज तक पूरी नहीं हुई। जहां जाते हैं घोषणा कर देते हैं, कुछ भी बोल देते हैं। पहले जेब में नारियल लेकर चलते थे अब जैसे-जैसे चुनाव करीब आते जा रहे हैं ट्रक में नारियल लेकर चल रहे हैं। इनके राज में प्रदेश सबसे ज्यादा मजदूरों के उत्पादन वाला प्रदेश बन गया, यह सारी तस्वीर आप सभी के सामने हैं।
श्री नाथ ने कहा कि प्रदेश में निवेश आए, युवाओं का भविष्य उज्जवल बने, किसानों को उचित दाम मिले इसको लेकर हमारी सरकार ने प्रयास किए।
मैंने मफ़ियाओं और मिलावटखोरों के खिलाफ अभियान चलाया, कौन सा पाप किया? किसानों का कर्ज माफ किया ,गौशाला बनवायी ,कौन सा गुनाह किया ? ₹100 में 100 यूनिट बिजली दी ,किसानों को आधी दर में बिजली दी , पिछड़े वर्ग को 27% आरक्षण दिया , कौन सी गलती की ?
3 नवंबर को यह तंबू-टेंट-मंच-झंडे नहीं रहेंगे लेकिन हमारे नौजवान और किसान यही रहेंगे , यह प्रश्न हम सभी सामने हैं कि नौजवानों का और किसानों का भविष्य क्या होगा ? इंदिरा गांधी जी और राजीव जी ने गरीब आदिवासी वर्ग की भलाई के लिए नीतियां बनाई ,कानून बनाया ,गरीब आदिवासी वर्ग की उन्होंने सदैव चिंता की।आप सभी को सतर्क रहना है कि इन चुनावों में भाजपा गुमराह करने का वह झूठ बोलने का काम करेगी लेकिन आपको तस्वीर देखकर सच्चाई का साथ देना है।यह चुनाव सच और झूठ का चुनाव है।
मुझे पूरा विश्वास है कि यदि आप सब ठान लेंगे तो मध्यप्रदेश की विधानसभा में कांग्रेस का झंडा लहराएगा , हम सब मिलकर एक नया इतिहास बनाएंगे। सभा को बदनावर के कांग्रेस प्रत्याशी श्री कमल सिंह पटेल ,पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया ,पूर्व मंत्री बाला बच्चन ,पूर्व मंत्री हनी बघेल ,विधायक पाचीलाल मीणा ,डॉ.हीरालाल अलावा ,प्रताप ग्रेवाल ,जिला कांग्रेस अध्यक्ष बालमुकुंद गौतम आदि ने संबोधित किया।

मंच पर जीपी सिंह ,अभिषेक सिंह ,मुजीब कुरैशी ,भारत सिंह ,हर्ष गहलोत ,मुरली मोरवाल ,कलावती भूरिया , कुलदीप बुंदेला ,मुकेश पटेल ,चंद्रभागा किराड़े ,वाल सिंह मीणा ,अशोक भाटी ,मनोज गौतम आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply