कई दिनों से लापता युवती का मिला शव, परिजनों ने पुलिस पर लगाया लापरवाही बरतने का आरोप

अपराध, देश, राज्य

वी.के.त्रिवेदी, ब्यूरो चीफ, लखीमपुर खीरी (यूपी), NIT:

पसगवां कोतवाली की पुलिस चौकी मोहम्मदपुर ताजपुर चौकी क्षेत्र के ग्राम मुड़िया चूड़ामणी निवासी राम सरन कुशवाहा की कई दिनों लापता लगभग 22 वर्षीय पुत्री का गांव से कुछ फासले पर स्थित गन्ने के खेत से रविवार शाम शव पाए जाने से पूरे गांव में सनसनी सी फ़ैल गयी है। घटना की सूचना पाते ही इंस्पेक्टर पसगवां व सीओ मौके पर पहुंचे। पुलिस ने तेजी दिखाते हुए शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। जिसका पोस्टमार्टम भी हो गया, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बलात्कार जैसी घटना को नाकार दिया, वहीं उसकी मौत कैसी हुई यह रहस्य बना हुआ है। जबकि शव की नाक, मुँह से खून बह रहा था, गर्दन व चेहरे पर खरोच के निशान थे। शव को किसी दूसरे स्थान से लाया गया प्रतीत हो रहा था, खेत में भी उसे कुछ दूरी तक घसीट कर डाला गया था जैसे निशान गीले खेत में मौजूद थे, मृतका की चप्पल, दुपट्टा दूर पड़ा था। उसकी हत्या क्यों और किसने की इसका उत्तर ना पुलिस दे रही है और ना परिवार वाले।
पसगवां क्षेत्र के ग्राम मुड़िया चूड़ामणी निवासनी 22 वर्षीय युवती की अपहरण उपरांत की गयी हत्या से मृतका का परिवार ही नहीं पूरा गांव दहशत में है।
शुक्रवार की शाम को युवती अपने खेत पर झाड़ू लेकर धान साफ़ करने गयी थी और वहीँ से लापता हो गयी थी। परिजनों, गाँव बालों एवं पुलिस ने उसको काफी तलाशा था। लेकिन उसका कोई सुराग नहीं लगा था। कल रविवार शाम 5 बजे के लगभग युवती का शव गाँव के ही अवतार के खेत में पाया गया, शव के कुछ दूरी पर उसकी चप्पलें तथा दुपट्टा पड़ा था, उसके गले में व मुँह पर चोटों के निशान थे जो शव फूल जाने के बाद भी साफ़ दिखाई दे रहे थे, मुँह और नाक से खून बह रहा था। शव की स्तिथि बता रही थी कि जिस दिन उसका अपहरण हुआ उसी दिन हत्या की गयी, हत्या का स्थान कहीं और हो सकता है खेत में शव को खींच कर लाने के निशान बने थे। स्थितियां और परिस्तिथियाँ बता रही हैं कि उसे किसी वासना के भेड़िये ने नोचने के बाद या नोंचने में उसके विरोध के बाद असफल रहने पर उसकी हत्या कर दी और शव को अवतार के पानी भरे गन्ने के खेत में लाकर डाल दिया गया।
शव मिलने कि सूचना पाते ही पसगवां कोतवाली प्रभारी आदर्श कुमार सिंह, सी०ओ० अभय प्रताप मल दल बल के साथ घटना स्थल पर पहुंच गए और घटना स्थल तथा आस-पास का मुआयना किया। तथा मृतका के परिजनो तथा गाँव बालो से अलग-अलग बातचीत की। घटना स्थल का फॉरेंसिक टीम के सबूत जुटाने के प्रयास किये जाने चाहिए थे जो नही किये गए। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम भेजने में जितनी तेजी दिखाई उतनी तेजी हत्या क्यों और किसने की के सबूत जुटाने में नहीं की गयी। मृतका का पोस्टमार्टम भी आनन्-फानन हो गया और पी०एम० रिपोर्ट की कॉपी भी आ गयी। जिसके सम्बन्ध में पुलिस का कहना है उसके साथ रेप जैसी घटना घटित नहीं हुई। चोटें कैसे आयी, नाक-मुँह से खून क्यों निकला कि स्थित भी साफ नहीं वो मरी कैसे ये भी पुलिस नहीं बता रही। जैसे रिपोर्ट पुलिस कि मंशा के अनुरूप बनी हो ताकि मृतका कि मौत पर हो हल्ला न हो सके। बलात्कार एवं हत्याओं से भरे उत्तर प्रदेश में युवती की मौत भी आग में घी का काम ना करे, परिवार जन तथा गाँव बाले भी पुलिस के द्वारा बताई गयी जानकारी पर पी०एम० रिपोर्ट पर उंगली उठा रहे हैं। फिलहाल शिल्पी की मौत पर पी०एम० रिपोर्ट भी पर्दा नहीं उठा सकी वहीँ पुलिस भी अंधेरे में हाँथ पैर चलाकर हत्यारे को खोजने का प्रयास कर रही है। लेकिन हाथ खाली हैं।
शिल्पी की मौत से उसके परिवार में कोहराम सा मचा है| गाँव में भी सन्नाटा सा छाया है। मृतका के परिजनो के द्वारा पुलिस की कार्यशैली पर लापरवाही व घटना को मोड़ने का आरोप लगाया जा रहा है। तथा शीघ्र ही घटना का खुलासा करते हुए अभियुक्त या अभियुक्तों को गिरफ्तार करने की मांग की जा रही है।
इस सनसनी खेज घटना की जानकारी होते ही सपा के बरिष्ठ नेता पूर्व जिला अध्यक्ष क्रांति कुमार सिंह, जिला कार्यकारणी सदस्य डा० जुबैर अहमद, नगर अध्यक्ष इकरार खां, युवा नेता मोनिश अंसारी सहित तमाम लोग मृतका के घर पहुंचे और पूरे परिवार से मिलकर उन्हें सांत्वना देते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी उनके साथ है आपके साथ न्याय होगा जिसके लिए पार्टी हर प्रकार से तैयार है।

Leave a Reply