प्रत्येक मनुष्य को अपने जीवन में सामाजिक कार्य करने चाहिए: आचार्य लक्ष्मीकांत शास्त्री

देश, राज्य, समाज

साबिर खान/ विनोद दीक्षित, मथुरा/लखनऊ (यूपी), NIT:

आज मथुरा चंद्रपुरी में आयोजित श्रीमद् भागवत कथा के आयोजन के दौरान व्यासपीठ से आचार्य लक्ष्मी कांत शास्त्री के द्वारा सभी लोगों से आह्वान किया कि मनुष्य का जीवन 8400000 योनियों भोगने के बाद मिलता है इसलिए इससे व्यर्थ ना गवाएं, सभी लोगों को अपने मनुष्य होने का गर्व होना चाहिए और ऐसे कार्य करने चाहिए जो कि मनुष्य जाति के लिए प्रेरणा स्रोत होने चाहिए। उन्होंने उत्तर प्रदेश की एकमात्र संस्था ब्रज यातायात एवं पर्यावरण जन जागरूकता समिति के कार्यो की प्रशंसा करते हुए सभी सदस्यों को अपना आशीर्वाद। आचार्य लक्ष्मी कांत शास्त्री जी के द्वारा 13 अक्टूबर को लगने वाले रक्तदान शिविर में लोगों से बढ़-चढ़कर रक्तदान करने की अपील के साथ अपने से कमजोर इंसान और जानवरों के लिए काम करने के साथ सामाजिक कार्यों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने का अनुरोध किया।

इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष विनोद दीक्षित, प्रदेश मीडिया प्रभारी हेमंत अग्रवाल के द्वारा संयुक्त रुप से आचार्य लक्ष्मीकांत शास्त्री को समिति की तरफ से सम्मानित किया गया। श्रीमद् भागवत कथा के दौरान लोगों को सोशल डिस्टेंस का पालन करवाते हुए जिन लोगों ने मास्क नहीं लगा रखे थे उन लोगों को ब्रज यातायात एवं पर्यावरण जन जागरूकता समिति के प्रदेश अध्यक्ष विनोद दीक्षित की तरफ से दिए गए। श्रीमद् भागवत कथा के दौरान श्रीमती सुमन लता अग्रवाल, जगदीश प्रसाद अग्रवाल, कृष्ण गोपाल अग्रवाल, भूपेंद्र अग्रवाल, सत्यनारायण अग्रवाल, ज्योति, बंसल, शौर्य, आर्यमान, दिव्यांश बंसल, वंशिका, यशिका, वान्या, पावनी, प्रिया आदि मुख्य रुप से उपस्थित रहे।

Leave a Reply