प्रधान द्वारा अधिकारियों की मिलीभगत से प्रधानमंत्री आवास व शौचालय योजना में जमकर किया जा रहा है बंदरबांट

देश, भ्रष्टाचार, राज्य

वी.के.त्रिवेदी, सीतापुर (यूपी), NIT:

सीतापुर जिला के विकासखंड बेहटा तहसील लहरपुर के अंतर्गत ग्राम सिड़किड़ा में ग्राम प्रधान व ग्राम पंचायत अधिकारी की कमाई की जरिया बनी हुई है प्रधानमंत्री आवास व शौचालय योजना। जहां पर एक तरफ केंद्र व राज्य सरकार गरीबों को प्रधानमंत्री आवास व शौचालय योजना के तहत धन उपलब्ध करा रही है वहीं सरकार की महत्वाकांक्षी योजना आज ग्राम प्रधान व ग्राम पंचायत अधिकारी के लिए खाने और कमाने का जरिया बन गया है। प्रधानमंत्री आवास पाने वाले लाभार्थी का कहना है की प्रधान द्वारा ₹20000 आवास के नाम पर ले लिए गए हैं जिससे कि आवास पूर्ण तरह से नहीं बन पाया है। वहीं प्रधान द्वारा शौचालय में जमकर घोटाला किया गया है, शौचालय की स्थिति तो ऐसी है की उसको देख कर तो ऐसा लगता है कि शौचालय कम से कम खर्च में केवल नाम के लिए बना दिए गए हैं। शौचालय मिलने वाले लाभार्थी का कहना है कि शौचालय में ना ही गड्ढा है और ना ही फर्श है। सूत्रों से मिली जानकारी की अनुसार ग्राम वासियों का कहना है कि किसी के खाते पर शौचालय का पैसा नहीं आया था प्रधान द्वारा ठेकेदारी से शौचालय बनवाए गए हैं जो कि कम से कम लागत में बने हुए हैं। वहीं ग्रामवासी प्रमोद कुमार पुत्र राजाराम, रामप्यारे मिश्रा पुत्र गोकरन प्रसाद, अमरेश पुत्र रामचरित, किरन देवी पत्नी गिरधर गोपाल का कहना है कि प्रधान जी से कहने पर कोई भी सुनवाई नहीं होती है बस यही कह कर टाल दिया जाता है की बहुत जल्द आप लोगों का कार्य हो जाएगा। जानकारी के अनुसार ग्राम वासी बहुत ही परेशानी झेल रहे हैं जिसका कोई भी समाधान नहीं किया जा रहा है। जानकारी के अनुसार कुछ लाभार्थी ऐसे हैं जो कि आवास के पात्र हैं और उन्हें आवास अभी तक नहीं मिला है। लोगों का कहना है कि आखिर कब तक प्रधान गरीबों का हक मारते रहेंगे?

Leave a Reply