मेघनगर एसडीएम ने सामुदायिक स्वास्थ केंद्र का किया औचक निरिक्षण, फीवर क्लिनिक को दुरुस्त करने के दिये निर्देश, पार्किंग और स्वच्छता में कमी पर जताई नाराजगी

देश, राज्य, समाज, स्वास्थ्य

रहीम शेरानी, ब्यूरो चीफ, झाबुआ (मप्र), NIT:

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को लेकर झाबुआ जिला प्रशासन सख्त नजर आ रहा है। कलेक्टर रोहित सिंह के निर्देश पर मेघनगर एसडीएम एल. एन. गर्ग ने मेघनगर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान अस्पताल की व्यवस्थाओं का जायजा लिया गया। इस दौरान फीवर क्लिनिक रूम का भी निरीक्षण किया।
श्री गर्ग ने मेघनगर बी.एम.ओ. डॉ सेलक्सी वर्मा निर्देश दिए कि फीवर क्लिनिक रूम के बाहर सुरक्षा सूचना होर्डिंग दूरस्थ रखने की बात कही। सर्दी खांसी जुखाम होने वाले लोगों के लिए सुबह 8 से रात्रि 8 तक निरंतर सेवा चालू रखने की बात कही। इस दौरान जितने भी पेशेंट यदि अपनी कोरोना के स्टिंग कराने आएं तो उनका सेम्पल तुरंत लिया जाए। डॉ सेलक्सी वर्मा ने एसडीएम को पूरा हॉस्पिटल भ्रमण करवाया। डॉ शेलेक्सी वर्मा ने बताया कि एक राहत बात यह है कि मेघनगर में भी टेस्टिंग की रफ्तार से बढ़ रही है।

पहले कोरोना सवोब सैंपल को झाबुआ भेजना पड़ता था उसके बाद में इंदौर से रिपोर्ट आने का इंतजार करना पड़ता था जिसमें 2 से 3 दिन लग जाते थे लेकिन अब रैपिड एंटीजन किट को कोराना वायरस की टेस्टिंग शुरू कर दी है जिससे मात्र 30 मिनट में हम मरीज की रिपोर्ट देख सकते हैं। इस किट को ‘मायलैब डिस्कवरी सॉल्यूशंस’ की ओर से तैयार किया गया है जिसमें हाल फिलहाल चार टेस्ट किए हैं जिसमें चारों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। वर्तमान में मेघनगर से 1782 सैंपल लिए गए, 80 लोग पॉजिटिव पाए गए वहीं 98 लोगों की रिपोर्ट पेंडिंग है जिसमें वर्तमान में 10 केस एक्टिव हैं।अब एंटीजन किट से रिपॉर्ट में तेजी का लाभ निश्चित रूप से मिलेगा।

अवस्थाओं पर नाराज़ नजर आए एस.डी.ए

निरीक्षण के दौरान एसडीएम एल एन गर्ग ने स्वच्छता की दिशा में और बेहतर कार्य करने के निर्देश दिए जिससे मरीज को किसी प्रकार की तकलीफ ना हो साथ ही पार्किंग व्यवस्था को सुधार कर सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए। कोरोना के संभावित मरीजों व डॉक्टरों को भी मॉनिटरिंग के लिए ‘सार्थक‘ मोबाइल एप के साथ क्वारेंटीन किए गए सभी संभावित मरीज और कोरोना पॉजिटिव मरीजों को इस एप पर रजिस्टर कर उनकी रोज मॉनिटरिंग की बात कही गई।श्री गर्ग ने कहा कि इसमें होम क्योरेंटाइन व्यक्ति की यूजर आई.डी. बनाकर उसका रजिस्ट्रेशन किया जाए। साथ ही एप से व्यक्ति की जियो मैपिंग होगी और उसकी गतिविधियाँ भी चिन्हित की जाए कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की हेल्थ रिपोर्टिंग भी सार्थक एप के ज़रिए होगी। एसडीएम ने तत्काल प्रभाव से व्यवस्थाएं सुधारने का निर्देश दिया है।

Leave a Reply