आदिम जाति विभाग से शिक्षा विभाग में मर्ज होंगे अध्यापक

देश, राज्य

पियूष मिश्रा, ब्यूरो चीफ, सिवनी (मप्र), NIT:

आज़ाद अध्यापक शिक्षक संघ का एक प्रतिनिधि मंडल ने प्रांताध्यक्ष श्री भरत पटेल के नेतृत्व में प्रदेश के शिक्षा मंत्री श्री इंद्रर सिंह परमार से मिले और उन्हें अध्यापक शिक्षक संवर्ग की वर्तमान ज्वलंत समस्याओं और मांगो से अवगत कराया।
संघ के जिलाध्यक्ष कपिल बघेल ने बताया कि अध्यापक शिक्षकों की बारह वर्ष की सेवा पूर्ण कर चुके अध्यापक शिक्षकों को क्रमोन्नत वेतनमान प्राप्त नहीं हो रहा है। सरकार का स्पष्ट निर्देशों के बावजूद जिन शिक्षकों कि बारह वर्ष की सेवा अवधि पूर्ण हो गई है उनके क्रमोन्नति के आदेश जारी नहीं हुए हैं. इसी प्रकार की अन्य विभिन्न मांगों में अध्यापक शिक्षक संवर्ग को भी अंशदाई पेंशन योजना के स्थान पर पूरानी पेंशन लागू करना। अध्यापक शिक्षक संवर्ग को भी राज्य के अन्य कर्मचारियों की भांति छठवें वेतनमान की लंबित एरीयर्स राशि की तृतीय क़िस्त का भुगतान किया जाने। विगत वर्षों में मृत अध्यापक शिक्षक संवर्ग के आश्रितों के लंबित अनुकंपा नियुक्ति के मामलों को वर्तमान में लागू अनुकंपा नियुक्ति के नियमों को शिथिल करते हुए हजारों लंबित अनुकंपा नियुक्ति के प्रकरणों का निराकरण किया जाने। अध्यापक संवर्ग से शिक्षक सेवा में शामिल होने वाले नवीन शिक्षक संवर्ग के 2006,2007 एवं 2008 के पूर्व में नियुक्त संविदा शाला शिक्षक/ अध्यापक संवर्ग संवर्ग की क्रमश: 2018, 2019 एवं 2020 में 12 वर्ष की अवधि पूर्ण करने वाले प्राथमिक शिक्षक, माध्यमिक शिक्षक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षकों के आदिम जाति कल्याण विभाग एवं स्कूल शिक्षा विभाग के वर्तमान विभागीय नियुक्ति का अधिकारियों के द्वारा क्रमोन्नत वेतनमान के नियमानुसार आदेश जारी करवाते हुए क्रमोन्नति वेतनमान का लाभ दिया जाने । मध्य प्रदेश में कार्यरत आदिम जाति कल्याण विभाग के अध्यापक शिक्षक संवर्ग को स्कूल शिक्षा विभाग में मर्ज किया जाने। स्कूल शिक्षा विभाग एवं आदिम जाति कल्याण विभाग में कार्यरत उच्च माध्यमिक/व्याख्याता को प्राचार्य पद पर, माध्यमिक शिक्षक/उच्च श्रेणी शिक्षक को उच्च माध्यमिक/ व्याख्याता पद पर, प्राथमिक शिक्षक/सहायक शिक्षक को माध्यमिक शिक्षक/उच्च श्रेणी शिक्षक के पद पर भर्ती के नियमानुसार विभाग में 50% पदोन्नति के रिक्त पदों पर पदोन्नति प्रदान की जावे। वर्तमान कोरोना संक्रमण काल को ध्यान में रखते हुए दूरस्थ जिलों में पदस्थ अध्यापक/शिक्षक संवर्ग को रिक्त पदों पर स्वैच्छिक स्थानांतरण का लाभ दिया जाए जावे। अध्यापक शिक्षक संवर्ग को जुलाई में मिलने वाली वार्षिक वेतन वृद्धि में लगी रोक को बहाल किया जाने। आदि को लेकर आज़ाद अध्यापक शिक्षक संघ प्रतिनिधि मंडल प्रदेश के शिक्षा मंत्री श्री इंद्र सिंह परमार जी मिला। शिक्षा मंत्री जी ने सभी समस्याओं को ध्यान पूर्वक सुना और शीघ्र निराकरण का आश्वाशन दिया है।

Leave a Reply