धौलपुर पुलिस अधीक्षक केसर सिंह शेखावत द्वारा जिले के पुलिसकर्मियों के बच्चे-बच्चियों को कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में कामयाब होने लायक बनाने के लिए पुलिस लाइन में चलाई गई निःशुल्क कोचिंग

देश, राज्य, समाज

यूसुफ खान, ब्यूरो चीफ, धौलपुर (राजस्थान), NIT:

पुलिसकर्मियों के बच्चे-बच्चियों को आगामी कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में कामयाब होने लायक बनाने के लिए पुलिस अधीक्षक केसर सिंह शेखावत द्वारा पुलिस लाइन धौलपुर में दिनांक 04.08.2020 से शुरु कराई निःशुल्क कोचिंग व्यवस्था का महानिरीक्षक पुलिस भरतपुर रेंज, भरतपुर संजीव कुमार नर्जरी ने अवलोकन कर बच्चे-बच्चियों को सफलता प्राप्त करने के गुर बताये। इस अवसर पर उन्होंने पुलिस अधीक्षक केसर सिंह शेखावत द्वारा जिले के पुलिसकर्मियों के बच्चे-बच्चियों के लिए शुरु कराई गई इस अनूठी पहल की सराहना करते हुए इस पहल को अन्य जिलों के लिए अनुकरणीय उदाहरण बताया इसके साथ ही महानिरीक्षक पुलिस ने रेंज के अन्य जिलों में इस प्रकार की कोचिंग की शुरुआत कराने की बात भी कही। इस दौरान उन्होंने कोचिंग में अध्ययनरत जिले के पुलिसकर्मियों के बच्चे-बच्चियों को प्रतियोगी परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के गुर बताते हुए कहा कि जिनके स्कूल के पढाई के दौरान 45-50 प्रतिशत नम्बर आये हो उन्हें घबराने की जरूरत नहीं है अगर वे मेहनत करेगें तो निश्चित तौर पर प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता हासिल कर सकते है, सफलता प्राप्त करने के लिए तनाव रहित होकर मेहनत करनी चाहिए। पढाई के साथ-साथ खेलकूद एवं अन्य मनोरंजन गतिविधियों में भाग लेकर बेहतर परिणाम प्राप्त किए जा सकते है। इसके साथ ही उन्होंने बच्चे-बच्चियों को सफलता प्राप्त करने के लिए जीवन में (10+8+6) का फार्मूला अपनाने की सीख दी जिसके अन्तर्गत 10 घंटे पढाई, 8 घंटे नींद व 6 घंटे अन्य दैनिक कार्यों में समय विभाजन कर वांछित सफलता प्राप्त की जा सकती है। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक केसर सिंह शेखावत ने बताया है कि ड्यूटी में बिजी होने के कारण पुलिस के अफसर और जवान अपने बच्चों की पढ़ाई पर ध्यान नहीं दे पाते। विभागीय अफसरों और जवानों की इस मजबूरी को ध्यान में रखते हुए पुलिस लाइन में नि:शुल्क कोचिंग क्लास की शुरुआत कराई गई है। जिले के कुल 150 पुलिसकर्मियों के बच्चे-बच्चियों ने कोचिंग के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है जिनको 50-50 के तीन बैच में बांटा गया है, प्रतिदिन सुबह 5:45 बजे से सभी को आउटडोर का सामूहिक अभ्यास कराया जा रहा है। फिर उसके बाद क्रमशः 7:00 से 10:00, 11:00 से 2:00 एवं 2:00 से 5:00 बजे तक तीनों बैचो में पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के सिलेबस के अनुसार कोचिंग कराई जा रही है। इस कोचिंग व्यवस्था के शुरु होने से जिले के पुलिसकर्मियों और उनके बच्चे-बच्चियों में विशेष उत्साह है। ये कोचिंग निश्चित तौर पर जिले के बच्चे-बच्चियों के सपनों को साकार करने में सहायक साबित होगी।

Leave a Reply