समनापुर साहजू राशन दुकान विक्रेता को हटाने की मांग को लेकर ग्रामीणों ने रैली निकाल व ज्ञापन सौंप एसडीएम व विधायक हर्ष यादव से की मांग

देश, भ्रष्टाचार, राज्य, समाज

त्रिवेंद्र जाट, देवरी/सागर (मप्र), NIT:

मध्यप्रदेश के सागर जिले की तहसील देवरी के ग्राम समनापुर साहजु में राशन दुकान के विक्रेता जितेन्द्र पटेरिया द्वारा ग्राम सर्रा दलपत ग्राम पुरेना चौकी ग्राम समनापुर साहजु आदि ग्रामीणों के राशन सामग्री में करीब 6 माह के राशन को पचाकर भ्रष्ट्राचार कर राशन न वितरित करने व दलित वर्ग के गरीब ग्रामीणों के साथ अभद्र व्यवहार करने, राशन सामग्री तौल में कम राशन देने, महीने में एक बार दुकान खोलना व पर्ची सदस्य अनुसार राशन न देने, ग्रामीणों को भाजपा सरकार होने की धमकी देने, ग्रामीणों का राशन बंद करवाने की धमकी देने आदि शिकायतों को लेकर समस्त ग्रामीण जन सैकड़ों की संख्या में एकत्रित होकर देवरी विधायक हर्ष यादव के निवास कार्यालय पर सोमवार को पहुंचे व उनको विक्रेता द्वारा राशन म भ्रष्ट्राचार करने व दलित वर्ग के लोगों से अभ्रदता करने आदि मामलों की शिकायत की गई जिसको सुनकर विधायक हर्ष यादव भी सैकड़ों ग्रामीणों के साथ रैली में शामिल हुये व रैली मुख्य मार्ग से होते हुये रैली में ग्रामीण जन द्वारा विक्रेता के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगा कर एसडीएम ऑफिस परिसर पहुँचकर देवरी एसडीएम आर के पटेल को ज्ञापन सौपा गया|

ज्ञापन में ग्रामीणों द्वारा मांग की गई की राशन दुकान विक्रेता जितेन्द्र पटेरिया पर राशन सामग्री में भ्रष्ट्राचार करने को लेकर शीघ्र कार्यवाही की जाये एवं गरीबों का राशन वितरित किया जाये| यदि तीन दिन में विक्रेता को हटाने की कार्यवाही नहीं हुई तो समस्त ग्रामीण जन एवं विधायक हर्ष यादव धरना देकर अनिशचित कालीन भूख हड़ताल करने पर विवश होंगे जिसका जिम्मेदार प्रशासन स्वयं होगा साथ ही ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि कई बार यहाँ की लापरवाही भ्रष्टाचार की खबर भी प्रकाशित की गई व ग्रामीणों द्वारा शिकायतें भी की गईं मगर आज तक कार्यवाही नहीं हुई| ग्रामीणों ने कहा कि विक्रेता भाजपा के नेता है तो धमकी देते हैं कि उनकी सरकार है तो क्या भाजपा सरकार गरीबों की सरकार नहीं है? क्या मंत्री, मुख्यमंत्री जी कोई कार्यवाही करेंगे या अपनी सरकार को बदनाम करने वाले भाजपा के छुट पैया नेता को महत्व देते रहेंगे? अब पूरा मामला खाद्य मंत्री व कलेक्टर, एसडीएम तक पहुंच चुका है व ग्रामीणों के आधार पर भ्रष्टाचार की सच्चाई सामने भी आ चुकी है फिर भी बार बार जांच के नाम पर मामले को दबाने का कार्य किया जा रहा है और पूरा मामला स्पष्ट होने पर भी कार्यवाही नहीं की जा रही है| भाजपा नेता ही विक्रेता है जो गरीब महिलाओं व दलित वर्ग के लोगों के साथ अभद्र व्यवहार करते हैं वही दूसरी ओर भाजपा के मुख्यमंत्री व संबंधित विभाग के मंत्री गरीबों के हितैशी बनते हैं, महिलाओ का सम्मान करने की बात करते हैं फिर क्या अपने ही छुटपेया नेता पर कार्यवाही करवाएंगे या भ्रष्टाचार पर वाह वाही देंगे? देखते हैं कि भ्रष्टाचार पर कार्यवाही होगी या ग्रामीणों को अनिश्चित कालीन भूख हड़ताल करना ही पडेगा| ज्ञापन सौपने वालों में समस्त ग्रामीण जन बडी़ संख्या में उपस्थित रहेl

Leave a Reply