ट्रेन में फंसे यात्रियों की मदद करने पर पूर्व कैबिनेट मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस दीदी ने सभी सेवा भावियों का माना आभार

देश, राज्य, समाज

मेहलका अंसारी, बुरहानपुर (मप्र), NIT:

आज जब पूरा देश कोरोना के संकट से लड़ रहा है ऐसे में अपने घरों की ओर लौट रहे 15000 यात्रियों, श्रमिकों की 12 ट्रेनें ट्रैफिक कंट्रोल के कारण खंडवा-बुरहानपुर के बीच फंस गई। तपती दोपहर में फसें हुए यात्रियों की मदद के लिए बुरहानपुर की संस्थाओं और स्वयंसेवी संगठनों ने प्रशासन के साथ मिलकर तत्परता से मानवीय कार्य किया है।कृषि उपज मंडी बुरहानपुर ने 2500 केरेट बुरहानपुर स्टेशन एवं 2500 केरेट आसीरगढ़ स्टेशन पहुँचाये, प्रशासन ने पेयजल और 3 हजार बिस्किट के पैकेट तथा गुरूद्वारा के सदस्यों ने छोले एवं पुड़ी के 1500 पैकेट तैयार किये, जिले में स्थापित सेन्ट्रल किचन सेड के माध्यम से ढाई हजार भोजन के पैकेट तैयार किये जा रहे हैं। वही ग्राम निंबोला के ग्रामीणजनों द्वारा राम-रोटी बनाकर यात्रियों के लिए उपलब्ध कराए गए। साथ ही 250 किलो चावल, ग्राम झिरी व चुलखान द्वारा 50-50 किलो चावल की खिचड़ी तैयार कर यात्रियों को दी गई। लॉर्डस चेरीटैबल ट्रस्ट कपिल सौमैया एवं दरगाह-ए-हकिमी ने यात्रियों के लिए 2-2 हजार भोजन पैकेट वितरित किए, मारवाड़ी युवा मंच की ओर से खारी रोस्ट पैन, रेल्वे की ओर से 3 हजार पानी की बोतल, बिस्किट, नमकीन उपलब्ध करवाया गया एवं अन्य दानदाताओं के द्वारा भी केले बिस्किट एवं चिप्स के पैकेट वितरित किए गए।
वही असीरगढ़ स्टेशन में पंचायत संरपच की तरफ से 30 कैरेट केले कि व्यवस्था, साथ ही ग्रामीणजनों की मदद से खिचड़ी के पैकेट तैयार कर प्रवासी श्रमिक भाइयों को दिए गए। श्रीमती चिटनीस ने सभी सेव भाभियों का आभार माना है।

Leave a Reply