भ्रष्ट अधिकारी शिवराज सरकार को कर रहे हैं बदनाम, शौचालय निर्माण में अनियमितता का आरोप

देश, भ्रष्टाचार, राज्य

रहीम शेरानी, ब्यूरो चीफ, झाबुआ (मप्र), NIT:

स्वच्छ भारत मिशन के तहत पूरे देश के शहरी एवं ग्रामीण इलाकों में शौचालय निर्माण कर पूर्ण रूप से बाहर शौच मुक्त करने के लिए देश के प्रधानमंत्री द्वारा एक अभियान चलाया गया और लोगों को जागरूक करने के लिए करोड़ों रुपए विज्ञापन पर खर्च भी किए गए।
वहीं आदिवासी बाहुल्य झाबुआ जिले की जनपद पंचायत मेघनगर के अंतर्गत ग्राम पंचायत मदरानी में अभी बने नवीन शौचालय निर्माण में अनियमितता एवं भ्रष्टाचार संबंधित शिकायत की जाँच हेतु मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत झाबुआ द्वारा जाँच दल का गठन किया गया।

वहीं जाँच दल जनपद मेघनगर में पहुँच कर ग्राम पंचायत मदरानी के लिए रवाना हुआ लेकिन रास्ते में पता नहीं की जाँच दल के दो सदस्य कहाँ उड़न छू हो गए अब यह भी जाँच का विषय हो गया जाँच दल में झाबुआ से लेखाधिकारी जिला पंचायत झाबुआ, जिला ऑडिटर मनरेगा जिला पंचायत व ब्लाक समन्वयक स्वच्छ भारत मिशन ग्राम जनपद मेघनगर को बनाया गया था लेकिन जब हम जनपद सीईओ वीरेन्द्र रावत और मदरानी सचिव शांतिलाल कतीजा एवं ब्लाक समन्वयक स्वच्छ भारत मिशन ग्राम पंचायत मेघनगर और रोजगार सहायक के साथ पंचायत मदरानी पहुँचे और देखा कि मदरानी में 57 शौचालयों बनाये गये जिसमें से 48 शौचालयों का भुगतान हो चुका हैं शेष 09 शौचालयों का सत्यापन नही होने से भुगतान अभी बाकी हैं।
वही सभी शौचालये हितग्राहियों द्वारा ही बनाये गये हैं और जिनकी गुणवत्ता अच्छी देखने को मिली हैं और हितग्राहियों द्वारा शौचालय का उपयोग भी किया जा रहा हैं।
वह बाहर शौच करने नहीँ जा रहे।
वही अगर शिकयत की बात करे तो ग्राम पंचायत मदरानी में शौचायल निर्माण में अनियमितता की शिकायत किसके द्वारा की गई हैं। इसका हाल फिल्हाल में तो पता नहीं चला की ये शिकायत है या फिर द्वेषता पूर्वक कार्यवाही हैं लेकिन एक बात तो तय है की जाँच टीम गठित आदेश के साथ किसी भी प्रकार का शिकायती प्रतिवेदन आदेश की प्रति के साथ नहीं था। जो इस बात को स्पस्ट करता हैं कि अधिकारी द्बारा सरपँच सचिव पर दबाव बनाया जा रहा हैं।

जनपद सीईओ का कहना है. में जिला जनपद सीईओ के सूचनार्थ के बाद जाँच टीम की एक सदस्य के साथ जाँच करने पहुँचा हु ओर मेरे द्वारा देखा गया की हितग्राहियों द्वारा शौचायल बहुत बढ़िया बनाये गये हैं: जनपद सीईओ वीरेन्द्र रावत मेघनगर

यदि हमारे सचिव संगठन के किसी भी सचिव को बेवजह परेशान किया जायेगा तो हम ईंट का जवाब पत्थर से देंगे: सचिव संगठन ब्लाक अध्यक्ष तकेसिंह नायक।

Leave a Reply