सोशल मीडिया के माध्यम से मोमिन जमात बुरहानपुर के अध्यक्ष के चरित्र हनन का षड्यंत्र?

देश, राजनीति, राज्य

मेहलक़ा अंसारी, बुरहानपुर (मप्र), NIT:

इन दिनों सोशल मीडिया के प्लेटफॉर्म के माध्यम से मोमिन जमानत बुरहानपुर के अध्यक्ष के चरित्र हनन की एक सुनियोजित साजिश राजनीतिक आकाओं के इशारों पर जारी है। मोमिन जमात बुरहानपुर के अध्यक्ष माननीय कलेक्टर महोदय बुरहानपुर द्वारा आहूत मीटिंग में विगत दिनों शिरकत कर चुके हैं, जिस पर सोशल मीडिया के माध्यम से यह प्रश्न किया जा रहा है कि उन्होंने कलेक्टर द्वारा आहूत मीटिंग में किस हैसियत से शिरकत की और यह प्रश्न कतिपय ऐसे लोग उठा रहे हैं जिनका समाज में कोई स्थान या हैसियत नहीं है। जिस व्यक्ति ने सोशल मीडिया के माध्यम से इस प्रकार के प्रश्न किए हैं वह भूतकाल में ग्राम पंचायतों और सरकारी कंट्रोल की दुकानों के हवाले से विवादास्पद रहा है। जिला प्रशासन मोमिन जमात बुरहानपुर के अध्यक्ष को उनकी राजनीतिक, सामाजिक हैसियत के साथ मुस्लिम समाज की प्रतिनिधि सभा और एक जिम्मेदार नागरिक की हैसियत से उनको आमंत्रित करता है जिस पर प्रश्न उठाना उचित नहीं है। सियासी पंडितों का मानना है कि चूंकि मोमिन जमात बुरहानपुर के अध्यक्ष आगामी महापौर सहित अन्य संवैधानिक पद के लिए एक सशक्त उम्मीदवार हैं, उम्मीदवारी के दावेदार हैं एवं अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी नई दिल्ली के राष्ट्रीय महामंत्री एवं पूर्व राज्यसभा सांसद तथा मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री से उनका जीवंत एवं निरंतर संपर्क है इस राजनीतिक द्वेष भावना से कतिपय लोग सोशल मीडिया के माध्यम से अपने सियासी आकाओं और कुछ राजनीतिक प्रतिद्वंदी के इशारे पर मोमिन जमात बुरहानपुर के अध्यक्ष की छवि एवं चरित्र को को इस प्लेटफार्म के माध्यम से एक साजिश के तहत बदनाम करने का प्रयास कर रहे हैं।

Leave a Reply