राजनीतिक दबाव में सैकड़ों कर्फ्यू पास जारी करने एवं आम जनता से भेदभाव करने का जिला कांग्रेस कमेटी बुरहानपुर के अध्यक्ष ने लगाया आरोप

देश, राजनीति, राज्य, समाज

मेहलक़ा अंसारी, बुरहानपुर (मप्र), NIT:

जिला कांग्रेस कमेटी बुरहानपुर के अध्यक्ष अजय सिंह रघुवंशी ने राजनीतिक दबाव के चलते सैकड़ों कर्फ्यू पास जारी करने और जनता से भेदभाव करने का आरोप लगाते हुए एक पत्र कलेक्टर बुरहानपुर को प्रेषित करते हुए इसकी प्रतिलिपि मध्य प्रदेश के महामहिम राज्यपाल, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी दिल्ली की अंतरिम अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी, मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी भोपाल के अध्यक्ष श्री कमलनाथ एवं पूर्व प्रदेश अध्यक्ष श्री अरुण यादव को प्रेषित की है। जिला कांग्रेस कमेटी बुरहानपुर के अध्यक्ष अजय सिंह रघुवंशी ने कहा कि पूरे देश मे लॉक डाउन और कर्फ्यू जैसी स्थिति बनी हुई है। प्रधानमंत्री से लेकर सभी मुख्यमंत्री, कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी, प्रदेश कांग्रेस कमेटी भोपाल के अध्यक्ष मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ, पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं पूर्व प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष श्री अरुण यादव आम जनता को घर में रहने की अपीलें कर रहे हैं वहीं बुरहानपुर में इसका खुला उल्लंघन हो रहा है। जहां एक ओर पूरे जिले के आम नागरिक घर में बैठे हैं, घर से निकलने पर उन्हें पीटा जा रहा है वहीं दूसरी तरफ पूरे शहर की गली गली में भाजपाई और संघ के कार्यकर्ता खुलेआम घूमते नजर आ रहे हैं। प्रशासन उनसे सवाल तक नहीं कर रही कि वे किस काम से घूम रहे है? इसका मतलब ये है कि शासन होने का भरपूर लाभ इन्हें प्रदान किया जा रहा है। आम जनता अगर अस्पताल, मेडिकल, सब्जी, फ्रूट या खाने पीने की वस्तुएँ लेने भी निकल रहे है तो प्रशासन उन पर सख्ती से पेश आ रहा है और नेताओं के पीछे पीछे घूम कर उन की दुकानदारी जमाने में मदद कर रहे हैं।
एक ओर किसानों के साल भर की मेहनत फसल तैयार खड़ी है उन्हें खेत मे जाने नहीं दिया जा रहा, उनकी फसलों को मंडी लाने से रोका जा रहा है।
केले की फसल जो मात्र 5-6 दिन में खराब हो जाती है उसे भी बेचने नहीं दिया जा रहा है।
पावरलूम बुनकर मजदूरों को एडवांस मजदूरी की बात इसलिए नहीं की जा रही कि भीड़ होगी, भले वे भूखे मर जाएं। दूध वालों का, सब्जी वालो का समय भी तय है किन्तु इन भाजपाइयों का ही कोई समय तय नहीं है ये जब चाहें जहाँ चाहें जा सकते है। ये लोग अपने ही मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री के आदेशों का भी पालन नहीं कर रहे हैं और प्रशासन की नजर में इनका शहर में घूमना लॉक डाउन की श्रेणी में नहीं आता।
आम जनता जूते, डंडे खाये और भाजपाई इस मुसीबत की घड़ी में भी राजनीति से बाज नहीं आये।
पता चला है कि प्रशासन द्वारा इन भाजपाइयों औेर संघ कार्यकर्ताओं को सैकड़ों की संख्या में पास वितरित किये गए हैं।
इतने सारे लोगों के सड़क पर उतरने से प्रशासन भी इनका तो कुछ नहीं बिगाड़ पा रही, इसीलिए अपनी पूरी भड़ास आम नागरीक पर हाथ साफ कर रही है।
एक ओर रामनवमी जैसे त्योहार पर भी किसी को भी घर से निकलने की मंदिरों में जाने की इजाजत नहीं मिली, जुम्मे की नमाज के लिए मस्जिदे बन्द थी, लोगो ने घर में पढीं और हिन्दू भाईयों ने घर में पूजा करना स्वीकार किया किन्तु ऐसी घड़ी में भी भाजपा नेता दुकानदारी से बाज नहीं आये, पूर्व महापौर अनिल भोसले इत्यादि नेता अपना मोहल्ला छोड़ कर लालबाग़ राम मंदिर तक गए और लॉक डाउन के नियम को तोडा, फिर भी प्रशासन ने कुछ नहीं किया। जिला कांग्रेस कमेटी बुरहानपुर के अध्यक्ष श्रेया रघुवंशी ने कलेक्टर बुरहानपुर से निवेदन किया है कि जिले के सभी लोगों से समान व्यवहार किये जायें, जारी पासों को तुरंत निरस्त किये जाए अन्यथा आम जनता से भी प्रशासन को किसी प्रकार के सहयोग की अपेक्षा नहीं होकर उन पर सख्ती ना बरती जाए।

Leave a Reply