जमीअत उलमा मध्यप्रदेश भोपाल यूथ क्लब की टीम लगातार गरीबों में वितरण कर रही है भोजन

देश, राज्य, समाज

अबरार अहमद खान/मुकीज़ खान, भोपाल (मप्र), NIT:

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में जमीअत उलमा मध्यप्रदेश भोपाल यूथ क्लब की टीम ज़िला प्रशासन एवं उलमा हज़रात के निर्देशों का पालन करते हुऐ लगातार गरीबों में भोजन वितरण कर रही है । इस मौके पर NIT सावांददाता से हाजी मोहम्मद इमरान ने बात करते हुऐ कहा कि हमारी टीम लगातार ग़रीब निर्धन में भोजन वितरण का काम कर रही है। इसके इलावा कई ऐसे पशुओं को भोजन करवाया जिनके मालिकों ने इन्हें सड़कों पर छोड़ दिया है और खुद घरों में सुरक्षित हैं। हम इस पोर्टल के माध्यम से लोगों से अपील कर रहे हैं कि अगर आप अति आवश्यक कार्य के लिए अपने घरों से जा रहे हैं तो कुछ न कुछ इन पशुओं और मवेशियों के लिए भी रख लें और रास्ते में या घर के आस पास कोई ऐसा पशु या मवेशी दिखे तो उसे खिलाएं । हमारी टीम नगर निगम से अपील कर रही है कि इन्हें कही सुरक्षित स्थान पर एकत्र कर इनके भी भोजन आहार का बंदोबस्त करे।
हम भोपाल के रहवासियों से अपील कर रहे हैं कि अभी गंभीरता को देखते हुए घर से न निकला जाए यही बेहतर होगा । यदि कोई आवश्यक कार्य है तो जिला प्रशासन पुलिस प्रशासन के निर्देशों का पुनः रूप से पालन करें जो हमारे देश और शहर के हित में हो।

अबरार अहमद खान/मुकीज़ खान, भोपाल (मप्र), NIT:

दूसरी ओर हमें गंभीर बीमारी से बचाने के लिए दिन रात अपने परिवार से दूर रह कर सुरक्षा प्रदान करने वाले पुलिस कर्मियों के भी चाय नाश्ते ध्यान रखना चाहिए । जो 24 घंटे यह हमें सुरक्षित रखने के लिए अपने परिवार से दूर हैं। तो हमारी मानवता और फ़र्ज़ है कि हम भी अपना फ़र्ज़ पूरा करें।
दूसरी ओर जमीअत उलमा मध्य प्रदेश के उलमाओं ने मुस्लिम समाज से अपील की है कि शुक्रवार को नमाज़ में भीड़ न बढ़ाए इमाम मोज़िन और जो हज़रात मस्जिद में अपनी ख़िदमत अंजाम देते हैं वो हराज़त मस्जिद में जुमे की नमाज़ पढ़ें बाक़ी मुस्लिम समाज के लोग अपने अपने घरों में ज़ोहर की नमाज़ पढ लें और खूब दुआ करें कि अल्लाह हमें हमारे मुल्क़ को जल्दी से जल्दी इस बीमारी निजात आता फ़रमाए इमाम हज़रात भी मस्जिदे बंद न करें 5 वक़्त अज़ान दें और मस्जिदों के इमाम मोज़िन ख़ादिम 5 वक़्त ब जमात नमाज़ अदा करें और तमाम मस्जिदों में एलान करें कि अवाम अपने अपने घरों में नमाज़ पढ़े । और दुआ करें और इस मुसीबत की घड़ी में सब क़दम मिला कर चलें हमारा मुकबला एक ऐसी बीमारी से है जिस में जरा सी लपरवाही हमें मुसीबत में डाल सकती है उलमा हराज़त की अपील पर अमल करें।

Leave a Reply