ज़िंदगी का बचाना हर मज़हब में वाजिब है: सैय्यद शहंशाह हैदर आब्दी

देश, राज्य, समाज, स्वास्थ्य

अरशद आब्दी, ब्यूरो चीफ, झांसी (यूपी), NIT:

इज़्म शिया मुस्लिम वेलफेयर सोसायटी झांसी की अहम बैठक मौलाना सैयद शाने हैदर ज़ैदी साहब ईमामे जुमा व जमाअत झांसी की सदारत में हुई जिसकी निज़ामत करते हुऐ सैयद शहंशाह हैदर आब्दी ने कहा,” इस्लाम ने मुल्क से मोहब्बत को आधे ईमान का दर्जा दिया है। मुल्क के निज़ाम के साथ चलना हम पर फर्ज़ है। इस क़ुदरती मुश्किल के वक़्त में हम सरकारी योजनाओं को मानते हुऐ, उसे आम जनता को मनाने के लिये भी एक कारसेवक की भूमिका अदा करेंगे। प्रशासन को कारसेवक के तौर पर हम हर तरह से सहयोग करने को तैयार हैं।

अध्यक्षीय तक़रीर में मौलाना सैयद शाने हैदर ज़ैदी ने कहा,”हम सरकारी अहकाम को मानते हुऐ जुमा की नमाज़ और पंचवक़्ता जमाअत की नमाज़ों और ऐसे सभी कार्यक्रमों जिसमें भीड़ इकट्ठा होती है, को अगली ख़बर तक मुल्तवी करते हैं और सभी से घरों में रहने, नमाज़ पढ़ने और दुआओं के ज़रिये ख़ुदा से दुनिया में सभी की हर मुश्किल आसान करने और आपसी भाईचारा और मोहब्बत बढ़ाने की अपील करते हैं। हर हाल में इंसानी ज़िंदगी बचाना हर मज़हब में वाजिब है।आप लोग जुमा की जगह ज़ोहर की नमाज़ अदा करें। प्रशासन भी हमारी जहां ज़रुरत समझे, इस्तेमाल कर सकता है।”

शिया मुस्लिम समुदाय ने देश, दुनिया और समाज की हिफाज़त के लिये हर काम करने का संकल्प लिया।

आभार डाॅ शुजाअत जाफरी ने ज्ञापित किया।

इस अवसर पर शिया मुस्लीम समुदाय के सभी प्रमुख शख़सियतें मौजूद रहीं।

Leave a Reply