जब दूल्हा पहुंचा दुल्हनिया लेने: बिना अनुमति बारात लाना पड़ गया मंहगा

देश, राज्य, समाज, स्वास्थ्य

अशफाक कायमखानी, जयपुर (राजस्थान), NIT:

एक ओर तो पूरे देशभर में कोरोना वायरस से बचाव के लिए लॉक डाउन है तो वहीं दूसरी ओर लोग लॉक डाउन की धज्जियां उडा रहे हैं। यह उनके लिए, उनके परिवार के लिए, समाज के लिए और पूरे देश के लिए नुकसानदायी है। प्रदेश भर में लॉकडाउन के साथ धारा 144 लागू है। इस बीच एक मामला प्रदेश के श्रीगंगानगर से सामने आया है जहां पर बिना अनुमति दूल्हे को बारात लाना महंगा पड़ गया।

पकड़े गए तो छुपाया मुंह

श्रीगंगानगर के लालगढ़ गांव में एक दूल्हा अपनी दुल्हन लेने बारात लेकर पहुंच गया जबकि पूरे प्रदेश में लॉक डाउन है और साथ ही धारा 144 लागू है, इसके बावजूद बिना अनुमति के दूल्हा बारात लेकर पहुंच गया। जब पुलिस को इस बात का पता चला तो दूल्हे को पकड़ लिया, जब दूल्हे को पकडा तो दूल्हे ने शर्म के मारे अपना मुंह छुपा लिया। पुलिस ने दूल्हे और बारातियों को गाड़ी से नीचे उतारा और पूछताछ की जिसमें करीब 10-11 लाेग सवार थे। दूल्हे ने शादी की परमिशन एसडीएम से लिए जाने की बात कही लेकिन काेई दस्तावेज नहीं दिखा पाया।

पुलिस ने दूल्हे को थमाया एक पर्चा
पुलिस ने दूल्हे को एक पर्चा थमा दिया जिसमें लिखा था मैं समाज का दुश्मन हूं, किसी के कहने पर घर नहीं बैठूंगा। मैं खुद मरूंगा और सबकाे भी मरूंगा। गौरतलब है कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार रात 8 बजे राष्ट्र को संबोधित किया था। उन्होंने पूरे देशभर में 21 दिन के लिए लॉक डाउन करने की घोषणा की है। वहीं प्रदेश के मुखिया अशोक गहलोत ने भी राजस्थान में लॉकडाउन और धारा 144 लागू कर रखी है इसके बावजूद लोग अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। वे घरों में नहीं बैठ रहे हैं जबकि सरकार और प्रशासन केवल उनके लिए ये सब कर रहे हैं। प्रदेशभर में कोरोना की रोकथाम के लिए ये कदम उठाये जा रहे हैं।

Leave a Reply