चुनावी रंजिश के चलते अपहरण कर हत्या, अभियुक्त के पिता, चाचा सहित सात लोगों को किया गया नामजद

अपराध, देश, राज्य

वी.के.त्रिवेदी, ब्यूरो चीफ, लखीमपुर-खीरी (यूपी), NIT:

मोहम्मदी कोतवाली अन्तर्गत ग्राम बेला तुरसिया में कथित चुनावी रंजिश को लेकर गांव के एक व्यक्ति की रात में अपहरण कर गला रेतकर हत्या कर दी गयी। मृतक व्यक्ति के भाई ने रात में ही पुलिस को उसके अपहरण की सूचना दी थी। मृतक का शव गांव के दक्षिण पश्चिम एक गेहूं के खेत मे पड़ा पाया गया। मौके पर ही वो चाकू भी पड़ा पाया गया जिससे हत्या की गयी। मृतक के भाई राजेश कुमार के द्वारा गांव के ही एक व्यक्ति व उसके पिता, चाचा आदि सात लोगों को नामजद करते हुए तहरीर दी है।

कोतवाली अन्तर्गत ग्राम बेला तुरसिया निवासी राजेश कुमार पुत्र बिहारी लाल ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि कल शाम को खाना खाने के बाद उसका बड़ा भाई सोनपाल (45) गांव के पश्चिम हथेला तुरकहटा जाने वाले मार्ग पर स्थित चौराहे पर गयाराम के साथ बैठा था, तभी एक फोन आया जिसे सुनने के बाद सोनपाल ने गयाराम से कहा कि तुम जाओ कल्लू का फोन आया है हम उसके यहां जा रहे हैं। इसके बाद उसका कोई पता नहीं लगा। देर होने पर हम लोग कल्लू उर्फ मोहम्मद अहमद पुत्र रफीउल्ला जो प्रधान मसरूर के भाई है के यहां पता करने भी गये थे लेकिन वहां से कोई जानकारी नहीं मिली तो हमने पुलिस को भी अपने भाई के अपहरण की सूचना दी थी। रात भर हम लोग तलाश करते रहे किन्तु सोनपाल नहीं मिला। आज प्रातः पुलिस कल्लू को पकड़ कर ले गयी तो उसने उसके भाई सोनपाल की हत्या करना बताया तथा शव गांव के पश्चिम-दक्षिण मम्मा के गेहूं के खेत मे पड़ी होने की जानकारी दी। सोनपाल की हत्या हो जाने की जानकारी जैसे ही परिवार वालों को हुई तो उसके घर में कोहराम सा मच गया। आनन-फानन कोतवाल संजय त्यागी भारी दल-बल के साथ मौके पर जा पहुंचे तथा शव को कब्जे में लेकर पंचनामा कर उसे वहीं से लखीमपुर भिजवा दिया। पुलिस को घटना स्थल पर ही हत्या में प्रयोग किया गया चाकू बरामद हुआ।
राजेश ने बताया कि कल्लू व उनके परिवार वालों से पिछले पंचायत चुनाव में वोट न देने के कारण रंजिश थी। उसी रंजिश के चलते ये हत्या की गयी है। मृतक अपने पीछे एक विवाहित पुत्री सहित छः बच्चे व पत्नी छोड़ गया है। मृतक पांच भाई थे जिसमें एक की कुछ वर्ष पूर्व बीमारी से मौत हो गयी थी। पुलिस ने फौरी कार्यवाही करते हुए मुख्य अभियुक्त कल्लू के बजाए उसके चाचा प्रधान मसरूर के घर में तोड़-फोड़ की तथा उनका ट्रैक्टर भी खिचवा ले गयी। घटना की सूचना पाते ही उप पुलिस अधीक्षक प्रदीप कुमार यादव भी मौके पर पहुंच गये और घटना स्थल का जायजा लेकर मृतक के परिवार जनों के बयान भी लिये तथा कथित अभियुक्त व उसके परिवार वाले गांव को छोड़ फरार हो गए हैं।

Leave a Reply