जिला पुरातत्व समिति की बैठक: ब्रिटिश कालीन रेल कोच बुरहानपुर में स्थापित होगा, तेंदुए के भ्रमण के संबंध में कलेक्टर ने दिये आवश्यक निर्देश

देश, राज्य

मेहलक़ा अंसारी, बुरहानपुर (मप्र), NIT:

जिले में ऐतिहासिक धरोहरों को संरक्षण करने तथा पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से गुरुवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला पुरातत्व समिति की बैठक कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री राजेश कुमार कौल की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में अपर कलेक्टर श्री रोमानुस टोप्पो सहित संबंधित विभागों के अधिकारीगण तथा जिला पुरातत्व समिति के सदस्यगण उपस्थित रहे।
जिले के पर्यटन स्थलों का सोशल मीडिया पर प्रचार-प्रसार करने हेतु शार्ट फिल्म का निर्माण हेतु समिति सदस्यगणों से फिल्म शीर्षक को लेकर चर्चा की गई। वहीं गीत के संबंध में भी बात की गई, जो बुरहानपुर की गाथा सुनाता हो। शीर्षक में बुरहानपुर दर्शन, दक्षिण का प्रवेश द्वार जैसे सुझाव प्राप्त हुए है।
संपूर्ण जिले में स्थित परकोटे पर उगी घास को लेकर नगर निगम को निर्देश दिये कि टेण्डर आमंत्रित कर संबंधित ऐजेन्सी से घास हटवाना सुनिश्चित करें। पर्यटन स्थलों के पहुंच मार्ग एवं सौंदर्यीकरण को लेकर चर्चा कर कलेक्टर द्वारा निर्देश दिये गये। भुसावल रेल्वे मंडल द्वारा प्रदाय किया जा रहा ब्रिटिश कालीन रेल कोच को रेल्वे स्टेशन के समीप व्यवस्था कर स्थापित करने के निर्देश दिये गये।
बैठक में कलेक्टर द्वारा राज्य पुरातत्व विभाग द्वारा ऐसे पर्यटन स्थल जो अतिक्रमण ग्रस्त है उनकी सूची शीघ्रता से उपलब्ध करवायें, ताकि आगे की कार्यवाही की जा सकें। अकबरी सराय में अनुपयोगी एवं बेकार पडी सामग्री की एक सप्ताह में नीलामी करने के निर्देश नगर निगम को दिये गये। बैठक में पर्यटन स्थलों पर तेन्दुओं के भ्रमण की खबर को लेकर कलेक्टर द्वारा निर्देशित किया गया है कि पर्यटकों को अकेले भ्रमण पर ना जाने दे। उन्हें 20-25 लोगों के समूह के साथ घूमने हेतु अनुरोध किया जाये। असीरगढ़ में ट्रेकिंग टूरिज्म एवं मत्स्य पालन पर भी बैठक में विचार किया गया।

Leave a Reply