शासकीय कन्या उ.मा. विद्यालय खवासा में विदाई समारोह आयोजित

देश, राज्य, शिक्षा, समाज

रहीम शेरानी, ब्यूरो चीफ, झाबुआ (मप्र), NIT:

जीवन में यदि सफलता प्राप्त करना हो तो कठोर परिश्रम ही श्रेष्ठ विकल्प है, इसके लिये कोई शार्ट कट नहीं होता है, उक्त बातें बच्चों को परीक्षा के लिये प्रेरित करते हुए मुख्य अतिथि प्रभारी तहसीलदार ललिता गडरिया ने कही। आपने बच्चों से कहा कि परीक्षा हमेशा अपना आकलन करवाती है इसलिये हमें आगे भी अपनी रुचि के अनुसार विषय का चयन कर हमेशा सफलता के प्रयास करते रहना चाहिये।
इस अवसर पर उन्होंने हम होंगे कामयाब गीत गाते हुए बच्चों को परीक्षा में सफलता के लिये शुभकामनाएं दीं।
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में आये राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग के प्रदेशाध्यक्ष पवन नाहर ने बच्चों को प्रेरणादायक उद्बोधन देते हुए कहा कि हमें हमेशा सफल होने के प्रयास करना चाहिये, परिश्रम से ही नरेन्द्र मोदी जी देश के प्रधानमंत्री बन गए हैं। उन्होंने चंद्रयान-2 व मशहूर कवि हरिवंशराय बच्चन की कविता कोशिश करने वालों की हार नहीं होती का जिक्र करते हुए कहा कि असफलता एक चुनौती है इसे स्वीकार करके अपनी खामियों को दूर करके पूरी लगन से लक्ष्य हासिल करने में लग जाना चाहिये। कार्यक्रम की शुरुआत आतिथियों द्वारा माँ शारदा के चरण वन्दन दीप प्रज्वलन व पुष्प अर्पण कर हुई। संस्था प्राचार्य पी पी वर्मा, राजेश डामर, एम एल वर्मा, सकरिया सिंगाड आदि संस्था स्टॉफ द्वारा अतिथियों का स्वागत किया गया। इस अवसर पर संस्था के अध्यापक व राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग के संचालक अनिल शर्मा ने आयोग कि ओर से 11वी व 12वी की छात्राओं में प्रथम आने वाली बालिका को स्कॉलरशिप देने की घोषणा की।

विदाई समारोह आयोजित

वार्षिक परीक्षा प्रेरणा कार्यक्रम में परम्परा का निर्वहन करते हुए कक्षा 11वीं की छात्राओं ने मिलकर अपनी सीनियर कक्षा 12वीं की छात्राओं को बोर्ड परीक्षा की शुभकामनाएं देते हुए विदाई दी। इस अवसर पर संस्था स्टॉफ के माधुरी लोहार व मुकेश मालवीय को भी संस्था के पूरे स्टॉफ व बच्चों ने मिलकर भावभीनी विदाई दी। कर्यक्रम में बच्चों ने अनेक प्रस्तुतियां भी दी। अतिथियों के द्वारा खेल व सांस्कृतिक कार्यक्रम में आने वाले बच्चों को पुरुस्कार प्रदान किये गए। कार्यक्रम का संचालन संस्था के एम एल वर्मा ने व संस्था प्राचार्य पी पी वर्मा ने आभार माना।

Leave a Reply