मंत्री हर्ष यादव पर लगे स्वर्ण वर्ग विरोधी आरोप के बीच स्वर्ण जन प्रतिनिधि व नेता आये मंत्री जी के समर्थन में, बताया सभी आरोपों को निराधार

देश, राजनीति, राज्य

त्रिवेंद्र जाट, देवरी/सागर (मप्र), NIT:

देवरी के एक भाजपा पार्टी के सदस्य सुरेन्द्र मोहन शुक्ला के डम्पर पर लापरवाही को लेकर पुलिस द्वारा कार्यवाही की गई जिसको लेकर नाराज होकर शुक्ला द्वारा सागर के लोकल चैनल सागर एक्सप्रेस पर मंत्री हर्ष यादव के खिलाफ दिये बयान में कहा गया कि मंत्री स्वर्ण वर्ग ब्राम्हण, राजपूत, लोधी, विरोधी हैं। डम्परों पर हो रही कार्यवाही, शिक्षकों के ट्रान्सर्फर व राशन दुकानों पर लापरवाही को लेकर अधिकारियों द्वारा सख्त कार्यवाही को लेकर चैनल पर बयान में बताया कि मंत्री स्वर्ण वर्ग विरोधी है, क्षेत्र के स्वर्णों के साथ भेदभाव कर रहे हैं। इस बयान को लेकर देवरी क्षेत्र के स्वर्ण वर्ग से जन प्रतिनिध व काग्रेस पार्टी के नेता, पदाधिकारीगण मंत्री हर्ष यादव के समर्थन में आये, सभी ने बताया कि मंत्री पर लगाया जा रहा आरोप निराधार है। मंत्री हमेशा से स्वर्ण वर्ग को सम्मान देते हैं, हमेशा उनके द्वारा स्वर्ण वर्ग के नेताओं को सम्मान पूर्वक उच्च पदों पर नियुक्त किया गया है, कभी उनके द्वारा स्वर्ण वर्ग के साथ भेदभाव नहीं किया गया। देवरी क्षेत्र से देवरी नेहरू कालेज जनभागीदारी अध्यक्ष पंडित आशीष बाबा राजोरिया ने कहा कि मैं मंत्री हर्ष यादव जी के साथ करीब 20 साल से कांग्रेस की राजनीति कर रहा हू और कभी मुझे महसूस नही हुआ कि मंत्री हर्ष यादव ब्राह्मण विरोधी हैं, उनके द्वारा हमेशा सम्मान दिया गया। मंत्री जी ने पूर्व में मुझे ब्लाक अध्यक्ष, विधायक प्रतिनिधि व कई अन्य पदों पर नियुक्त किया गया और वर्तमान में काॅलेज देवरी में जनभागीदारी अध्यक्ष भी बनाया है जिसका मैं हमेशा मंत्री जी का एहसानमंद हमेशा रहूंगा।

राजोरिया जी ने बताया कि मंत्री जी द्वारा पूरे क्षेत्र में स्वर्ण वर्ग को उच्च पदों पर वैठाया गया है। पूरे क्षेत्र में मंत्री जी ने स्वर्णों के सम्मान में कभी भी कमी नहीं छोड़ी हमेशा सम्मान पूर्वक पद दिया। मैं भी ब्राह्मण समाज से हूं, मैं ब्रह्मण समाज का होकर गर्व से कहता हूं कि ब्रह्मण समाज कभी गलत कामों में सहयोग नहीं करती है, समाज विशेष की राजनीति करना ठीक नहीं है, मैं ब्राह्मण समाज का होकर भी मैं देवरी काॅलेज के जनभागीदारी अध्यक्ष पद पर हू। पंडित विजय गुरु जी, शिवराजसिंह राजपूत जी लगातार 10 वर्ष से देवरी- केसली से ब्लाक अध्यक्ष पद पर हर्ष यादव जी द्वारा नियुक्त किये गये है नरेन्द्र राजोरिया जी नन्ही देवरी, सुरेन्द्र सीग राजपूत जी मुआर, सतीश राजोरिया जी को ग्रामीण कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष, श्रीमती सीमारामदास पाठक जी को कांग्रेस में प्रदेश कार्य वाहक सदस्य व केसली महिला ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष बनाया। देवरी महिला ब्लाक काग्रेस अध्यक्ष पूनम प्रथम राजपूत जी को बनाया गया। पंडित विपिन चौबे जी को प्रदेश सचिव किसान कांग्रेस, संजय बृजपुरिया जी को नगर कांग्रेस अध्यक्ष व जिला उपाध्यक्ष, पंडित अरविन्द शांडिल जी को मनोनीत पार्षद, बित्ते जैन जी को गौरझामर ब्लाक अध्यक्ष कांग्रेस अध्यक्ष व नरेश जैन जी को केसली काॅलेज जनभागीदारी अध्यक्ष बनाया। ये सभी स्वर्ण वर्ग से हैं जो मंत्री हर्ष यादव जी द्वारा सभी को देवरी से उच्च पदों पर नियुक्त किया गया है। वहीं लोधी समाज से पवन लोधी सिलारपुर को कामगार कांग्रेस का जिला अध्यक्ष व वीरन्द्र लोधी जी को संभाग अध्यक्ष उपभोक्ता संरक्षक काग्रेस आदि ऐसे बहुत से सवर्ण वर्ग के लोगों को मंत्री हर्ष यादव जी ने बडे़ बडे़ उच्च पदों पर नियुक्त किया है। मंत्री जी की छवि क्षेत्र में अच्छी बनी हुई है जिसके कारण उनकी छवि धूमिल करने के लिये भाजपा द्वारा षणयंत्र किया जा रहा है और झूठे आरोप लगाकर बदनाम करने की साजिश की जा रही है। कांग्रेस से भी कुछ पंडित, राजपूत, जैन वर्ग के नेता जो टिकिट की मांग कर रहे थे उनको टिकिट न मिलने पर जोर तौऱ से उन नेताओं द्वारा मंत्री हर्ष यादव जी का विरोध किया ग़या मगर मंत्री जी ने सभी विरोधियों के विरोध को भी सरलता सहजता के साथ स्वीकार करते हुये जनता पर छोड़ दिया था जिसका परिणाम जनता ने जीत दिलाकर विरोधी नेताओं का वर्चस्व भी खत्म कर दिया। मंत्री जी के सरल स्वाभ व विकास कार्य ईमानदारी को देखकर जनता ने पुनः विधायक बनाकर देवरी में इतिहास रच दिया और मंत्री जी पहले नेता बन गये जो देवरी से प्रथम कैबिनेट मंत्री बने। विरोध करने वाले कांगेस के गद्दार दलबदलू फर्जी जिनका वजूद राजनीति में खत्म हो चुका है ऐसे वे नेता भी साजिश कर रहे हैं जो कांग्रेस पार्टी के गद्दार नेता हैं। सुरेन्द्र मोहन शुक्ला भाजपा के सदस्य भी हैं उनके डम्फर विना रायल्टी के चलाये जाते हैं और उनके गलत दो नंबर के फर्जी कामों पर पुलिस द्वारा पकड़कर कार्यवाही की जा रही है तो उसमें मंत्री हर्ष यादव जी का कोई लेना देना नहीं है। गलत काम खुद कर रहे हैं और फंसने पर समाज की सपोर्ट लेकर राजनीति कर रहे हैं जबकि कोई भी समाज कभी गलत कार्य मै सपोर्ट नहीं करती है। शिक्षा विभाग के जो ट्रान्सफर हुये हैं वह भी प्रभारी मंत्री के आदेशानुसार प्रशासनिक आधार पर ट्रान्सफर किये गये हैं वो किसी जाति धर्म के विरोध में व्यक्तिगत आधार पर नहीं किये गये न ही राशन दुकानों में मंत्री जी का कोई लेना देना है। जो राशन दुकान विक्रेताओं के काला बाजार व अनियमिता की जांच आधार पर पुष्टि पाई गई तब कार्यवाही की गई है और खाद्य अधिकारी द्वारा इन बिक्रेताओं को हटाकर नये विक्रेताओं को दुकान अटैच की गई है। वह सभी कार्यवाही खाद्य अधिकारी द्वारा की गई है। मंत्री जी पर लगाये सभी आरोप निराधार हैं। मंत्रीजी सभी वर्ग के समाज़ के नेताओं का सम्मान करते है ।मं त्री जी क्षेत्र बिकास की राजनीति करते है बिरोधाभास भेदभाव जाति विशेष का विरोध करने की राजनीति नहीं करते हैं। भाजपा को मंत्री के खिलाफ कोई बड़ा मुद्दा नहीं मिल पा रहा है तो इस तरह के झूठे आरोप लगा कर राजनीति करना ठीक नहीं है। जनता सब जानती है मंत्री जी सर्वाहारा वर्ग के नेता माने जाते हैं। सम्मानीय सागर के सागर एक्सप्रेस के पत्रकार जी कृपा करके क्षेत्र की पूरी रिपोर्ट लें व पूरी जानकारी की पुष्टि कर लें फिर न्यूज पर खबर चलायें, आपसे यही आशा है कि खबर में सच्चाई बतायें न ही झूठा आरोप लगाएं।

Leave a Reply