सीएए के समर्थन में भारत सुरक्षा मंच ने बिना अनुमति के निकाली रैली, सांसद नंदकुमार सिंह एवं पूर्व मंत्री सहित 300 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

देश, राजनीति, राज्य

मेहलक़ा अंसारी, बुरहानपुर (मप्र), NIT:

लगभग एक हफ्ते से भारत सुरक्षा मंच के माध्यम से सोशल मीडिया पर सीएए के समर्थन में रैली निकालने की घोषणा की गई थी और पूर्व निर्धारित कार्यक्रम एवं घोषणा के अनुरूप बुधवार 8 जनवरी 2020 को एक विशाल रैली स्टेडियम ग्राउंड बुरहानपुर से सीएए के समर्थन में निकली, जिसमें क्षेत्रीय सांसद नंदकुमार सिंह चौहान, पूर्व कैबिनेट मंत्री अर्चना चिटनिस दीदी, महापौर अनिल भोसले, भारत सुरक्षा मंच के संयोजक जगदीश वाढे सहित हजारों लोगों ने शिरकत की। चूंकि जिला प्रशासन ने धारा 144 लागू की है और रैली निकालने की विधिवत अनुमति भी प्रशासन द्वारा नहीं दी गई थी इसके बावजूद भी भाजपा के बड़े नेताओं के संरक्षण में रैली निकली और बिना अनुमति निकली और 4 किलोमीटर पैदल चलकर सीएए के समर्थन में ज्ञापन भी दिया गया।

इस बगैर अनुमति के निकाली गई रैली पर युवा कांग्रेस नेता नूरुद्दीन हमीदुद्दीन क़ाज़ी और शाह चमन वली सामाजिक संगठन बुरहानपुर के अध्यक्ष सैयद इसहाक अली ने अनेक लोगों के हस्ताक्षर के साथ अपनी आपत्ति पुलिस प्रशासन के समक्ष प्रस्तुत करते हुए बिना अनुमति के रैली निकालने वालों पर भारतीय विधान के अनुसार कार्यवाही करने की मांग की। जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय श्री रघुवंशी ने भी नहले पे दहला मारते हुए बगैर अनुमति रैली निकालने और माहौल बिगाड़ने वालों पर कार्यवाही करने की मांग को लेकर एक ज्ञापन भी दे दिया।

ज्ञापन देते समय हाजी इकराम अंसारी गब्बू सेठ, नफीस मंशा खान, इस्माइल अंसारी आलम सेठ, एडवोकेट उबेद शेख, दिनेश शर्मा, अब्दुल्लाह अंसारी, प्रिंस इकबाल मीर, एडवोकेट राजेश कोरा वाला, अजय उदासीन, अकील औलिया, कमलेश शाह, फहीम हाशमी, मुशर्रफ खान, एडवोकेट हनीफ उर्फ हन्नू आदि मौजूद थे। कांग्रेसी नेताओं द्वारा ली गई आपत्ति का नतीजा यह निकला कि बिना अनुमति रैली निकालने के मामले में भारत सुरक्षा मंच के संयोजक जगदीश वाढे, सांसद नंदकुमार सिंह चौहान, पूर्व कैबिनेट मंत्री अर्चना चिटनीस दीदी, पूर्व विधायक नेपानगर मंजू दादू, भाजपा जिलाध्यक्ष विजय गुप्ता, निगम अध्यक्ष मनोज तारवाला, पूर्व महापौर अतुल पटेल, फेडरेशन अध्यक्ष ज्ञानेश्वर पाटिल सहित 300 लोगों पर थाना सिटी कोतवाली बुरहानपुर में मामला दर्ज किया गया। इस प्रकार सीएए को लेकर भाजपा और कांग्रेस में सियासत का दौर चल रहा है।

Leave a Reply