उत्कृष्ट विद्यालय में दो दिवसीय वार्षिक उत्सव का हुआ शुभारंभ, विद्यार्थी परीक्षा के दबाव से तनाव में न रहें बल्कि अध्ययन के प्रति लगाव रखें: प्रशांत आर्य

देश, राज्य, शिक्षा, समाज

रहीम शेरानी हिंदुस्तानी, ब्यूरो चीफ, झाबुआ (मप्र), NIT:

उत्कर्ष विद्यालय मेघनगर के दो दिवसीय वार्षिक उत्सव का शुभारंभ मुख्य अतिथि प्रशांत आर्य के कर कमलों द्वारा संपन्न हुआ। अध्यक्षता खंड शिक्षा अधिकारी जीएस देव हरे ने की। विशेष अतिथि मंडल संयोजक दीपेश सोलंकी रहे।

मंचासीन अतिथियों में एनएसयूआई के रोशन बारिया, विधायक प्रतिनिधि अरुण ओहारी, शाहरुख खान, राजा मानसिंह, पूर्व जनपद सदस्य श्रीमती हेमलता भट्ट रहे। अतिथियों का स्वागत छात्र परिषद के अध्यक्ष विजय वसुनिया, प्राचार्य एन, एस, नायक, परामर्शदाता सतीश पाटीदार, नीलम भाबोर, जन शिक्षक कयूम खान, हेमेंद्र चौहान, व शिक्षिका गायत्री शर्मा, संजय सिसोदिया आदि ने किया।

छात्र पदाधिकारियों को अनुशासन व परिश्रम में अडिग रहने की शपथ अतिथियों ने दिलाई। शाला के प्राचार्य एन एस नायक ने शाला प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए अपने अल्प पदभार में किए गए विकास कार्यों को गिनाया व शाला की उपलब्धियां सहित कुछ शैक्षणिक समस्याओं को भी बताया। ओजस्वी कवि व संस्था केे अतिथि शिक्षक निसार पठान ने विद्यालय की प्रगति व कुछ समस्याओं को कविता के माध्यम से बताया जिसका सिद्ध समाधान मंच से ही सहायक आयुक्त आर्य ने आश्वासन दिया।

विशेष अतिथि उद्बोधन में मंडल के संयोजक श्री सोलंकी ने कहा कि उत्कृष्टता बनाए रखने में विद्यार्थियों को परिश्रम के साथ अनुशासन का भी पालन करना जरूरी है। अध्यक्ष उद्बोधन में बीईओ श्री देव हरे ने कहा कि विद्यार्थी जीवन कोमल मिट्टी के समान है इससे भविष्य निर्माण को मनचाहा आकार मिलता है, आपने पढ़ाई के साथ अन्य सहगतिविधियों में भी भागीदारी को व्यक्तित्व विकास हेतु अवश्यक बताया।

प्रेरणादाई मर्मस्पर्शी उद्बोधन में मुख्य अतिथि श्री आर्य ने कहा कि प्रतिभाओं को मंच वार्षिक उत्सव के माध्यम से मिलता है। विद्यार्थी अब पढ़ाई के प्रति भी गंभीर रहें। आपने कहा कि बोर्ड परीक्षा के प्रति दबाव व तनाव से परे रहकर विद्यार्थी की विषय के प्रति लगाव बनाएं, प्रतिस्पर्धा होना चाहिए किंतु प्रतिदनदिता कदापि नहीं। आप ने विद्यार्थियों के लिए प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाओं सहित आगामी परीक्षा के मद्देनजर विषयवार हेल्पलाइन की भी जानकारी दी। कार्यक्रम का संचालक शिक्षक दिनेश चौहान ने किया व आभार सहायक प्राचार्य सतीश पाटीदार ने माना।

Leave a Reply