ग्वालियर व्यापार मेला में बाल कलाकार अवार्ड- 2020 की हुई शुरुआत

देश, राज्य, समाज

संदीप शुक्ला, ब्यूरो चीफ, ग्वालियर (मप्र), NIT:

प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती, उसको प्रदर्शन के लिए किसी की मदद की दरकार भी नहीं होती, बस जरूरत तो सिर्फ प्रोत्साहन की होती है। ऐसा ही प्रयास किया सामाजिक संस्था ‘बेटी है तो कल है’ ने। इस संस्था ने ऐसी प्रतिभाओं को मौका देने के लिए व्यापार मेला में पांच दिवसीय बाल कलाकार अवार्ड-2020 का आयोजन किया है। इसका शुभारंभ मंगलवार सुबह कला मंदिर रंगमंच पर हुआ जिसमें सैकड़ों बच्चों ने मनमोहक प्रस्तुतियां दीं।

आरंभ में पूर्व महापौर श्रीमती समीक्षा गुप्ता, मेला संचालक व सांस्कृतिक कार्यक्रम संयोजक नवीन परांडे, पूर्व मेला उपाध्यक्ष अशोक प्रेमी, संजय धवन, डीसी तिवारी ने मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण व दीप प्रज्वलन किया। इस प्रतियोगिता की शुरुआत प्रेक्षा माहेश्वरी ने सरस्वती वंदना से की। इसके बाद नन्हीं बालिका वंशिका गोड़वानी ने गली-गली में फिरता है… की प्रस्तुति दी तो रंगमंच सभागार तालियों से गूंज गया। अनुष्का सोनी ने हवा-हवा आई…, कनक शर्मा ने दीवानी, मस्तानी…. की मनमोहक प्रस्तुतियां दीं। संजना लोधी ने ढोल बाजे, ढोल बाजे…., सोनाली शर्मा ने घूमर, परी पाल ने बाबुल मैं तेरे आंगन की चिड़िया…. की प्रस्तुति दी। नैतिक जाटव ने ममता के आंचल में चला पर अपनी प्रतिभा दिखाई। विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया।

प्रतियोगिता की निर्णायक शिखा सोनी व आशीष चौहान थे। सहयोगी के रूप में पूनम गिरी, बेताल केन, अंजुम बानो, रवि माझी, मंजू बघेल, अनुराधा परमार मौजूद थीं। संचालन ऋषभ शर्मा ने किया। आभार आयोजक संस्था की अध्यक्ष वंदना भूपेंद्र प्रेमी ने व्यक्त किया।

कल होगी एकल गायन प्रतियोगिता
बाल कलाकार अवार्ड-2020 में दूसरे दिन बुधवार को सुबह 10 बजे से मेला रंगमंच पर एकल गायन प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी।

मेला में कल होगा नाटकों का मंचन
ग्वालियर व्यापार मेला रंगमंच पर बुधवार को दो नाटकों का मंचन किया जाएगा। मेला संचालक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम संयोजक नवीन परांडे ने बताया कि बुधवार शाम 7 बजे से कला मंदिर रंगमंच पर अद्भुत कला एवं विज्ञान मंच द्वारा वीर बुंदेला हरदौल और बुंदेलखंड नाट्यकला समिति झांसी द्वारा साधु व सुंदरी नाटक का मंचन किया जाएगा।

Leave a Reply